• search
मध्य प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

इंदौर में बढ़े कोरोना केस तो एंटी वायरल ड्रग रेमडेसिविर की होने लगी किल्लत, दवाई दुकान के बाहर लगी भीड़

|

इंदौर: जैसे महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित मुंबई है, ठीक वैसे ही मध्य प्रदेश में महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित इंदौर है। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच इंदौर में इन दिनों एंटी वायरल ड्रग रेमडेसिविर और ऑक्सीजन की भारी कमी शुरू हो गई है। कोरोना वायरस के गंभीर मरीजों को इलाज के लिए रेमडेसिविर दवा के इंजेक्शन दिए जाते हैं। वो भी खासकर बुजुर्गों को। शहर में इन दिनों इस एंटी वायरल ड्रग रेमडेसिविर के इंजेक्शन के लिए हर मेडिकल स्टोर पर लंबी लाइन देखने को मिल रही है। जिसका ताजा उदाहरण हाल ही में एक दुकान के सामने देखने को मिला। इंदौर के एक दुकान के आगे रेमडेसिविर इंजेक्शन लेने के लिए मेले जैसी भीड़ लग गई। भीड़ इतनी ज्यादा बढ़ गई थी कि कुछ वक्त के लिए दुकानदार ने अपनी दुकान बंद कर दी थी।

Remdesivir

भीड़ में खड़ा हर शख्स किसी भी कीमत पर यह इंजेक्शन लेना चाहता था। इस घटना की तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। जिला कलेक्टर मनीष सिंह के मुताबिक महाराष्ट्र में डिमांड बढ़ने की वजह से इंदौर में दिक्कतें शुरू हुई हैं। हालांकि उन्होंने कहा है कि बुधवार को इंदौर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति की है। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को कहा कि मध्य प्रदेश सरकार गरीब लोगों के इलाज के लिए और अधिक रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाएगी।

रेमडेसिविर की मांग इन दिनों आसमान छू रहा है और बाजार में इसकी स्टॉक की कमी है। लोग इसके लिए घंटों तक लंबी कतार में खड़े रह रहे हैं। इंदौर के अधिकारियों ने कहा कि इंदौर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की लगभग हर दिन 7,000 शीशियों की रोजाना खपत है। इसके विपरीत, फार्मेसियों में यह संख्या आधी से भी कम हो गई है।

एनडीटीवी में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार (08 अप्रैल) को दवा खरीदने के लिए इंदौर के डावा बाजार में सैकड़ों लोग लंबी कतार में खड़े थे, लेकिन इसमें से कुछ ही लोग इसे को ये दवाई मिल पाई है। दुकानों के खुलने से पहले ही गुरुवार को फार्मेसियों के बाहर लंबी कतारें लग गईं। सामने आई तस्वीरों में पुलिसकर्मी कतारों को बहुत लंबा होने से रोकने और व्यस्त क्षेत्र में यातायात को प्रभावित करने के लिए संघर्ष करते हुए दिखाई दे रहे हैं। दुकान के बाहर भीड़ इतनी बढ़ गई कि बैरिकेड्स लगाए गए थे। वहीं बुधवार (07 अप्रैल) को भी, घंटों इंतजार के बाद केवल कुछ लोग ही रेमडेसिविर प्राप्त कर सके।

अपने पिता के लिए रेमेडिसविअर लेने आए, इंदौर निवासी अभिजीत सिंह ने कहा, "मैं दो घंटे से लाइन में खड़ा हूं। तब भी मैं अपने सामने कम से कम 200 लोगों को इंतजार करते हुए देख रहा हूं। मेरे पिता अस्पताल में भर्ती हैं। तीन दिनों से मैं किसी तरह उनके लिए यह इंजेक्शन लेने की प्रतीक्षा कर रहा हूं। इससे पहले हमें एक इंजेक्शन मिला था।''

ये भी पढ़ें- CM शिवराज ने कोरोना के कारण रुकवाई मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ बस सेवा, लॉकडाउन का दायरा भी बढ़ेगा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Indore coronavirus hike remdesivir shortage in city people Queues For Hours of medical store
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X