• search
मेरठ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

न्याय के लिए भटकती रही रेप पीड़िता ने किया सुसाइड, आरोपियों की छींटाकशी और धमकियों से थी परेशान

|
Google Oneindia News

मेरठ, 03 जुलाई: खबर उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले से है, यहां न्याय के लिए पिछले छह महीने से भटक रही रेप पीड़िता ने गुरुवार को जहर खा लिया था। शुक्रवार को इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। बताया जा रहा है कि इंसाफ ना मिलने और आरोपियों की ओर से लगातार जारी छेड़खानी की घटनाओं के कारण वो आहत थी। किशोरी की मौत के बाद परिजन ने जमकर हंगामा किया। इतना ही नहीं, उन्होंने पुलिस पर आरोप लगाया कि उनके कार्रवाई न करने के कारण ही किशोरी की जान गई है।

Meerut news: physical attack victim dies by extreme step

यह मामला परीक्षितगढ़ थाना क्षेत्र के एक गांव का है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जहर खाकर जाने देने वाली पीड़िता के परिजनों ने बताया कि तकरीबन 6 महीने पहले परीक्षितगढ़ थाने में एक तहरीर दी गई थी, जिसमें पीड़िता ने इलाके के ही शादाब शादी का झासा देकर शारीरिक संबंध बनाए के गंभीर आरोप लगाए थे। पीड़िता ने जब यह बात घरवालों से बताने के लिए कही तो आरोपी शादी की बात से मुकर गया। इसके बाद शदाब और उसके दोस्त गुलशेर ने पीड़िता के साथ रेप किया, जिसकी तहरीर भी थाने में दी गई थी।

मृतका के परिजन का आरोप है कि मामले में मुकदमा लिखा गया, लेकिन उसमें बलात्कार की धारा नहीं लगाई गई। इंसाफ पाने के लिए वे लोग लगातार 6 महीने से थाने के चक्कर लगा रहे थे। इतना ही नहीं, आरोपियों की ओर से पीड़िता लड़की को चिढ़ाया और डराया जा रहा था। घटना के बाद पीड़िता ने इसकी शिकायत करते हुए थाने में मुकदमा दर्ज कराया था जिसकी संख्या 42 /21 थी। पीड़िता बार-बार थाने के चक्कर काटते हुए न्याय की गुहार लगाती रही थी। वहीं आरोपी की ओर से उस पर छींटाकशीं भी जारी थी, जिससे तंग आकर उसने जहर खा लिया।

ये भी पढ़ें:- पुलिस रिश्वत मांगे तो इस हेल्पलाइन पर करें फोन, मेरठ SSP प्रभाकर चौधरी ने कहा- खाकी पर दाग बर्दाश्त नहींये भी पढ़ें:- पुलिस रिश्वत मांगे तो इस हेल्पलाइन पर करें फोन, मेरठ SSP प्रभाकर चौधरी ने कहा- खाकी पर दाग बर्दाश्त नहीं

वहीं, इस घटना के बाद थाने में हड़कंप मच गया और आनन-फानन में पीड़िता को इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां इलाज के दौरान पीड़िता ने दम तोड़ दिया। इस घटना के बाद परिजनों का कहना है कि अगर वक्त रहते थाना पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार कर लेती तो उनकी मासूम बेटी आज जिंदा होती। वहीं इस मामले पर एसपी देहात केशव कुमार का कहना है कि मामले में पीड़िता ने मुकदमा दर्ज कराया था और आज की घटना के बाद इस मामले में परिजन की तहरीर पर आरोपियों के खिलाफ फिर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। इस केस के जांच अधिकारी के खिलाफ भी जांच के आदेश दे दिए गए हैं और उनकी लापरवाही सामने आने पर उनके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी।

English summary
Meerut news: physical attack victim dies by extreme step
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X