• search
मेरठ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

UP: ससुर फिर पति की कोरोना से मौत, परिवार में अकेले बची महिला ने क‍िया अंत‍िम संस्‍कार

|
Google Oneindia News

मेरठ, जून 06: कोरोना वायरस के संक्रमण ने लाखों परिवारों से उनके अपनों का छीन ल‍िया। हंसते-खेलते पर‍िवार उजड़ गए। ऐसा ही द‍िल को झकझोर देने वाला मामला यूपी के मेरठ से सामने आया है। यहां रहने वाली एक महिला के ससुर का कोरोना से न‍िधन हो गया। पति की तबीयत खराब होने की वजह से उसने ही अपने ससुर की च‍िता को आग दी। ससुर का दाह संस्कार करके लौटी महिला पर उस वक्‍त दुखों का पहाड़ टूट पड़ा जब उसे अपने पति की मौत की खबर म‍िली। महिला का पति भी दुन‍िया को अलव‍िदा कह चुका था। अकेले बची महिला ने अपने पति को भी मुखाग्नि दी। यह दृश्‍य जिसने भी देखा वह रो पड़ा।

पहले ससुर फिर पति की मौत

पहले ससुर फिर पति की मौत


मेरठ के कंकरखेड़ा के सैनिक विहार में 73 वर्षीय राकेश रस्तोगी का परिवार रहता था। परिवार में राकेश रस्तोगी और उनका बेटा मयंक रस्तोगी (42) और उनकी 37 वर्षीय बहू पूजा तीन लोग थे। मयंक सरकारी टीचर थे। 19 नवंबर 2018 को उनकी शादी पूजा के साथ हुई थी। परिजनों का कहना है कि मयंक रस्तोगी की पंचायत चुनाव में ड्यूटी लगी थी और मतगणना में भी उनकी ड्यूटी लगी थी। इसके बाद से ही उनकी तबीयत खराब हुई। उन्‍हें तेज बुखार आ गया और तबीयत ब‍िगड़ती चली गई। पहले घर में ही इलाज चला, फिर कोरोना टेस्ट कराया गया तो वह पॉजिटिव म‍िले। उन्‍हें 27 मई को मेरठ के सुभारती मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया, जहां उनका इलाज चल रहा था।

कलेजे पर पत्थर रखकर क‍िया ससुर का अंतिम संस्कार

कलेजे पर पत्थर रखकर क‍िया ससुर का अंतिम संस्कार


इधर, मयंक के पिता राकेश रस्तोगी की भी तबियत ब‍िगड़ गई। उनका टेस्‍ट करवाया गया तो वह भी कोरोना पॉजिट‍िव म‍िले। तबीयत ब‍िगड़ने पर 30 मई को उन्‍हें मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान एक जून को राकेश रस्तोगी की हालत बिगड़ गई और उन्होंने दम तोड़ दिया। उधर, मयंक की तबीयत ब‍िगड़ गई और उन्‍हें वेंट‍िलेटर सपोर्ट पर रखा गया। रिश्तेदारी में कोई नहीं होने के कारण पूजा को ही अपने कलेजे पर पत्थर रखकर ससुर का अंतिम संस्कार करना पड़ा।

पति ने भी तोड़ा दम, पूजा को ही करना पड़ा अंत‍िम संस्‍कार

पति ने भी तोड़ा दम, पूजा को ही करना पड़ा अंत‍िम संस्‍कार

पूजा के भाई ने बताया कि पिता के मरने की खबर बेटे मयंक को भी नहीं दी थी। पूजा अपने ससुर की अस्थियां लेने श्मशान घाट गई थी, इसी बीच अस्पताल से खबर आई की मयंक की तबीयत ज्यादा खराब है, उनको वेंटीलेटर पर लिया जा रहा है और फिर 4 जून को उनकी भी मौत हो गई। पत्नी पूजा को ही अपने पति मयंक रस्तोगी का अंतिम संस्कार करना पड़ा।

कोरोना कर्फ्यू मुक्त हुए यूपी के 71 जिले, केवल इन चार जिलों में ही लागू रहेगा कर्फ्यू कोरोना कर्फ्यू मुक्त हुए यूपी के 71 जिले, केवल इन चार जिलों में ही लागू रहेगा कर्फ्यू

English summary
husband and father in law lost life due to corona daughter in law did funeral
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X