• search
रायबरेली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कांग्रेस को झटका, बगावत का झंडा उठाने वाली अदिति सिंह और राकेश बने रहेंगे विधानसभा सदस्य

|

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को विधानसभा अध्यक्ष से आज बड़ा झटका लगा। कांग्रेस पार्टी में बगावत का झंडा उठाने वाली अदिति सिंह और राकेश सिंह की विधानसभा सदस्यता रद्द कराने का कांग्रेस का प्रयास बेकार चला गया। कांग्रेस की याचिका को विधानसभा अध्यक्ष ने खारिज कर दिया है। इसका नतीजा यह हुआ कि, कांग्रेस से निलंबित अदिति सिंह तथा राकेश सिंह विधायक बने रहेंगे। इस बारे में कांग्रेस विधानमंडल नेता आराधना मिश्रा ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष का यह फैसला सच से परे है, इसमें जो सबूत हमने पेश किए और जो नियम हैं उनकी अनदेखी की गई है। इस मामले को हम हाईकोर्ट में ले जाएंगे।

यूपी में कांग्रेस को बागी विधायकों से झटका

यूपी में कांग्रेस को बागी विधायकों से झटका

कांग्रेस चाहती थी कि, अदिति सिंह तथा राकेश सिंह की विधायकी छीन ली जाए, क्योंकि वे दोनों कांग्रेस के नेता होने के बावजूद पार्टी लाइन के खिलाफ बोलते रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस ने उन्हें त्याग दिया। साथ ही उनकी विधानसभा सदस्यता समाप्त करने को लेकर याचिका दायर की थी। जिसमें कांग्रेस ने विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित से मांग की कि, इन दोनों नेताओं की विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी जाए। मगर, विधानसभा अध्यक्ष ने सदस्यता रद करने संबंधी याचिका को खारिज कर दिया है।

कांग्रेस ने अपनी विधायक को क्यों बाहर किया?

कांग्रेस ने अपनी विधायक को क्यों बाहर किया?

अदिति सिंह कांग्रेस की वह विधायक हैं, जो वर्ष 2017 में रायबरेली सदर से चुनाव जीती थीं। वह रायबरेली के पूर्व विधायक अखिलेश सिंह की पुत्री भी हैं। बावजूद इसके वह कांग्रेस के ही खिलाफ आवाज बुलंद कर रही थीं। ऐसे में कांग्रेस के खिलाफ जाते देखकर कांग्रेस की आलाकमान ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया।

हार्दिक पटेल का राजनीतिक सफर: कैसे पाटीदार नेता बनकर सत्ताधारी दल की नींद उड़ाई, कांग्रेस ने क्यों बनाया गुजरात का कार्यकारी अध्यक्ष?

अदिति ने पार्टी के खिलाफ बयानबाजी की

अदिति ने पार्टी के खिलाफ बयानबाजी की

दरअसल, बीते वर्ष से कई ऐसे मौके आए जब अदिति ने पार्टी के रुख के खिलाफ बयानबाजी की। अदिति सिंह दो अक्टूबर गांधी जयंती के मौके पर चलाए गए विधानसभा के विशेष सत्र में गई थी, जबकि कांग्रेस ने इसका बहिष्कार किया था। हाल में राजस्थान से यूपी में बसों से लोगों को घरों तक पहुंचाने के मुद्दे पर भी अदिति ने कांग्रेस पर सवाल खड़े कर दिए थे। व्हिप का उल्लंघन भी किया था। उसी प्रकार विधायक राकेश सिंह पर भी पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप लगा।

ये दोनों ही रायबरेली से विधायक हैं

ये दोनों ही रायबरेली से विधायक हैं

अदिति सिंह और राकेश सिंह दोनो ही रायबरेली से कांग्रेस विधायक हैं। बहरहाल, कांग्रेस से बगावत किए जाने के बाद से लोग ये सोच रहे हैं कि अब अदिति आगे क्या करेंगी? कुछ जानकारों का मानना है कि वह भाजपा का दामन थामेंगी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
speaker of the UP Assembly decision-on MLA Aditi Singh and Rakesh Singh Vidhan Sabha Membership
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X