• search
मध्य प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

विश्व हिंदू परिषद का अध्यक्ष बेच रहा था फेक रेमडेसिविर इंजेक्शन, कांग्रेस ने की सीबीआई जांच की मांग

|

जबलपुर, 11 मई। विश्व हिंदू परिषद जबलपुर के अध्यक्ष सरबजीत सिंह मोखा फेक रेमडेसिविर रैकेट चलाने वाले मुख्य आरोपियों में से एक निकला है। इन पर कोरोना महामारी के दौरान एक लाख फर्जी इंजेक्शन बेचने का आरोप है। जबलपुर एएसपी रोहित केशवानी ने बताया कि पुलिस ने सरबजीत सिंह मोखा, देवेंद्र चौरसिया और स्वपन जैन के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं, आपदा प्रबंधन अधिनियम, दवा और सौंदर्य प्रसाधन अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।

President of VHP was selling fake Remedisvir injection, Congress demands CBI inquiry

पुलिस के अनुसार सरबजीत सिंह मोखा विश्व हिंदू परिषद का अध्यक्ष होने के साथ साथ सिटी अस्पताल का मालिक भी है। देवेंद्र चौरसिया उनके यहां मैनेजर के रूप में काम करता है जबकि स्वपन जैन दवा कम्पनियां के डीलर्स को हैंडल करता है। सूत्रों के अनुसार मोखा के सम्पर्क एक मंत्री के बेटे से भी हैं। पांच सौ फर्जी रेमडेसिविर इंजेक्शन इंदौर से प्राप्त किए और उन्हें अपने अस्पताल के मरीजों को 35 से 40 हजार रुपए में बेचा।

SIKAR : 5 घंटे तक कोई मददगार नहीं आया तो तहसीलदार रजनी यादव ने किया महिला का अंतिम संस्कारSIKAR : 5 घंटे तक कोई मददगार नहीं आया तो तहसीलदार रजनी यादव ने किया महिला का अंतिम संस्कार

फर्जी रेमडेसिविर इंजेक्शन रैकेट उजागर होने पर मध्य प्रदेश कांग्रेस ने पूरे मामले से सीबीआई की जांच की मांग की है। कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा ने ट्वीट करते हुए कहा कि यह घोटाला कई राज्यों में हुआ है।
इंदौर में 3 व जबलपुर में साढ़े तीन हजार इंजेक्शन पहुंचे है।

English summary
President of VHP was selling fake Remedisvir injection, Congress demands CBI inquiry
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X