• search
मुरैना न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

बिजली विभाग के आउटसोर्स कर्मचारी की मौत से गुस्साए ग्रामीणों ने बिजली विभाग की टीम को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

|
Google Oneindia News

मुरैना, 26 मई। मुरैना में आउटसोर्स कर्मचारी की मौत को लेकर गुस्साई भीड़ ने मौके पर पहुंची विद्युत विभाग की टीम को खेतों में दौड़ा-दौड़ा कर जमकर पीटा। खास बात यह रही कि जिस वक्त विद्युत विभाग की टीम के साथ मारपीट हो रही थी उस वक्त मौके पर पुलिस भी मौजूद थी, लेकिन पुलिस भी विद्युत विभाग की टीम को पिटने से नहीं बचा सकी।

hungama
दरअसल पाराशर की गढ़ी गॉव में पिछले 8 दिनों से लाइट नहीं थी। ग्रामीणों की शिकायत पर बिजली विभाग का आउटसोर्स कर्मचारी जयचंद सिंह विद्युत व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए पाराशर की गढ़ी में पहुंचा था। यहां जब जयचंद इलेक्ट्रिक पोल पर काम कर रहा था तो अचानक जयचंद को करंट लग गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।
घटना के बाद आक्रोशित हो गए ग्रामीण
जयचंद की मौत की जानकारी जैसे ही ग्रामीणों को लगी तो ग्रामीण आक्रोशित हो गए और ग्रामीणों ने आक्रोशित होकर मौके पर ही बिजली विभाग के अधिकारियों को बुलाने की मांग की। ग्रामीण मृतक जयचंद की बॉडी को भी इलेक्ट्रिक पोल से नीचे नहीं उतारने दे रहे थे।
मुरैना तिराहे पर जाकर कर दिया चक्का जाम
आक्रोशित ग्रामीणों ने मुरैना तिराहे पर जाकर चक्का जाम कर दिया और दोनों तरफ से आने जाने वाले वाहनों को रोक दिया। हंगामे की जानकारी जब पुलिस को मिली तो पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और ग्रामीणों को समझाइश देने लगी, लेकिन ग्रामीण बिजली विभाग के अधिकारियों को मौके पर बुलाने की बात पर अड़े रहे।
बिजली विभाग की टीम को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा
घटना के कई घंटे बाद बिजली विभाग की टीम घटनास्थल पर पहुंची। बिजली विभाग की टीम को देखकर भीड़ का गुस्सा फूट पड़ा। भीड़ ने बिजली विभाग की टीम को चारों तरफ से घेर लिया और खेतों में दौड़ा-दौड़ा कर बिजली विभाग की टीम को जमकर पीटा। हालांकि मौके पर पुलिस बल भी मौजूद था लेकिन पुलिस भी बिजली विभाग की टीम को पिटने से नहीं बचा सकी।
विधायक के आश्वासन के बाद शांत हुआ ग्रामीणों का गुस्सा
इस हंगामे की जानकारी जब दिमनी विधायक रविंद्र सिंह को मिली तो उन्होंने ग्रामीणों से बातचीत की। इसके साथ ही उन्होंने मृतक जयचंद सिंह के परिजनों को बिजली विभाग समेत आंगनवाड़ी में नौकरी दिलाने का आश्वासन दिया। इसके अलावा ₹900000 की आर्थिक सहायता देने की बात भी कही, जिसके बाद ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ और मृतक के शव को इलेक्ट्रिक पोल से नीचे उतार कर उसका अंतिम संस्कार किया गया।

Comments
English summary
the angry mob beat up the team of the electricity department due to the death of an outsourced employee of the electricity department
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X