• search
महाराष्ट्र न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

जलमग्न महाराष्ट्र: CM उद्धव ठाकरे ने की आपात बैठक, बाढ़ पर शुरू हुआ सियासी मंथन

|
Google Oneindia News

मुंबई, 25 जुलाई। महाराष्ट्र में भारी बारिश के चलते बाढ़ और भूस्खलन से हालात बेहद खराब है। इसी क्रम में रविवार को राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बाढ़ की स्थिति पर रत्नागिरी में अधिकारियों के साथ बैठक की। वहीं केंद्रीय मंत्री नारायण राणे और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भारी बारिश से प्रभावित रायगढ़ जिले के तलिये गांव का दौरा किया और राहत कार्यों का जायजा लिया। बता दें कि महाराष्ट्र में सेना और एनडीआरएफ की टीमें बढ़ प्रभावित इलाकों से लोगों को निकालने के लिए रेस्क्यू अभियान चला रही हैं।

    Maharashtra Flood Update: CM Uddhav Thackrey ने की आपात बैठक, अफसरों को ये निर्देश | वनइंडिया हिंदी
    उद्धव ठाकरे ने की अधिकारियों संग बैठक

    उद्धव ठाकरे ने की अधिकारियों संग बैठक

    केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुझे भेजा और यहां के लोगों की समस्याओं की रिपोर्ट देने को कहा है। अभी तक सिर्फ 44 शव बरामद हुए हैं और शव मिलना अभी बाकी हैं। पुनर्वास कार्य चल रहा है। इस बीच रविवार को सीएम उद्धव ठाकरे ने बाढ़ प्रभावित चिपलून का दौरा किया, अधिकारियों और स्थानीय प्रतिनिधियों से मुलाकात कर नुकसान की सीमा और चल रहे राहत अभियान का जायजा लिया।

    भोजन, दवा, कपड़े बांटने का निर्देश

    भोजन, दवा, कपड़े बांटने का निर्देश

    बैठक के बाद महाराष्ट्र के सीएम कार्यालय से जानकारी दी गई कि राज्य में बाढ़ से हुए नुकसान की एक दो दिनों में वित्तीय समीक्षा की जाएगी, लेकिन अब संबंधित जिला कलेक्टरों को बाढ़ पीड़ितों को भोजन, दवा, कपड़े और अन्य आवश्यक सामग्री तुरंत उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। बता दें कि सीएम उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाविकास अघाड़ी सरकार ने भूस्खलन में मृतकों के परिजनों को 5-5 रुपए आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है।

    रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी तीनों सेनाएं

    रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी तीनों सेनाएं

    वहीं राहत और बचाव कार्य में जुटी भारतीय सेना की तरफ से बताया गया कि बाढ़ राहत कार्यों के लिए तीनों सेनाओं के बीच समन्वय के लिए सैन्य मामलों के विभाग में एक केंद्रीय युद्ध कक्ष स्थापित किया गया है। एनडीआरएफ की 5वीं बटालियन के इंस्पेक्टर राज कुमार ने कहा, कृष्णा नदी का पानी आसपास के गांवों में घुस गया है। अब तक 700-800 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है। हमारा बचाव अभियान तब तक जारी रहेगा जब तक कि अंतिम व्यक्ति को सुरक्षित बचा नहीं लिया जाता।

    आदित्य ठाकरे का विपक्ष पर पलटवार

    आदित्य ठाकरे का विपक्ष पर पलटवार

    बाढ़ और भूस्खलन की घटनाओं पर महाराष्ट्र के पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने भी अपनी नजर बनाई हुई है, उन्होंने विपक्ष के आरोपों पर भी पलटवार किया है। आदित्य ने कहा, यदि आप विपक्ष पर ध्यान केंद्रित करने जा रहे हैं, तो यह हमारे लिए कुछ नहीं है। हम सभी का काम राजनीति से परे जाना है। लोगों के पीछे खड़े होने का समय। बता दें कि विपक्षी दलों ने आरोप लगाया था कि सीएम उद्धव ठाकरे बाढ़ के दौरान अपने कार्यालय से बाहर नहीं निकले।

    यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में बाढ़ से हुई तबाही को लेकर मायावती ने जताया दुख, कहा- यूपी सरकार को अभी से होना पड़ेगा सजग

    English summary
    Maharashtra floods CM Uddhav Thackeray holds emergency meeting
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X