• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

राजस्थान : 4 साल के अनिल ने 90 फीट गहरे बोरवेल में जीती जंग, देसी जुगाड़ से 16 घंटे बाद निकाला बाहर

|
Google Oneindia News

जालोर, 7 मई। राजस्थान में चार साल के बच्चे अनिल ने मौत से जंग जीत ली है। अनिल बीते 16 घंटे से 90 फीट गहरे बोरवेल में फंसा हुआ था। गुरुवार सुबह दस बजे बोरवेल में गिरे अनिल की सुरक्षित वापसी से पूरे गांव में खुशी की लहर है।

जालोर के लाछड़ी गांव के बोरवेल की घटना

जालोर के लाछड़ी गांव के बोरवेल की घटना

दरअसल, राजस्थान के जालोर जिले के सांचौर उपखंड के गांव लाछड़ी में नगाराम देवासी के खेत में खोदे गए बोरवेल में गुरुवार सवेरे करीब 10 बजे उसका चार साल का बेटा अनिल गिर गया था। वह खेलते खेलते बोरवेल की तरफ चला गया था। बोरवेल तगारी से ढका हुआ था, जिसे हटाने पर वह बोरवेल में गिर गया।

 पहले स्थानीय स्तर पर प्रयास

पहले स्थानीय स्तर पर प्रयास

पहले तो नगाराम के परिजनों ने अपने स्तर पर अनिल को निकालने का प्रयास किया। फिर सफलता नहीं मिलने पर प्रशासन को सूचना दी। सूचना पाकर पुलिस, प्रशासन व एसडीआरएफ टीम मौके पर पहुंची।

एसडीआरएफ की तीन टीम जुटी थीं

एसडीआरएफ की तीन टीमों ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। बोरवेल में रस्सी डालकर बच्चे को पानी व बिस्किट पहुंचाए और कैमरा भी डालकर देखा, जिसमें बच्चा सुरक्षित दिखाई दे रहा था। वह लगातार रोए जा रहा था।

 शाम होने के साथ ही बढ़ी चिंता

शाम होने के साथ ही बढ़ी चिंता

जैसे जैसे सांझ ढल रही थी वैसे वैसे बोरवेल में फंसे मासूम बच्चे को लेकर हर किसी की चिंता बढ़ती जा रही थी। साथ ही उसके बचने की उम्मीदें भी टूटती जा रही थी। खुद जालोर जिला कलेक्टर नम्रता वर्षिनी व पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह रात को मौके पर मौजूद रहे।

भीनमाल से माधाराम को बुलाया

भीनमाल से माधाराम को बुलाया

एसडीआरएफ की टीम और स्थानीय लोगों को सफलता नहीं मिली तो भीनमाल के मेडा निवासी को माधाराम सुथार को मौके पर बुलाया। माधाराम ने देसी जुगाड़ तैयार किया। उसने पतले-पतले तीन पाइप को खास तरह से जोड़ा।

 माधाराम को 25 मिनट में सफलता

माधाराम को 25 मिनट में सफलता

माधाराम ने अपनी देसी जुगाड़ से रात करीब 1 बजकर 55 मिनट पर रेस्क्यू शुरू किया। करीब 25 मिनट बाद बच्चे को उसी जगाड़ के जरिए सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। शुरुआत में बच्चा फीट ऊपर आने के बाद वापस नीचे गिर गया था।

बच्चे की स्थिति सामान्य

बच्चे की स्थिति सामान्य

हड़ेसर सरपंच दिनेशसिंह राजपुरोहित ने बताया कि बोरवेल का काम करने वाले माधाराम की मदद से बच्चे को सुरक्षित बाहर निकालकर सांचौर के मेहता अस्पताल में भर्ती करवाया है। बच्चे की स्थिति सामान्य है।

ये अधिकारी भी थे मौजूद

ये अधिकारी भी थे मौजूद

बोरवेल से बच्चे को निकालने के लिए चलाए गए रेस्क्यू ऑपरेशन के दौर साचौर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दशरथ सिंह, डीएसपी वीरेंद्र सिंह, थानाधिकारी प्रवीण कुमार, तहसीलदार देशलाराम परिहार, ब्लॉक सीएमओ डॉ. ओपी सुथार, डॉ. दीपाराम चौधरी आदि भी मौजूद थे। इनके अलावा भाजपा नेता दानाराम चौधरी, सीए सत्येंद्र बिश्नोई , हाडेतर सरपंच दिनेश सिंह राजपुरोहित ने भी टीमों का हौसला बढ़ाया।

    Rajasthan Child Rescue From Borewell: 14 घंटे बाद चार साल के मासूम को जिंदा निकाला | वनइंडिया हिंदी
     पद्मश्री से सम्मानित करवाने की मांग

    पद्मश्री से सम्मानित करवाने की मांग

    गहरे बोरवेल में गिरे बच्चे अनिल को देसी जुगाड़ से निकालने वाले माधाराम सुथार को भारत सरकार की ओर से पद्मश्री से सम्मानित करवाने के लिए जालोर सोशल मीडिया पर मुहिम चल रही है। लोग राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई व सांसद देवजी पटेल से मांग कर रहे हैं कि वे भारत सरकार से इसके लिए अनुशंसा करें।

    English summary
    Child rescued after 16 hours from 90 feet deep borewell in Lachhadi Jalore Rajasthan
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X