India
  • search
महाराष्ट्र न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Maharashtra Crisis : सियासी उठापटक के बीच CM उद्धव ठाकरे का बड़ा कदम, शिंदे समेत बागी मंत्रियों का छीना विभाग

By ज्ञानेंद्र शास्त्री
|
Google Oneindia News

मुंबई, 27 जून। महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं,मामला कोर्ट में पहुंच चुका है तो वहीं दूसरी ओर सोमवार को सीएम उद्धव ठाकरे ने बड़ा कदम उठाते हुए एकनाथ शिंदे समेत बागी मंत्रियों के विभाग छीन लिए हैं और यही नहीं बागी मंत्रियों के विभागों को दूसरे लोगों को आवंटित भी कर दिया गया है। सरकार की ओर से कहा गया है कि 'ये फैसला जनता के हित को ध्यान में रखकर लिया गया है क्योंकि सरकार का मानना है कि पार्टी के कलह का असर जनता पर नहीं पड़ना चाहिए।'

    Maharashtra Political Crisis: CM Uddhav Thackeray ने 9 Ministers किए बाहर |वनइंडिया हिंदी| *Politics
    CM ठाकरे ने शिंदे समेत बागी मंत्रियों का छीना विभाग

    आपको बता दें कि ठाकरे के कभी काफी करीबी रहे एकनाथ शिंदे के विभाग को अब सुभाष देसाई को और गुलाबराव के विभाग को अनिल परब को दिया गया है। बता दें कि एकनाथ शिंदे के पास शहरी विकास और लोक निर्माण विभाग और गुलाबराव के पास जलापूर्ति-स्वच्छता विभाग था।

    निम्नलिखित विभाग में फेरबदेल हुआ है...

    • उदय सावंत के पास उच्च शिक्षा विभाग है।
    • तकनीकी शिक्षा विभाग आदित्य ठाकरे के पास है।
    • शंभुराजे देसाई का गृह राज्यमंत्री (ग्रामीण) विभाग अब संजय बांसोड़े के पास है।
    • कौशल्य विकास और उद्यमिता विभाग अब विश्वजीत कदम के पास है।
    • मेडिकल एजुकेशन और टेक्सटाइल अब प्रजक्त तानपुरे देखेंगे।
    • सांस्कृतिक कार्य विभाग अदिति तटकरे के पास गया है।
    • महिला एवं बाल विकास विभाग की जिम्मेदारी भी संजय बांसोडे को ही दी गई है।
    • दत्तात्रय भरने को OBC वेलफेयर विभाग का काम दिया गया है।

    'मेरा सिर धड़ से अलग कर दो, फिर भी गुवाहाटी का रूट नहीं लूंगा', ED के समन पर बोले संजय राउत'मेरा सिर धड़ से अलग कर दो, फिर भी गुवाहाटी का रूट नहीं लूंगा', ED के समन पर बोले संजय राउत

    गौरतलब है कि बागी मंत्रियों पर यह कार्रवाई ऐसे समय में हुई है जब शिवसेना के भीतर तकरार सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गई है। अलग-अलग याचिकाओं में, विद्रोहियों ने 16 बागी विधायकों को अयोग्य ठहराने के शिवसेना के कदम का विरोध किया है और डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की अस्वीकृति को चुनौती दी है। एकनाथ शिंदे ने तो बागी विधायकों के जीवन के खतरे का दावा करते हुए एक और याचिका कोर्ट में दायर की है।

    Comments
    English summary
    Jagannath Puri Yatra 2022 ic coming on 1st july. Know why 'Rath Yatra' is taken out, what is its story?
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X