• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बस धमाके के बाद चीन को नहीं पाकिस्तान पर रत्तीभर भी विश्वास, खुद चीनी इंजीनियरों ने टांगी AK-47

|
Google Oneindia News

लाहौर, 22 जुलाई: पाकिस्तान को चीन अपना बड़ा भाई कहता है। चीन की छत्रछाया में आकर पाकिस्तान काफी चौड़ा भी होता है, लेकिन तस्वीरें कुछ और बयां कर रही हैं। दरअसल सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं, जो पाकिस्तान के लिए शुभ संकेत नहीं हैं। हाल ही में पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में बस में हुए बम विस्फोट में कई चीनी इंजीनियर मारे गए थे, जिसके बाद से ही चीन का रवैया अपने दोस्त को लेकर बिगड़ा हुआ है। इस हादसे के बाद पाकिस्तान में रहने वाले चीनी इंजीनियर डर के माहौल में जी रहे हैं। ऐसे में अपनी सुरक्षा के लिए उन्होंने खुद ही कंधे पर एके-47 राइफल टांग ली हैं।

    Pakistan में CPEC Project में लगे Chinese Engineer के हाथ में AK-47 क्यों? | वनइंडिया हिंदी
    चीनी कर्मचारी एके-47 राइफल से लैस

    चीनी कर्मचारी एके-47 राइफल से लैस

    पाकिस्तान में चीनी इंजीनियरों को ले जा रही एक बस पर हमले के कुछ दिनों बाद सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें सामने आई हैं, जिसमें चीनी वर्कर्स खुद प्रोजक्ट साइट पर अपना बचाव करने के लिए हथियारबंद दिखाई दे रहे हैं। तस्वीरें पाकिस्तान में चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) में काम करने वाले चीनी इंजीनियर्स की बताई जा रही हैं। चीनी कर्मचारी एके -47 राइफल से लैस हैं और मोर्चा संभाले नजर आ रहे हैं।

    बस धमाके में गई थी 9 चीनी लोगों की जान

    बस धमाके में गई थी 9 चीनी लोगों की जान

    दरअसल, पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में चीनी इंजीनियरों से भरी एक बस को हाल ही में निशाना बनाया गया था। जानकारी के मुताबिक इस धमाके से 13 लोगों की मौत हो गई थी, जिसमें चीन के 9 लोग शामिल थे। इस सनसनी फैला देने वाली वारदात के बाद पाकिस्तान और चीन के बीच कुछ सही नहीं चल रहा है। चीनी कर्मचारी पाकिस्तान में काम करते हुए डर के माहौल में जी रहे हैं। घटना 14 जुलाई की है। चीन ने इस घटना को आतंकी हमला बताया है तो पाकिस्ताने इसे तकनीकी खराबी के कारण हुआ विस्फोट करार दिया।

    चीन को नहीं पाक पर भरोसा

    चीन को नहीं पाक पर भरोसा

    बता दें कि यह घटना उस समय हुई जब बस चीनी इंजीनियरों को खैबर पख्तूनख्वा के ऊपरी कोहिस्तान में दसू बांध स्थल पर ले जा रही थी। मारे गए लोगों में 9 चीन के इंजीनियर थे। वहीं पाकिस्तान की सरकार ने चीन को विश्वास दिया था कि वो हर एंगल से जांच कराएगी और सच को सामने लाएंगी, लेकिन चीन की सरकार ने जांच के लिए जांचकर्ताओं की अपनी एक टीम भेजी है, जिससे साफ होता है कि पाकिस्तान सरकार की चीन को कतई भी भरोसा नहीं है।

    पाकिस्तान में अपने इंजीनियरों पर हमले को लेकर चीन सख्त, इमरान खान से कहा हमलावरों को सजा दीजिएपाकिस्तान में अपने इंजीनियरों पर हमले को लेकर चीन सख्त, इमरान खान से कहा हमलावरों को सजा दीजिए

    English summary
    Chinese engineers carrying AK-47 rifles in pakistan After bus blast photo viral।
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X