• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Mayday, Mayday, Mayday: कराची में फ्लाइट क्रैश से पहले पायलट ने ATC को दिया डरावना मैसेज

|

कराची। जहां पूरी दुनिया कोरोना वायरस से जंग लड़ रही है तो पड़ोसी मुल्‍क पाकिस्‍तान इस समय एक बड़े विमान हादसे का भी गम झेल रहा है। शुक्रवार को पाकिस्‍तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) का विमान एयरबस 320 रिहायशी इलाके के करीब क्रैश हो गया। लाहौर से कराची आ रही फ्लाइट में करीब 100 लोग सवार थे। इस हादसे में अब तक 82 शव बरामद किए जा चुके हैं। फ्लाइट के पायलट का ऑडियो सामने आया है और यह काफी डराने वाला है। यह प्लेन उस समय क्रैश हुआ जब वह कराची के जिन्‍ना इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लैंडिंग की कोशिश कर रहा था।

    Pakistan Plane Crash : karachi विमान हादसे से पहले पायलट ने क्यों कहा MayDay,MayDay| वनइंडिया हिंदी

    यह भी पढ़ें- पाकिस्‍तान के कराची में अब तक मिली 82 लाशें

    और ATC का संपर्क टूट गया

    और ATC का संपर्क टूट गया

    फ्लाइट ट्रैकिंग वेबसाइट लाइवएटीसी.नेट की तरफ से पीआईए की क्रैश हुई फ्लाइट पीके 8303 का ऑडियो पोस्‍ट किया गया है। पायलट और एटीसी के बीच जो बातचीत हुई वह इस तरह से थी:

    पायलट: पीके 8303 अप्रोच

    एटीसी: जी सर

    पायलट: हमें बाएं मुड़ना है?

    एटीसी: कंफर्म्‍ड

    पायलट: हम सीधे आ रहे हैं, हमने दोनों इंजन खो दिए हैं।

    एटीसी: कंफर्म आप बेली लैंडिंग करने वाले हैं?

    पायलट: अनक्‍लीयर

    एटीसी: रनवे 2 5 लैंडिग के लिए मौजूद है।

    पायलट: रोजर

    पायलट: सर मेडे, मेडे, मेडे, पाकिस्‍तान 8303

    एटीसी: पाकिस्‍तान 8303, रोजर सर। दोनों रनवे लैंडिग के लिए खाली।

    एटीसी के मैसेज के बाद ही पायलट का संपर्क उससे टूट गया और प्‍लेन कुछ मिनटों बाद क्रैश हो गया।

    क्‍या होता है Mayday का मतलब

    इस ऑडियो में पायलट को कहते हुए सुना जा सकता है, 'मेडे, मेडे, मेडे।' मेडे एक इमरजेंसी प्रक्रिया होता है और रेडियो कम्‍यूनिकेशन में दुनियाभर के पायलट किसी आपातकालीन स्थिति में प्रयोग करते हैं। इस शब्‍द का प्रयोग उस समय किया जाता है जब किसी आपातकालीन स्थिति में पायलट या फिर मैरिनर्स की जिंदगी पर खतरा हो जाता है। लेकिन कुछ देशों में स्‍थानीय संगठन जैसे दमकल विभाग, पुलिस फोर्स और यातायात से जुड़े संगठन भी इसका प्रयोग करते हैं। तीन बार एक ही लाइन में 'मेडे, मेडे, मेडे' आपातकाली की घोषणा करने के लिए पायलट कहते हैं। तीन बार का नियम इसलिए है ताकि शोर-गुल के माहौल में इस शब्‍द को ठीक से सुना जा सके।

    मोबाइल टावर को टक्‍कर मारने के क्रैश

    मोबाइल टावर को टक्‍कर मारने के क्रैश

    पायलट ने इसके साथ ही एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (एटीसी) को जानकारी दी कि विमान के दोनों इंजन जा चुके हैं। एटीसी पायलट को लैंडिंग के लिए गाइड भी कर रहा है लेकिन ठीक कुछ सेकेंड्स बाद फ्लाइट क्रैश हो जाती है। क्रैश को देखने वाले प्रत्‍यक्षदर्शी शकील अहमद ने न्‍यूज एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि प्‍लेन ने पहले एक मोबाइल टावर को टक्‍कर मारी और फिर यह घरों पर क्रैश हो गया। जिस जगह पर प्‍लेन क्रैश हुआ वहां से एयरपोर्ट पर बस एक किलोमीटर की दूरी पर ही था। एयरपोर्ट के करीब मॉडल कॉलोनी इलाके में यह प्‍लेन क्रैश हुआ वहां पर काला धुंआ भर गया था।

    दो बार हुई थी लैडिग की कोशिशें

    दो बार हुई थी लैडिग की कोशिशें

    हादसे में जो दो लोग जिंदा बचे हैं उनमें बैंक ऑफ पंजाब के प्रेसीडेंट जफर मसूद और इंजीनियर मुहम्मद जुबैर शामिल हैं। सिंध प्रांतीय सरकार की तरफ से इस बात की पुष्टि की गई है। जुबैर ने बताया है कि कराची के घनी आबादी वाले इलाके में जैसे ही प्‍लेन क्रैश होने को था, उन्‍हें चारों तरफ आग नजर आ रही थी। जुबैर ने जियो न्‍यूज से बात करते हुए बताया कि पायलट वन लैंडिंग के लिए नीचे आया और कुछ सेकेंड्स के लिए टच डाउन भी किया। इसके बाद प्‍लेन ने फिर टेक ऑफ कर लिया। जुबैर इस समय कराची के सिटी हॉस्पिटल में भर्ती आ रहे हैं।

    काश! कीचड़ में करा लिया होता लैंड

    काश! कीचड़ में करा लिया होता लैंड

    उन्‍होंने अस्‍पताल के बिस्‍तर पर पड़े-पड़े चैनल को हादसे के बारे में जानकारी दी। जुबैर ने बताया कि 10 मिनट तक उड़ने के बाद पायलट ने पैसेंजर्स को बताया कि वह लैंडिंग का दूसरा प्रयास करने जा रहे हैं। इसी दूसरे प्रयास में जब प्‍लेन रनवे की तरफ बढ़ रहा था, तभी क्रैश हो गया। क्रैश को देखने वाले सफाईकर्मी मसीह ने डॉन अखबार को बताया है, 'मैं सफाई करने वाला हूं। मैं फ्लाइट की लैंडिंग का इंतजार कर रहा था। पैसेंजर्स के निकल जाने के बाद मैं उसकी सफाई कर देता। काश पायलट ने दोबारा टेकऑफ करने की जगह कीचड़ वाली जगह पर लैडिंग कराई होती।'

    कितने हुए घायल किसी को नहीं मालूम

    कितने हुए घायल किसी को नहीं मालूम

    सिंध की स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री अजरा पेशुहो ने मीडिया को बताया कि शुक्रवार देर रात तक 82 शवों को बरामद कर लिया गया था। अभी तक यह स्‍पष्‍ट नहीं हो सका है कि जो शव बरामद हुए हैं वे सभी फ्लाइट में सवार यात्रियों के हैं या फिर रिहायशी इलाके में रहने वाले उन नागरिकों के भी हैं जो इस हादसे की चपेट में आए हैं। उन्‍होंने कहा कि बैंक ऑफ पंजाब के प्रेसीडेंट जफर मसूद इस हादसे में बच गए हैं। हादसे के तुरंत बाद उन्‍होंने अपनी मां को फोन करके अपने जिंदा होने की जानकारी दी। घायलों के बारे में अभी तक कोई भी जानकारी नहीं है।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    PIA Airbus 320 crash: ‘Mayday, Mayday, Mayday’ pilot scary moments before plane crashed in Karachi, Pakistan.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X