• search
रायपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

टूलकिट विवाद में पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह से पूछताछ के लिए उनके आवास पर पहुंची पुलिस

|
Google Oneindia News

रायपुर। टूलकिट विवाद में सोमवार को छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह से पूछताछ करने के लिए पुलिस उनके आवास पर पहुंची। सिविल लाइन थाना पुलिस सीएसपी नसर सिद्दीकी के नेतृत्व में दोपहर के करीब साढ़े 12 बजे पहुंची। बता दें कि डॉक्टर रमन सिंह के साथ भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ राजधानी रायपुर के सिविल लाइन थाने में पिछले दिनों टूलकिट मामले में एफआईआर दर्ज कराई गई थी। पुलिस ने डॉ. रमन सिंह को नोटिस जारी करते हुए 24 मई की दोपहर साढ़े 12 बजे अपने निवास स्थान पर मौजूद रहने को कहा था।

toolkit controversy police reached doctor raman singh house for inquiry

टूलिकट मामले में एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने मामला दर्ज करवाया था, जिसके सिलसिले में पुलिस पूछताछ कर रही है। मामले की जानकारी देते हुए सिविल लाइन पुलिस थाना प्रभारी आरके मिश्रा ने बताया कि नोटिस में चार बिंदुओं पर पूर्व सीएम रमन सिंह से पुलिस पूछताछ करेगी। एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने लिखित शिकायत में एआईसीसीअनुसंधान विभाग के लेटरहेड को जाली बनाने और उस पर झूठी और मनगढ़ंत सामाग्री इंटरनेट मीडिया पर साझा करने का आरोप डा.रमन सिंह और राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा पर लगाया था। वहीं पुलिस की पूछताछ को लेकर पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह ने कहा कि ये पूरा घटनाक्रम कांग्रेस के कार्यालय से संचालित होता है। हम इस मामले को लेकर न्यायालय जाएंगे

छत्तीसगढ़ पुलिस ने कथित फर्जी 'टूलकिट' मामले में बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को पूछताछ के लिए बुलाया था। पुलिस के नोटिस के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए रायपुर पुलिस के सामने बुधवार को पेश होंगे। सिविल लाइन्स पुलिस स्टेशन, रायपुर ने यह जानकारी दी है। बीते 18 मई को उस समय विवाद खड़ा हो गया था।

'हटाई जाए Manipulated Media टैग, टूलकिट पर फैसला जांच के बाद', केंद्र सरकार की ट्विटर को चेतावनी'हटाई जाए Manipulated Media टैग, टूलकिट पर फैसला जांच के बाद', केंद्र सरकार की ट्विटर को चेतावनी

जब भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पर कोरोना महामारी के दौरान देशवासियों में भ्रम फैलाने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को धूमिल करने का आरोप लगाते हुए कहा था कि इस संकट काल में विपक्षी दल की 'गिद्धों की राजनीति' उजागर हुई है। पात्रा ने आरोप लगाया था कि कोरोना के समय जब पूरा देश महामारी से लड़ रहा है तो कांग्रेस ने अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए भारत को पूरे विश्व में 'अपमानित और बदनाम' करने की कोशिश की है।

English summary
toolkit controversy police reached doctor raman singh house for inquiry
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X