फिर मध्यप्रदेश में कर्जदार किसान ने दी जान, दबंगों ने मारा तो पी लिया जहर

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

टीकमगढ़। मध्यप्रदेश के दमोह जिले में कर्ज के चलते एक किसान ने आत्महत्या कर ली है। पथरिया विकासखंड के कांकर गांव में पचपन साल के किसान रामा पटेल ने कीटनाशक पीकर जान दे दी। किसान के पास से सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमे साहूकारों की धमकी और दूध ना बेचने आने देने की बात खुलकर सामने आई है। पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है। प्रदेश में किसानों की दुर्दशा अब उनकी खुदकुशी के बाद फिर सवालों में है। पचपन साल का किसान रमा पटेल अपने ऊपर किसानी से हुए कर्ज के बोझ से तो परेशान था ही, साथ में दूध बेचकर जो गुजारा करता था वो भी बेचने आने पर दबंग साहूकारों ने उसे रोक दिया।

Farmer in Madhya Pradesh Suicide by debt

फसल पर सूखे के हालात और बेमौसम बारिश ने इस किसान की कमर तोड़ कर रख दी थी। बैंक के साथ बड़े ब्याज दर पर साहूकारों के कर्ज से रामा हताश था। वहीं सोमवार को घर वापसी के वक्त ऑटो से उतारकर उसके साथ दबंगों ने मारपीट तक की, जिसका सदमा किसान बर्दाश्त नहीं कर सका और जहर पीकर उसने आत्महत्या कर ली। गंभीर हालत में उसे दमोह जिला अस्पताल लाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया।

प्रदेश में मौसम की बेरुखी और किसानों के कर्जदार होने की खबर हर गलियों है और इस हालत से निपटने के लिए सरकार की कई योजनाओं में पैसा पानी की तरह बहाया जा रहा है। अब सवाल ये है कि क्या असल में किसान को इससे फायदा हुआ? या बिचौलिए सरकारी कर्मचारी और गल्ला ठेकेदार ही इसका बंदरबांट करके अपने वारे-न्यारे करने में जुटे हुए हैं। ये बड़ा सवाल है कि अब सरकारी जांच इस किसान की मौत को किस तरह पेश करती है।

Read more: मणिपुर के आतंकी ब्लास्ट में शहीद हुआ हिमाचल का लाल, परिजनों ने सरकार से की बदले की मांग

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Farmer in Madhya Pradesh Suicide by debt
Please Wait while comments are loading...