• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Fact Check: Fake है Indian Army के कमांडोज को पाक आर्मी का बताने वाला यह वीडियो, आप भी देखिए

|

नई दिल्‍ली। इन दिनों पाकिस्‍तान में एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दो स्‍क्रीन में इंडियन आर्मी के पैरा-कमांडोज की तुलना पाकिस्‍तान के पैरा-कमांडोज से की जा रही है। दो अलग-अलग विंडो में पैरा-ट्रूपर्स नजर आ रहे हैं जो कि भारत और पाकिस्‍तान के हैं। पैराट्रूपर्स का एक ग्रुप बड़े ही गलत तरीके से एयरक्राफ्ट से कूदता है जबकि दूसरा यानी इंडियन आर्मी के पैरा-कंमाडोज हैरान कर देने वाली जंप करते हुए नजर आ रहे हैं। लेकिन पाकिस्‍तान के सोशल मीडिया पर अजब दावे करता हूआ वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में जो भारतीय कमांडोज जो काफी बहादुरी के साथ जंप कर रहे हैं, उन्‍हें पाकिस्‍तान का बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें-लद्दाख में गश्त के लिए प्रोटोकॉल पर विचार कर रहे भारत-चीन

53 सेकेंड का वीडियो

53 सेकेंड का वीडियो

53 सेकेंड के इस वीडियो का कैप्‍शन है, 'मेरी पाकिस्‍तान आर्मी को कोई नहीं हरा सकता मेरा अल्‍लाह पाकिस्‍तान और पाक आर्मी की हिफाजत करे।' दरअसल से इंडियन आर्मी के पैरा कमांडोज हैं। वहीं जो दूसरा वीडियो है जिसमें पैराट्रूपर्स जंप ही नहीं कर पा रहे हैं और जिस पर भारत का तिरंगा लगाकर, उसे इंडियन आर्मी का बताया जा रहा है, वह दरअसल अफ्रीका का है। कुछ ट्विटर हैंडल्‍स ऐसे हैं जिन्‍होंने पाकिस्‍तान की इस झूठ की पोल भी खोली है। इस पर पाकिस्‍तान और भारत के यूजर्स भी काफी बहस भी हुई है।

भारत के कमांडोज ने दिखाया था जज्‍बा

जो वीडियो पाकिस्‍तान में वायरल हो रहा है, वह इंडियन आर्मी का पूर्वी लद्दाख का वीडियो है। इस वीडियो में इंडियन एयरफोर्स के एयरक्राफ्ट सी-130 सुपर हरक्‍यूलिस से पैरा-कमांडोज कूद रहे हैं। बताया जा रहा है कि वीडियो 17 जुलाई का है जब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लद्दाख के दौरे पर गए थे। पैरा-कमांडोज की यह जंप सेना की एक एक्‍सरसाइज का हिस्‍सा थी और उस समय राजनाथ सिंह ने इसका जायजा भी लिया था। यह ड्रिल भारत और चीन के बीच जारी तनाव के बीच पूरी हुई थी। रक्षा मंत्रालय की तरफ से इसी तरह की एक फुटेज को आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर शेयर किया गया था।

सामने आया पाकिस्‍तान का झूठ

जो पोस्‍ट वायरल हो रही है उसमें पाकिस्‍तान में एकदम उल्‍टी ही कहानी बताई जा रही है। वेबसाइट एविएशननिस्‍ट के मुताबिक जिस वीडियो में पैराट्रूपर्स गलत तरीके से और डरे हुए अंदाज में कूद रहे हैं, वह साल 2019 में अफ्रीका का है। यहां पर फिंटलॉक 2019 अफ्रीकन मल्‍टीनेशनल ट्रेनिंग एक्‍सरसाइज जो साहेल क्षेत्र में आयोजित हुई थी, वहां पर यह वीडियो रिकॉर्ड किया गया था। यू-ट्यूब पर यह वीडियो 'अफ्रीकन जंप एरर्स एक्‍सरसाइज फिंटलॉलक 19, 2019' इस टाइटल के साथ मौजूद है।

जुलाई में हुई कमांडोज की तैनात

जुलाई में हुई कमांडोज की तैनात

पांच मई से भारत और चीन के बीच लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर टकराव जारी है। जुलाई के पहले हफ्ते में भारत ने लद्दाख में पैराट्रूपर्स को तैनात कर दिया था। इंडियन आर्मी की यह वही खास यूनिट है जिसने साल 2016 में उरी आतंकी हमले के बाद सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था। 15 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद आगरा और दूसरी जगहों से पैरा कमांडोज को लद्दाख भेजा गया था। ये कमांडोज लद्दाख की ऊंची पहाड़ी वाले इलाके जैसे गलवान घाटी, पैंगॉन्ग लेक और दौलत बेग ओल्डी में पैरा कमांडोज की तैनात हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Video showing paratroopers making an exit is not from Pakistan and its fake.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X