• search
मेरठ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Arun Pundir : इंडियन आर्मी के लिए छोड़ी 20 लाख की नौकरी, पिता 18 साल से कोमा में, मां की हो चुकी मौत

|
Google Oneindia News

मेरठ, 07 दिसंबर: उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के रहने वाले अरुण पुंडीर ने अपने देश की सेवा के लिए 20 लाख रुपए की नौकरी को ठुकरा दिया। इंजीनियरिंग के बाद अरुण को मल्टीनशनल कंपनी में शुरुआती पैकेज के रूप में 20 लाख रुपए सालाना ऑफर हुए थे। लेकिन उन्होंने सेना में जाने का निश्चय किया। अरुण के इस फैसले की हर कोई सराहना कर रहा है। हालांकि, अपने इस सफर के दौरान अरुण के सामने गई चुनौतियों आईं, लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी।हालातों से जूझकर अपने दम पर अरुण पुंडीर ने जो कर दिखाया है वह किसी नजीर से कम नहीं। आइए जानते हैं कैसा रहा अरुण का अब तक का सफर?

18 साल से कोमा हैं पिता, सड़क हादसे में हो गई थी मां की मौत

18 साल से कोमा हैं पिता, सड़क हादसे में हो गई थी मां की मौत


अरुण पुंडीर मेरठ के मुंडाली गांव के रहने वाले हैं। अरुण हमेशा से सेना में शामिल होकर देश की सेवा करना चाहते थे।
अरुण की प्राथमिक शिक्षा ट्रांसलेम स्कूल से हुई। अरुण के पिता प्रदीप पुंडीर दिव्यांग हैं और पिछले 18 साल से कोमा में हैं। मां सुधा पुंडीर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता थीं। वह परिवार का खर्च चलाती थीं। साल 2016 में उनकी सड़क हादसे में मौत हो गई। मां की अचानक मौत से अरुण टूट गए, लेकिन उन्होंने धैर्य नहीं खोया। वह अपने सपने के प्रति ईमानदारी से मेहनत में जुट गए।

कंप्यूटर साइंस में बीटेक किया, IT कंपनी में मिली 20 लाख रुपए नौकरी

कंप्यूटर साइंस में बीटेक किया, IT कंपनी में मिली 20 लाख रुपए नौकरी

अरुण ने मेरठ इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिग एंड टेक्नॉलाजी (एमआइईटी) से बीटेक कंप्यूटर साइंस किया। अरुण का बैच 2017 से 2021 है। पढ़ाई पूरी करने से पहले ही अरुण को नोएडा में एक आईटी कंपनी में 20 लाख रुपए सालाना के पैकेज पर नौकरी मिली। लेकिन, उन्होंने नौकरी छोड़कर इंडियन आर्मी में जाने का फैसला किया। अरुण ने वर्क फ्रॉम होम में बतौर सॉफ्टवेयर डेवलपर पांच महीने काम किया।

सेना में लेफ्टिनेंट बने अरुण पुंडीर

सेना में लेफ्टिनेंट बने अरुण पुंडीर

अरुण ने बताया कि मामा सुरेंद्र सिंह तोमर सूबेदार मेजर पद से रिटायर हुए हैं। उन्होंने उनका एसएसबी इंटरव्यू के लिए तैयारी करवाई। टेक्निकल एंट्री के जरिए अब वह सेना में बतौर लेफ्टिनेंट चयनित हुए हैं। उनकी रैंक पांचवीं है। अरुण के सिलेक्शन की सूचना तीन दिसंबर को मिली। अरुण को 12 दिसंबर को रिपोर्ट करना है। अरुण की इस उपलब्धि पर एमआइईटी के चेयरमैन विष्णु शरण, वाइस चेयरमैन पुनीत अग्रवाल, डायरेक्टर डॉ. मयंक गर्ग ने बधाई दी है। बता दें, अरुण के बड़े भाई अभिषेक भी सेना भर्ती की तैयारी कर रहे हैं।

IIT-Kanpur: एक स्टूडेंट को मिला 2.7 करोड़ रुपए के जॉब का ऑफर, 49 छात्रों को 1 करोड़ से ज्यादा का पैकेजIIT-Kanpur: एक स्टूडेंट को मिला 2.7 करोड़ रुपए के जॉब का ऑफर, 49 छात्रों को 1 करोड़ से ज्यादा का पैकेज

Comments
English summary
arun pundir meerut left job of rs 20 lakh annual package to serve nation by joining indian army
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X