• search
पंजाब न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

चीन सीमा पर शहीद हुए फौजियों के परिजनों को 50 लाख देगी पंजाब सरकार, सरकारी नौकरी का भी ऐलान

|

चंडीगढ़। पंजाब सरकार ड्यूटी दौरान शहीद हुए सैनिकों के परिवारों को 50 लाख की आर्थिक सहायता देगी। साथ ही सरकारी नौकरी मुहैया कराने का भी ऐलान किया है। खुद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 4 सिक्ख लाईट इनफैंटरी यूनिट के सिपाहियों सतविन्दर सिंह और लखवीर सिंह के परिजनों के समक्ष यह घोषणा की। उन्होंने सोमवार को कहा कि, सतविन्दर सिंह और लखवीर सिंह के एक-एक पारिवारिक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी।

Punjab govt provides financial assistance of Rs 50 lakhs with govt jobs to martyred jawans

सरकार ने सतविन्दर सिंह और लखवीर सिंह के परिजनों को 50-50 लाख रुपए की एक्स ग्रेशिया देने का भी ऐलान किया। बता दें कि, ये दोनों सिपाही 22 जुलाई 2020 के दिन शहीद हो गए थे। इनकी शहादत चीन के साथ लगती एलएसी के नज़दीक गश्ती के दौरान हुई। जब वे बेहद ऊँचाई पर बने लकड़ी के पुल को पार कर रहे थे, फिसलकर नीचे गिर पड़े और एक-दूसरे को बचाते हुए दोनों पानी के तेज़ बहाव में बह गए थे।

Punjab govt provides financial assistance of Rs 50 lakhs with govt jobs to martyred jawans

3 दिन पहले भाई की शादी में नहीं गए, चीनियों को मुंहतोड़ जवाब देकर हुए शहीद

कुछ समय बाद पता चलने पर उन्हें ढूंढा जाने लगा तो लखवीर सिंह लाश मिली। हालांकि, सतविन्दर सिंह की लाश नहीं मिल सकी। जिसे लगातार खोजा जा रहा है। लखवीर सिंह मोगा की बाघापुराना तहसील के गाँव डेमरू खुर्द के निवासी थे। अब घर पर उनकी पत्नी नमदीप कौर रह गई हैं। वहीं, सतविन्दर सिंह बरनाला के गाँव कुतना के रहने वाले थे। उनके पीछे माता-पिता रह गए हैं।

पढ़ें: पाकिस्तानी जासूस निकला BSF जवान, भारत में करता था ड्रग्स और हथियार की सप्लाई

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Punjab govt provides financial assistance of Rs 50 lakhs with govt jobs to martyred jawans
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X