भोपाल गैंगरेप: पुलिस ने बेगुनाह को पकड़ कर बना दिया आरोपी, पत्नी के हंगामे से खुली बात

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोचिंग से लौट रही 19 साल की छात्रा को अगवा कर गैंगरेप करने के मामले में पुलिस ने एक बेगुनाह को ही आरोपी बना दिया। पुलिस ने तीन आरोपियों को पहले को पहले ही गिरफ्तार कर लिया है लेकिन चौथा आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर है। पुलिस पर गिरफ्तारी का दबाव बढ़ा तो उसने वाहवाही के लिए गुरुवार को एक युवक को उठाकर उसे चौथा आरोपी बता दिया। इस पर पुलिस ने अपनी पीठ भी थपथपा ली लेकिन मामला तब खुला जब इस शख्स की पत्नी थाने पहुंची और जमकर हंगामा किया। पुलिस ने पीड़िता को बुलाया गया तो उसने भी इसको पहचानने से इंकार कर दिया।  

पुलिस ने बेगुनाह को फंसाया

पुलिस ने बेगुनाह को फंसाया

रेल एसपी अनीता मालवीय ने गुरुवार को सभी चार आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात कह रही थी। शुक्रवार को जब कथित चौथे आरोपी राजू की पत्नी उसे खोजते हुए थाने आई तो मामले को झूठा कर उसने हंगामा मचा दिया। पुलिस ने इसके बाद पीड़िता को बुलाया तो लड़की ने भी उसे पहचानने से इंकार कर दिया। इसके बाद सफाई देते हुए तब रेल आईजी को कहना पड़ा कि चौथा आरोपी संदेही था और उसे छोड़ा जा रहा है।

 पुलिस ने चुपचाप उठा लिया था पुलिस ने राजू को

पुलिस ने चुपचाप उठा लिया था पुलिस ने राजू को

जीआरपी ने गैंगरेप मामले में शहर में प्रदेश बीजेपी कार्यालय के पीछे झुग्गी बस्ती में रहने वाले राजेश उर्फ राजू राजपूत को गिरफ्तार कर लिया था। राजू को लापता समझकर उसके परिजनों खोज रहे थे। जब वह नहीं मिला तो परिजनों ने हबीबगंज थाने में गुरुवार को उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। उसकी पत्नी जीआरपी थाने पहुंची तो उसे राजेश नजर आ गया लेकिन जीआरपी हबीबगंज ने उसको मिलने नहीं दिया। इसके बाद उसने हंगामा किया तो पुलिस को मामले को बताना पड़ा और आखिर अपनी गलती मानते हुए उसे छोड़ा।

राजू की पत्नी दुर्गा ने बताया कि उसके पति एक नवबंर को बच्चे का जन्मप्रमाण पत्र बनवाने के लिए घर से निकले थे। तभी पुलिस ने उसे उठा लिया और उसका फोन भी नहीं लग पाया। जिस तरह से पुलिस ने एक बेहुनाह को आरोपी बना उसे पंसाने की कोशिश की उससे राजू के पड़ो से के लोग पुलिस की कार्यशैली से खफा हैं।

31 अक्टूबर को हुआ गैंगरेप

31 अक्टूबर को हुआ गैंगरेप

गैंगरेप का ये मामला मामला 31 अक्‍टूबर का है। भोपाल के थाना हबीबगंज क्षेत्र में कोचिंग कर लौट रही पीडि़ता को पहले दो लोगों ने किडनैप किया और फिर बाद में दो लोग और आए और कई बार सामूहिक बलात्‍कार किया। इस दौरान उसे जान से मारने की कोशिश भी की गई। शर्म की बात ये थी घटना के बाद वो जीआरपी थाने पहुंची लेकिन पुलिस रिपोर्ट दर्ज करने की बजाय उसे टरकाने की कोशिश करती रही। इस मामले में चार में से तीन आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं। मामले पर महिला आयोग ने भी संज्ञान लिया है।

भोपाल गैंगरेप: महिला आयोग ने मध्य प्रदेश डीजीपी से मांगी अब तक की पुलिस कार्रवाई की रिपोर्ट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
bhopal gangrape: police arrest innocent and show him accused
Please Wait while comments are loading...