India
  • search
मध्य प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

MP न‍िकाय चुनाव: द‍िग्‍गजों को परिजन की हार का डर, इसल‍िए पगडंडी से चौपाल तक धुंआधार प्रचार

|
Google Oneindia News

सागर, 01 जुलाई। मप्र पंचायत चुनाव के पहले चरण में व‍िधानसभा अध्‍यक्ष ग‍िरीश गौतम के बेटे सहि‍त पूर्व मंत्री कुसुम महदेले के परिजन के चुनाव हार जाने के बाद सागर में मंत्री गोव‍िंद राजपूत सह‍ित पूरा कुनबा अपने भतीजे को ज‍िला सदस्‍य का चुनाव ज‍िताने में जुट गया है। बता दें क‍ि उनके भतीजे अरव‍िंद सिंह राजपूत वार्ड नंबर 5 से ज‍िला पंचायत सदस्‍य का चुनाव लड रहे हैं। गौरतलब है कि पंचायत और पंचायत चुनावों में कई द‍िग्‍गजों की प्रत‍िष्‍ठा दांव पर लगी है।

राहतगढ में चुनाव प्रचार करते गोव‍िंद सि‍ंह राजपूत

प्रदेश में कई कद्दावर नेताओं और जनप्रत‍िन‍िध‍ियों के पर‍िजन सरपंच और जनपद का चुनाव हार गए हैं, इस कारण सागर ज‍िले से आने वाले मंत्री और बडे नेता पहले ही सतर्क हो गए। परिवहन एवं राजस्‍व मंत्री गोव‍िंद सिंह राजपूत जनपद सदस्‍य के ल‍िए वार्ड नंबर 5 में गांव-गाव, गल‍ियों में तो कभी चौपाल पर धुंआधार प्रचार करने में जुटे हैं। वे छोटी-छोटी सभाएं भी कर रहे हैं। अलग-अलग जगह बैठकें कर भतीजे अरव‍िंद स‍िंह राजूपत को ज‍िताने के ल‍िए मतदाताओं से अपील कर रहे हैं।

बडे भाई और बहू पहले ही न‍िर्व‍िरोध जीत चुके हैं
पर‍िवहन मंत्री गोविंद राजपूत के बड़े भाई हीरा सिंह राजपूत जिला पंचायत का चुनाव निर्विरोध जीत चुके हैं। प्रदेश में सिर्फ हीरा सिंह ही जिला पंचायत का निर्विरोध चुनाव जीते हैं। दूसरी ओर मंत्री की भतीजी बहु साधना नीतू सिंह राजपूत सुरखी विधानसभा क्षेत्र की राहतगढ़ जनपद के वार्ड क्रमांक 17 से निर्विरोध चुनाव जीत चुकी हैं। साधना नीतू सिंह जिला पंचायत प्रत्याशी अरविंद सिंह की पत्नी हैं। अरविंद सिंह के पिता और मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के बड़े भाई गुलाब सिंह राजपूत राहतगढ़ जनपद के अध्यक्ष रह चुके हैं।

Comments
English summary
In the first phase of MP Panchayat elections, the entire family, including minister Govind Rajput, in Sagar, including the son of Assembly Speaker Girish Gautam, lost the election to the kin of former minister Kusum Mahdele. Let us inform that his nephew Arvind Singh Rajput is contesting the election of Zilla Panchayat member from Ward No. It is worth mentioning that the prestige of many veterans is at stake in the Panchayat and Panchayat elections.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X