• search
मिर्जापुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

उज्जवल ‌सेंगर: महिला सिपाही के पार्थिव शरीर को एसपी-एएसपी ने दिया कंधा, नहीं रोक पाए आंसू

|

मिर्जापुर। मिर्जापुर-वाराणसी नेशनल हाईवे पर पड़री थानाक्षेत्र में शनिवार को सुबह छह बजे ड्यूटी पर जा रही महिला सिपाही उज्जवल ‌सेंगर को ट्रक ने टक्कर मार दी। घायल महिला सिपाही को पीएसची से मंडलीय अस्पताल ले जाया गया। मंडलीय अस्पताल में उपचार के दौरान सिपाही ने दम तोड़ दिया। शनिवार की देर शाम को परिजन मिर्जापुर पहुंचे। बेटी का शव देख मां और भाई का रो-रोक कर बुरा हाल हो गया। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह और एएसपी सिटी संजय कुमार ने सिपाही के पार्थिव शरीर को कंधा दिया और पुलिस लाइन लेकर आए। पुलिस लाइन में महिला सिपाही को राजकीय सम्मान के साथ नम आंखों से अंतिम विदाई दी गई। एसपी, एएसपी सिटी, एएसपी नक्सल महेश सिंह अत्रि, आरआई गोरखनाथ सिंह, शहर कोतवाल रविंद्र यादव, पड़री थानाध्यक्ष वेंकटेश तिवारी व अन्य पुलिसकर्मियों ने श्रद्धांजलि अर्पित किया।

डिवाइडर पार करते समय ट्रक ने मारी टक्कर

डिवाइडर पार करते समय ट्रक ने मारी टक्कर

बता दें, जालौन जिले के रामपुर थाना क्षेत्र के जगम्मनपुर निवासी 22 वर्षीय उज्जवल सेंगर पुत्री वीरेश सेंगर की 24 जुलाई को पड़री थाने में तैनाती हुई। इससे पहले वो कोतवाली शहर में तैनात थीं। वह शहर में ही किराए के मकान में रहती थी। तीज पर्व के कारण शविवार की सुबह उसकी ड्यूटी पड़री थाने के चंडिका धाम मंदिर पर लगी थी। वह सुबह छह बजे ड्यूटी के लिए जा रही थी। महिला सिपाही कपसौर गांव के पास पेट्रोल पंप पर तेल लेने के बाद सड़क के दूसरी ओर जाने के लिए मुड़ी थी। डिवाइडर पार करते समय ट्रक ने टक्कर मार दिया। ट्रक चालक हादसे के बाद फरार हो गया।

उपचार के दौरान महिला सिपाही ने तोड़ा दम

उपचार के दौरान महिला सिपाही ने तोड़ा दम

महिला सिपाही हेलमेट लगाई थी। उसके शरीर में अंदरूनी चोट आई। सूचना पर आनन-फानन में थानाध्यक्ष वेंकटेश तिवारी उच्चाधिकारियों को सूचना देकर घायल सिपाही को उपचार के लिए पीएचसी पड़री पर ले गई, जहां प्राथमिक उपचार के बाद सिपाही को मंडलीय अस्पताल रेफर कर दिया गया। बताया जा रहा है कि पीएचसी में डॉक्टर नहीं थे। घायल सिपाही की मंडलीय अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर परिजनों को सूचना दी। घटना की सूचना पर पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक नगर संजय कुमार, क्षेत्राधिकारी, प्रतिसार निरीक्षक मौके पर पहुंचे।

एसपी-एएसपी ने नम आंखों से दिया शव को कंधा

एसपी-एएसपी ने नम आंखों से दिया शव को कंधा

शनिवार की देर शाम को परिजन मिर्जापुर पहुंचे। बेटी का शव देख मां और भाई का रो-रोक कर बुरा हाल हो गया। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह और एएसपी सिटी संजय कुमार ने सिपाही के पार्थिव शरीर को कंधा दिया और पुलिस लाइन लेकर आए। पुलिस लाइन में महिला सिपाही को राजकीय सम्मान के साथ नम आंखों से अंतिम विदाई दी गई।

बारामूला में गई मिर्जापुर के रवि कुमार सिंह की जान , आखिरी शब्‍द थे-फोन रखो, एनकाउंटर पर जा रहा हूं

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
last rites of woman constable who lost her life in road accident in mirzapur
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X