• search
नोएडा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

रातोंरात बदले माहौल के बाद राकेश टिकैत से मिलने गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे RLD नेता जयंत चौधरी

|
Google Oneindia News

गाजीपुर। किसान आंदोलन 26 जनवरी के बाद ठंडा पड़ता दिख रहा था और पुलिस भी गाजीपुर बॉर्डर पर डटे किसानों को हटाने की तैयारी में थी। लेकिन राकेश टिकैत के रोने के बाद रातोंरात एक बार फिर माहौल बदल गया है। तो वहीं, शुक्रवार की सुबह राष्ट्रीय लोकदल (RLD) के नेता जयंत चौधरी गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे और यहां राकेश टिकैत से मुलाकात कर उन्हें अपना समर्थन दिया है। बता दें कि गुरुवार को रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने राकेश टिकैत का साथ देने की घोषणा की थी।

    Farmers Ghazipur Border: Rakesh Tikait से मिलने पहुंचे Jayant Chaudhary क्या बोले? | वनइंडिया हिंदी
    किसान नहीं चाहते यहां बैठना: जयंत चौधरी

    किसान नहीं चाहते यहां बैठना: जयंत चौधरी

    जयंत चौधरी ने कहा कि किसान नहीं चाहते है कि वो यहां बैठा रहे। किसान इस मुद्दे पर हल निकालने के लिए यहां आया है। जयंत चौधरी ने कहा कि मेरी रणनीति वहीं जो किसानों की इच्छा होगी, जो यहां बैठे किसना तय करेंगे। उन्होंने कहा कि विपक्ष की सभी पार्टी इस मुद्दे पर अपने-अपने तरीके से विरोध दर्ज कर रही है। कुछ संसद के अंदर कर रही है तो कुछ संसद के बाहर कर रही है। जयंत ने कहा कि सरकार को सोचना चाहिए कि उन्हें पांच साल का लाइसेंस मिला है हमेशा के लिए वोट नहीं मिली है। कहा कि मैं अब यहां से बड़ौत जाऊंगा, क्योंकि वहां भी किसानों पर बल प्रयोग हुआ है। बिजली पानी काटने के सवाल पर जयंत ने कहा कि आपको याद होगा कि तुगल रोड पर बिजली काटी गई थी। किसान बहुत कुछ झेलता है यह भी झेल लेगा।

    किसान वापस पहुंचने लगे प्रदर्शन स्थल

    किसान वापस पहुंचने लगे प्रदर्शन स्थल

    बता दें कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए पिछले काफी लम्बे समय से कृषि कानूनों के खिलाफ किसान दिल्ली बॉर्डर पर डटे हुए है और पीछे हटने के लिए तैयार नहीं है। लेकिन 26 जनवारी के बाद ये आंदोलन ठंड़ा पड़ता दिखा रहा था, लेकिन गुरुवार की रात यहां पर काफी कुछ देखने को मिला, प्रदर्शनकारियों को यहां से हटाने के लिए प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने गुरुवार की शाम को यहां से प्रदर्शनकारियो को संबोधित करते हुए कहा कि वह धरनास्थल को नहीं छोड़ेंगे। इस दौरान भावुक टिकैत रो पड़े और उनका रोने का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगा, जिसके बाद बड़ी संख्या में हरियाणा से किसान प्रदर्शन स्थल पर पहुंचने लगे।

    जबरन की हटाने की कोशिश तो करेंगे आत्महत्या: राकेश टिकैत

    जबरन की हटाने की कोशिश तो करेंगे आत्महत्या: राकेश टिकैत

    राकेश टिकैत ने कहा कि अगर प्रशासन ने उन्हें जबरन यहां से हटाने की कोशिश की तो वह आत्महत्या कर लेंगे। राकेश टिकैत की भावुक अपील के बाद प्रदर्शन स्थल पर किसानों की भीड़ बढ़ने लगी। आधी रात को चौधरी नरेश टिकैत ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि और प्रदर्शनकारी यहां जल्द पहुंचेंगे और अब आंदोलन जारी रहेगा। तो वहीं, रालोद अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत और प्रवक्ता राकेश टिकैत से बात की और कहा कि आज किसान के जीवन मरण का प्रश्न है। इस लड़ाई में सब को एक होकर लड़ना है, चिंता मत करो, मै साथ हूं। वहीं जयंत चौधरी ने भी भाकियू को विश्वास दिलाया है कि वह पूरी तरह उनके साथ हैं।

    ये भी पढ़ें:- यूपी से दिल्ली आने-जाने के लिए करें इन रास्तों का प्रयोग, घर से निकलने से पहले जरूर पढ़ें खबरये भी पढ़ें:- यूपी से दिल्ली आने-जाने के लिए करें इन रास्तों का प्रयोग, घर से निकलने से पहले जरूर पढ़ें खबर

    English summary
    RLD leader Jayant Chaudhary arrives at Ghazipur border to meet Rakesh Tikait
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X