• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

3 देशों के 8 पुलिस अफसरों ने बचाई भारतीय कर्नल की फैमिली, मालदीव के मो. नाजिम ने लगाई जान की बाजी

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 5 जून। वर्दी चाहे किसी भी रंग की हो। किसी भी देश की हो, मगर बात जब किसी की जिंदगी पर आ जाती है तो फिर यह ना सरहद देखती है और ना ही जाति-मजहब। यह जिंदगी बचाने के लिए खुद की जान जोखिम में डालने से भी नहीं चूकती है।

    3 देशों के 8 पुलिस अफसरों ने बचाई भारतीय कर्नल की फैमिली, मालदीव के मो. नाजिम ने लगाई जान की बाजी
    मालदीव के पुलिस अधिकारी मोहम्मद नाजिम ने दिखाई हिम्मत

    मालदीव के पुलिस अधिकारी मोहम्मद नाजिम ने दिखाई हिम्मत

    इस बात का उदाहरण तीन देशों के वो आठ पुलिस अफसर हैं, जिन्होंने पानी में डूब रहे इंडियन आर्मी के कर्नल रैंक के अधिकारी के परिवार को बचाने के लिए खुद की जिंदगी दांव पर लगा दी। इनमें मालदीव के पुलिस अधिकारी मोहम्मद नाजिम की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है।

    SVPNPA में ट्रेनिंग पर हैं ये पुलिस अधिकारी

    SVPNPA में ट्रेनिंग पर हैं ये पुलिस अधिकारी

    इन 8 अफसरों में भारतीय पुलिस सेवा के पांच, मालदीव पुलिस फोर्स के दो और भूटान पुलिस का एक अधिकारी शामिल है। ये सभी तेलंगाना के हैदराबाद स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल नेशनल पुलिस अकेडमी (​SVPNPA) में प्रशिक्षण पर हैं।

    ये हैं वो आठ अफसर

    ये हैं वो आठ अफसर

    दरअसल, हुआ यह था कि अकेडमी की तरफ से इन ट्रेनी पुलिस अधिकारियों को भारत दर्शन के तहत लक्षद्वीप ले जाया गया था। आईपीएस अभिनव धीमन, अभिनय विश्वकर्मा, भारत सोनी, गौहर हसन, सुवेंधु पात्रा, मालदीव पुलिस फोर्स मोहम्मद नाजिम व अहमद अब्दुल अज़ीज़ और भूटान पुलिस के टेसी लेहनदुप लक्षद्वीप के बंगाराम द्वीप पर थे।

    पानी की गहराई में सामने लगी दो जिंदगी

    पानी की गहराई में सामने लगी दो जिंदगी

    इसी दौरान लक्षद्वीप के बंगाराम द्वीप पर भारतीय सेना के कर्नल रैंक के एक अधिकारी का परिवार भी छुट्टी मनाने आया हुआ था। एसवीपीएनपीए के ट्रेनी पुलिस अफसर और कर्नल का परिवार समुद्र किनारे टहल रहा था। तभी अचानक कर्नल की पत्नी और बच्चा समुद्री लहरों के तेज बहाव की चपेट में आए। वे पानी में गहराई में समाने लगे।

    आईपीएस विजय सिंह गुर्जर ने लिखा-वर्दी बदल देती है व्यक्तित्व

    कर्नल की पत्नी और बच्चे को पानी में डूबते देख भारत, भूटान व मालदीव के इन आठ पुलिस अधिकारियों ने अपनी जान की परवाह किए बगैर बचाव कार्य में जुट गए और दोनों को सकुशल पानी से बाहर निकाल लिया। आईपीएस विजय सिंह गुर्जर इन अफसरों की बहादुरी का यह किस्सा अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर किया है। आईपीएस गुर्जर खुद भी इसी दौरान भारत दर्शन पर थे, मगर ये दूसरे ग्रुप थे।

    ​SVPNPA ने की अफसरों के काम की सराहना

    आठ ट्रेनी अफसरों की बहादुरी की यह कहानी 5 जून को SVPNPA ने अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर की है। SVPNPA ने इन पुलिस अधिकारियों की फोटो शेयर करते हुए इनके काम की सराहना की है।

    मालदीव पुलिस ने भी शेयर की स्टोरी

    उधर, इसी मामले में मालदीव पुलिस ने भी ट्विटर कर लिखा कि हमारे दो बहादुर पुलिस अफसर मुख्य निरीक्षक अहमद अब्दुल अज़ीज़ और मोहम्मद नाज़िम को बधाई। वर्तमान में SVPNPA में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। इन्होंनेलक्षदीप में पानी में डूब रहे 2 बच्चों सहित 4 लोगों को बचाया है।

     आईपीएस भारत सोनी ने बयां किया आंखों देखा हाल

    आईपीएस भारत सोनी ने बयां किया आंखों देखा हाल

    वन इंडिया हिंदी से बातचीत में आईपीएस भारत सोनी ने उस हादसे का आंखों देखा हाल बयां किया। आईपीएस सोनी ने बताया कि समुद्र किनारे हम सभी पुलिस अफसर एक्सरसाइज कर रहे थे। तभी समुद्र किनारे टहल रहे कर्नल की पत्नी व दो में से एक बेटा लहरों की चपेट में आकर समुद्र के अंदर चले गए।

    Ruma Devi : कभी पैसे के अभाव में बेटे को खोया, अब दूसरों की जान बचाने में रूमा देवी ने खर्च किए ₹ 2 करोड़Ruma Devi : कभी पैसे के अभाव में बेटे को खोया, अब दूसरों की जान बचाने में रूमा देवी ने खर्च किए ₹ 2 करोड़

     मालदीव पुलिस के मोहम्मद नाजिम ने लगाई छलांग

    मालदीव पुलिस के मोहम्मद नाजिम ने लगाई छलांग

    मूलरूप से राजस्थान के चूरू जिले के सुजानगढ़ कस्बे ​के रहने वाले आईपीएस भारत सोनी ने बताया कि कर्नल की पत्नी व बच्चे को पानी में डूबते देख हम सभी पुलिस अफसर सौ मीटर दूर मौके पर पहुंचे। हमसे मालदीव पुलिस फोर्स के मोहम्मद नाजिम सबसे बेहतरीन तैराक थे। उन्होंने बिना एक पल गवाएं गहरे समुद्र में छलांग लगा दी और फिर उनको पानी से बाहर ले आए। फिर हम अन्य पुलिस अफसरों ने उन्हें संभाला।

     अप्रैल की घटना जून में कैसे आई सामने

    अप्रैल की घटना जून में कैसे आई सामने

    बता दें कि ये सभी पुलिस अधिकारी अप्रैल-मई में भारत दर्शन पर गए थे। पानी में डूब रही पत्नी व बच्चे को बचाने के बाद कर्नल ने सभी आठों पुलिस अधिकारियों के नाम नोट किए थे। फिर उन्होंने आठों ट्रेनी पुलिस अधिकारियों पूरी घटना के बारे में SVPNPA को लिखा। ऐसे में यह घटना अब SVPNPA के ट्वीट के बाद सामने आई है।

     पड़ोसी देशों के अफसरों को भी भारत में मिलती है ट्रेनिंग

    पड़ोसी देशों के अफसरों को भी भारत में मिलती है ट्रेनिंग

    भारतीय पुलिस सेवा के काबिल अफसरों में एक गुजरात कैडर के आईपीएस विजय सिंह गुर्जर मूलरूप राजस्थान के झुंझुनूं जिले के नवलगढ़ के गांव देवीपुरा के रहने वाले हैं। वन इंडिया हिंदी से बा​तचीत में आईपीएस विजय सिंह गुर्जर बताते हैं कि SVPNPA में भारत के अलावा पड़ोसी देशों के भी पुलिस अधिकारियों को ट्रेनिंग मिलती है। इनमें नेपाल, मौरिसस, भूटान व मालदीव के पांच-पांच पुलिस अधिकारी शामिल होते हैं।

    पानी में योगा करने वालीं आईएएस नेहा शर्मा ने शेयर की IAS Swati Meena Naik की होटल वाली फेक स्टोरीपानी में योगा करने वालीं आईएएस नेहा शर्मा ने शेयर की IAS Swati Meena Naik की होटल वाली फेक स्टोरी

    English summary
    8 trainee police officers of svpnpa rescue Indian colonel's family in Lakshadweep
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X