• search
मध्य प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Sagar: तालाब से खेत में पहुंचा मगरमच्छ, रस्सियों से जकड़कर नदी में छोड़ा

Google Oneindia News

सागर, 3 अक्टूबर। मप्र के सागर जिले की खुरई तहसील में स्थित बड़े तालाब में दो मगरमच्छ देखे जाने की खबरें बीते तीन महीने से खबरें आ रहीं थी। इसके विपरीत सोमवार सुबह बड़े तालाब के बजाय छोटे तालाब के पास खेत में एक मगरमच्छ देखा गया। किसानों से मगरमच्छ को देखा तो किसानों के होश फाख्ता हो गए। आसपास इलाके में खबर फैली और किसानों ने वन विभाग को सूचना दी। करीब घंटे भर बाद यहां वन विभाग का अमला पहुंचा और बड़ी मशक्कत के बाद उसे काबू में कर रस्सियों से जकड़कर नदी में छोड़ा गया है।

खेत में पहुंच गया मगरमच्छ, वन विभाग ने पकड़कर नदी में छोड़ा

वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सोमवार सुबह इलाके के खजऊ तलैया के पीछे खेत जैसे बगीचे में करीब 5 फीट लंबा मगरमच्छ पहुंच गया। किसान लक्ष्मण पटेल के बगीचे के पास निकले नाले से होता हुआ मगरमच्छ यहां पहुंच गया। मगरमच्छ देखे जाने से इलाके में दशहत और सनसनी पहुंच गई। यहां आसपास कई लोग मौजूद थे, जिन्हें लक्ष्मण ने जानकारी देते हुए हटाया। सभी ने मिलकर वन विभाग को सूचना दी और मगरमच्छ पर करीब घंटे भर तक नजर बनाए रहे। आसपास पालतु जानकर भी थे, जिन्हें सतर्कता के साथ हटाया गया। करीब एक घंटे बाद मौके पर वन विभाग की टीम पहुंची और बल्लियों और जाल व रस्सियों से जकड़ने के जतन शुरु कर दिया। भारी मशक्कत के बाद मगरमच्छ को पकड़कर रस्सियों से जकड़कर उसे कंधों पर उठाकर वनविभाग के वाहन में ले जाकर बेतबा नहीं में छोड़ दिया गया।

MP: बच्चों में यह लंपी या मंकीपॉक्स नहीं, हैंड, फुट एंड माउथ सिंड्रोम है, डॉक्टर बोले-दूषित पानी से होता है MP: बच्चों में यह लंपी या मंकीपॉक्स नहीं, हैंड, फुट एंड माउथ सिंड्रोम है, डॉक्टर बोले-दूषित पानी से होता है

वन विभाग के अनुसार नाले से यहां पहुंच गया मगरमच्छ
वन विभाग के डिप्टी रेंजर ओपी बबेले ने बताया कि बड़े तालाब से जुड़े नाले से होते हुए यह मगरमच्छ यहां पहुंच गया था। जिसका रेस्क्यु कर नदी में छोड़ दिया गया है। लोग बता रहे थे कि बड़े तालाब में तीन मगरमच्छ होने का अंदेशा है। दो मगरमच्छ को लोगों ने कई दफा देखा है। पकड़ा गया मगरमच्छ करीब 5 से 6 फीट लंबा था।

Comments
English summary
A huge crocodile reached the field near the small pond in Khurai in the Sagar of MP. When the farmers present around saw them, they were blown away. When the forest department was informed, after a struggle of about two hours, he was rescued and released in the Betwa river.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X