• search
मेरठ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

मेरठ: थाना प्रभारी ने गंगाजल, मंत्र और चंदन को बनाया हथियार, इनसे कोरोना और क्राइम कंट्रोल का किया दावा

|

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ के नौचंदी थाने अगर आप जाएंगे तो वहां आपका स्वागत गंगाजल और चंदन से होगा। नौचंदी थाना प्रभारी प्रेमचंद शर्मा ने कोरोना वायरस के संक्रमण काल में यह अनोखी पहल की है। उनका मानना है कि गंगाजल प्राकृतिक सैनिटाइजर है, इसलिए वो केमिकल सैनिटाइजर का उपयोग थाने में नहीं करते हैं। जो भी फरियादी थाने में आते हैं उनको गंगाजल से सैनिटाइज करने का दावा थाना प्रभारी कर रहे हैं। इसके साथ वे फरियादी के माथे पर चंदन का तिलक भी लगाते हैं। थाना प्रभारी का कहना है कि इससे फरियादी का दिमाग शांत होता है और कई समस्याओं का समाधान इससे ही निकल आता है।

Nauchandi police station SHO uses Gangajal and Chandan

'प्राचीन संस्कृति हम भूलते जा रहे हैं'
नौचंदी थाना प्रभारी प्रेमचंद शर्मा अपनी पहल को लेकर आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। वे कोरोना वायरस संक्रमण और इलाके में अपराध से निपटने के लिए गंगाजल और तिलक की उपयोगिता के बारे में बताते हैं। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने दावा किया कि कानून-व्यवस्था बनाए रखने में भी चंदन और गंगाजल मददगार हैं।गंगाजल के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि हिमालय से जहां से गंगा निकलती है वहां तमाम औषधियां हैं। उस उद्गम से निकली गंगा का जल पवित्र सैनिटाइजर है। कहा कि गंगाजल के साथ-साथ शुद्धिकरण के मंत्र भी शास्त्र में बताए गए हैं। मंत्र बोलते हुए थाना प्रभारी ने कहा कि यह पवित्र सैनिटाइजर हजारों वर्षों से है, जिसको हम भूलते जा रहे हैं। ऋषियों को नमन करते हुए उन्होंने कहा कि हम कुछ नया नहीं कर रहे, सिर्फ प्राचीन संस्कृति का स्मरण कर रहे हैं।

'कानून व्यवस्था बनाए रखने में चंदन का टीका उपयोगी'

थाना प्रभारी प्रेमचंद शर्मा ने यह भी दावा किया कि गंगाजल और चंदन तिलक के इस्तेमाल से पुलिसिंग में सुधार आ रहा है। इससे समाज को हम अच्छे कामों के लिए प्रेरित कर रहे हैं। कहा कि मैंने देखा है कि चंदन लगाने से लोगों के अंदर व्यग्रता कम होती है, वो आराम से बैठकर बात करते हैं, उनके मस्तिष्क में शीतलता भी आती है और धीमे से समस्याओं का समाधान भी होता है। कानून व्यवस्था बनाए रखने में चंदन टीका की उपयोगिता के सवाल पर थाना प्रभारी ने कहा कि इससे पुलिसिंग में मदद मिल रही है, उनका क्षेत्र शांत हो रहा है और अपराधियों के खिलाफ कठोर वैधानिक कार्रवाई करने से भी वे पीछे नहीं हट रहे हैं।

होली पर गंगाजल की बोतलों का तोहफा

थाना प्रभारी प्रेमचंद शर्मा के कार्यालय के वीडियो एक ट्विटर यूजर ने पोस्ट किए हैं। वीडियो में दिख रहा है कि थाना प्रभारी के ऑफिस में आते ही उनके टेबल पर गंगाजल की बोतलें सजा दी जाती हैं। जो भी फरियादी आते हैं उनको थाना प्रभारी मंत्रोच्चार करते हुए चंदन का टीका लगाते हैं और उन पर गंगाजल छिड़कते हैं। होली से पहले थाने में जो भी मिलने आया उनको उन्होंने गंगाजल की बोतलें तोहफे में दीं। थाना प्रभारी अपनी पहल पर कहते हैं कि यह ईश्वर की प्रेरणा से, संतों की कृपा से और भारत की प्राचीन संस्कृति की मदद से समाज की गड़बड़ियों को दूर करने का एक प्रयास है।

गोरखपुर: मुर्गा खरीदने के विवाद में यूपी पुलिस के सिपाही ने दी व्यापारी को गालियां, SSP ने किया निलंबितगोरखपुर: मुर्गा खरीदने के विवाद में यूपी पुलिस के सिपाही ने दी व्यापारी को गालियां, SSP ने किया निलंबित

English summary
Nauchandi police station SHO uses Gangajal and Chandan
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X