• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

जब लखनऊ स्पोर्ट्स कॉलेज में रैगिंग से तंग आकर घर लौट गए थे सुरेश रैना, मां ने कारण पूछा तो बताई थी ये बात

|

लखनऊ। पूर्व भारतीय कप्तान और अपने मेंटर महेंद्र सिंह धोनी के रिटायरमेंट की घोषणा के ठीक बाद सुरेश रैना ने भी संन्यास लेने की घोषणा कर दी। रैना ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट कर इसकी जानकारी दी है। अपनी इंस्टाग्राम पोस्ट में सुरेश रैना ने धोनी के साथ अपनी एक तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा, ''आपके साथ खेलना एक बहुत खूबसूरत अनुभव था माही। मैं गर्व के साथ आपके इस सफर में साथी बनने जा रहा हूं। शुक्रिया इंडिया। जय हिंद!'' बता दें, गाजियाबाद के मुरादनगर के रहने वाले सुरेश रैना ने लखनऊ के गुरु गोविंद सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज और स्पोर्ट्स हॉस्टल लखनऊ में अपने खेल को निखारा और क्रिकेट के शीर्ष पर पहुंचे। हम आपको रैना के लखनऊ स्पोर्ट्स कॉलेज से जुड़ा एक किस्सा बता रहे हैं, जो उन्होंने खुद एक इंटरव्यू के दौरान शेयर किया था।

जब रैगिंग से परेशान होकर वापस घर लौट गए थे रैना

जब रैगिंग से परेशान होकर वापस घर लौट गए थे रैना

सुरेश रैना ने क्रिकेट के शीर्ष तक पहुंचने से पहले काफी संघर्ष किया। अपने एक इंटरव्यू में रैना ने बताया कि था कि वह रैगिंग से बहुत परेशान हुए। एक बार तो वह घर सब छोड़कर घर लौट गए थे। लखनऊ स्पोर्ट्स कॉलेज के दिनों को याद करते हुए रैना ने बताया था, ''मैं 15 साल का था, स्पोर्ट्स कॉलेज में रैगिंग बहुत होती थी। परेशान होकर मैं घर लौट गया था। घर पहुंचते ही मां ने सवाल किया कि वापस क्यों आ गए तो मैंने उस वक्त बता दिया कि दिवाली की छुट्टी में आया हूं।''

चार महीने बाद मां को बताई असल वजह

चार महीने बाद मां को बताई असल वजह

रैना ने बताया कि रैगिंग की वजह से उनका दोबारा लौटने का मन नहीं था। धीरे-धीरे करके करीब चार महीने बीत गए। मां ने पूछा कि वापस क्यों नहीं जा रहे हो। इसके बाद उन्होंने अपनी मां को पूरी बात बताई। मां ने मुझे बैठाकर अच्छे से समझाया। रैना ने बताया कि मां की बात सुनकर और अपने परिवार के हालात समझकर वह वापस स्पोर्ट्स कॉलेज गए और वहां से नया सफर शुरू किया। बता दें, रैना ने गुरु जो अब उनके ससुर हैं, उन्होंने भी स्कूल टाइम में रैना को खूब समझाया।

सर्द रात में सीनियर्स डाल देते थे ठंडा पानी

सर्द रात में सीनियर्स डाल देते थे ठंडा पानी

रैना ने बताया था कि कई बार दूध की बाल्टी में घास डाल दिया जाता था। सर्द रात में तीन बजे उनके ऊपर ठंडा पानी डाल दिया जाता था। रैना का कहना है कि वे दूध को चुन्नी से छानकर पीते थे। मन करता था उठकर गलत हरकत करने वालों को पीटें, लेकिन यह भी पता होता था कि अगर एक को मारा तो बाकी के पांच आप पर टूट पड़ेंगे। लखनऊ में रैना अपने पुराने दोस्तों के साथ पंतग जरूर उड़ाते हैं। रैना कढ़ी बनाने में माहिर हैं।

सीएम योगी ने कहा- यूपी सहित पूरे देश को आप पर गर्व है

सीएम योगी ने कहा- यूपी सहित पूरे देश को आप पर गर्व है

बता दें, महेंद्र सिंह धोनी के रिटायरमेंट की घोषणा के ठीक बाद सुरेश रैना ने भी संन्यास लेने की घोषणा कर दी है। रैना ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट कर इसकी जानकारी दी है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर रैना को बधाई दी। ट्वीट में लिखा, ''भारतीय क्रिकेट को अपनी आभा से ऊष्मित करने वाले महान खिलाड़ी, उत्तर प्रदेश के रत्न श्री @ImRaina जी का खेल जीवन उपलब्धियों से पूरित रहा है। आपका धैर्य-आपका समर्पण भाव प्रेरणास्पद है। उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश को आप पर गर्व है। जीवन की नई पारी के लिए मंगलकामनाएं!'' उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ट्वीट किया, ''प्रसिद्ध भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी श्री सुरेश रैना जी आपको जीवन के अगले पारी की अनंत शुभकामनाएं। आपके बेहतरीन यादगार पारियां एवं क्रिकेट कुशलता हम सभी भारतीयों को हमेशा याद आएंगी। हम सभी भारतीयों को आप पर हमेशा गर्व रहेगा। Well Played @ImRaina।''

सुरेश रैना की वो 5 पारियां जिन्होंने नाजुक मौकों पर मैच भारत के पक्ष में पलट दिया

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
When Suresh Raina returned home after being fed up with ragging at Lucknow Sports College
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X