• search
पटना न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

आठ साल में चार बार घर से भागी प्रेमिका...नहीं मिली मंजिल तो पहुंच गई थाने, फिर ऐसे हुई शादी

|
Google Oneindia News

रोहतास, 24 जुलाई: बोर्ड एग्जाम के दौरान अभयकांत नाम के शख्स से छात्रा को प्यार हो गया। दोनों ने एक-दूसरे के साथ जीने-मरने की कसमें भी खाईं। अपने प्यार को पाने के लिए दरीहट के पडूहार गांव की रहने वाली प्रियंका आठ साल में घर से चार भागी भी। लेकिन मंजिल पर पहुंचकर उसे प्यार नहीं मिला तो वो डेहरी स्थित महिला थाने पहुंच गई। जिसके बाद महिला थानाध्यक्ष की देख-रेख में थाने में मंत्रोच्चारण की गूंज के बीच प्रेमी-प्रेमिका ने एक दूसरे को वरमाला पहनाई और फिर सात फेरे लिए।

ऐसे प्यार चढ़ा परवान

ऐसे प्यार चढ़ा परवान

दरअसल, पडूहार गांव की रहने वाली प्रियंका (21) टड़वां उत्क्रमित विद्घालय में पढ़ाई करती थी। प्रियंका की बोर्ड परीक्षाओं का सेंटर डालमियानगर के राम किशोर सिंह कॉलेज में पड़ा। टंडवा गांव निवासी अभयकांत (31) भी अपने दोस्त को उसी सेंटर पर एग्जाम दिलवाने के लिए जाता था। इसी बीच उसकी नजर प्रियंका पर पड़ गई और एक-दूसरे की तरफ आकर्षित हो गए। इस दौरान दोनों के बीच शारीरिक संबंध भी बन गया थे। लड़के और लड़की के घरवाले दोनों की शादी के लिए तैयार नहीं थे।

भागकर कटनी पहुंची प्रियंका

भागकर कटनी पहुंची प्रियंका

इस बीच अभयकांत चौधरी की नौकरी रेलवे में चतुर्थ वर्गीय के पद पर लग गई और उसकी पोस्टिंग मध्य प्रदेश के कटनी में हो गई। जिसके बाद अभयकांत कटनी में ही रहने लगा। इस बीच प्रियंका घर से भागकर कटनी पहुंच गई। प्रियंका ने पुलिस को बताया कि 30 जून को अभयकांत ने कटनी में ही अपने कमरे में सिंदूर देकर पत्नी के रूप में रखने लगे। जिसकी जानकारी अभयकांत के परिजनों को मिल गई तब अभय कांत के परिजनों ने हम दोनों को अलग कर दिया। इसके बाद 2 जुलाई को अभयकांत डेहरी पहुंचकर मुझे किराया पर रखने लगे, और मैं पढ़ाई करने लगी।

परिजनों के दबाव के चलते शादी करने के किया इनकार

परिजनों के दबाव के चलते शादी करने के किया इनकार

अभयकांत पुनः कटनी चले गए और फोन पर बताया कि माता-पिता व परिजनों के दबाव के आगे शादी नहीं कर सकते हैं। क्योंकि माता-पिता का कहना है कि रेलवे में तुम्हारी नौकरी होने के कारण दहेज में मोटी रकम के साथ अच्छी लड़की भी मिल जाएगी। प्रियंका की तहरीर पर महिला थानाध्यक्ष माधुरी कुमारी ने अभयकांत को फोन कर महिला थाना बुलाया। शुक्रवार की सुबह महिला थाना पहुंचने के बाद अभयकांत ने कहा कि वह खुद भी प्रियंका कुमारी से शादी करना चाहते हैं। इसके बाद महिला थानाध्यक्ष ने शादी कराने का निर्णय लिया।

ये भी पढ़ें:-Rakesh Sharma: बच्चपन में चली गई थीं दोनों आंखे, लोगों ने आश्रम में छोड़ने को कहा था, बने IASये भी पढ़ें:-Rakesh Sharma: बच्चपन में चली गई थीं दोनों आंखे, लोगों ने आश्रम में छोड़ने को कहा था, बने IAS

थाने में पुलिस करवाई शादी

थाने में पुलिस करवाई शादी

आनन-फानन में शादी के सामान जुटाया गया, पंडित जी को थाने बुलाया गया। महिला थानाध्यक्ष और सिपाहियों की मौजूदगी में प्रेमी-प्रेमिका शादी के बंधन में बंध गए। महिला थानाध्यक्ष माधुरी कुमारी ने बताया कि लड़की की शिकायत के बाद कार्रवाई में लड़का भी शादी के लिए तैयाार हो गया और शादी करा दी गई। लड़का और लड़की दोनों के पक्ष से दोनों के भाई शादी कार्यक्रम में शामिल हुए थे।

English summary
Lover and girlfriend married in women's police station
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X