• search
नोएडा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

ग्रेटर नोएडा: अवैध रूप से बेच रहे थे पटाखे, पुलिस ने दो व्यक्तियों को पकड़ा

|

ग्रेटर नोएडा। वायू प्रदूषण की चिंताजनक स्थिति को देखते हुए नेशन ग्रीम ट्रिब्युनल (NGT) ने पटाखे जलाने व बेचने पर रोक लगाई है। हालांकि, अवैध रुप से पटाखे बेचने की खबर भी सामने आ रही है। बुलंदशहर के बाद ग्रेटर नोएडा के थाना सेक्टर 39 क्षेत्र की सदरपुर कॉलोनी में अवैध रूप से पटाखे बेच रहे एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

Two held for selling firecrackers in Greater Noida

थाना सेक्टर 39 के प्रभारी निरीक्षक आजाद सिंह तोमर ने बताया कि बीती रात गश्त पर निकले पुलिसकर्मियों को सूचना मिली कि छलेरा गांव में मूर्ति बेचने की आड़ में एक व्यक्ति अवैध रूप से पटाखे बेच रहा है। उन्होंने बताया कि घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने अवैध रूप से पटाखे बेच रहे कृष्ण कुमार को गिरफ्तार कर लिया। तोमर ने बताया कि उसके पास से चार बोरियों में भरकर रखे गए पटाखे बरामद किए गए हैं।

बरामद पटाखों की कीमत करीब एक लाख रुपए है। वहीं, थाना दादरी पुलिस ने अनिल सिंघल पुत्र हरिओम को गिरफ्तार कर उसके पास से चार डिब्बों में भर कर रखे गए अवैध पटाखे बरामद किए हैं। पूछताछ में पुलिस को पता चला कि वह नियमों का उल्लंघन कर अवैध रूप से पटाखा बेच रहा था। तो वहीं, बुलंदशहर के खुर्जा में अवैध रुप से पटाखे बेचने वाले छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

NGT ने यूपी के 14 जिलों में लगाया था प्रतिबंध

एनजीटी ने प्रदेश के जिन 14 शहरों की हवा को खराब बताया है, उसमें मुजफ्फरनगर, आगरा, वाराणसी, मेरठ, हापुड़, गाजियाबाद, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, बागपत, बुलंदशहर और प्रयागराज शामिल हैं। एनजीटी ने एनसीआर में पटाखे छोड़ने और पटाखों की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है।

ये भी पढ़ें:- बुलंदशहर: पटाखे बेच रहे दुकानदार को पुलिस ने पकड़ा, पिता को बचाने के लिए पुलिस की गाड़ी पर सिर पटकती रही मासूम

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Two held for selling firecrackers in Greater Noida
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X