• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण का कोविड-19 संक्रमण से हुआ निधन, लखनऊ PGI में चल रहा था इलाज

|

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण का कोरोना वायरस संक्रमण से रविवार को निधन हो गया। कमल रानी वरुण कोरोना संक्रमित थी और पिछले काफी समय से लखनऊ के पीजीआई अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। बता दें कि कमल वरुण यूपी सरकार में टेक्निकल एजुकेशन मंत्री थीं। वहीं, उनके परिवार के कई अन्य लोग भी संक्रमित है। उनका भी इलाज लखनऊ के पीजीआई में चल रहा था।

    Coronavirus : UP की Cabinet Minister Kamal Rani Varun की Corona से मौत | वनइंडिया हिंदी

    Uttar Pradesh cabinet minister Kamala Rami Varun died in PGI Hospital from coronavirus

    मिली जानकारी के मुताबिक, कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण का 18 जुलाई को सिविल अस्पताल में कोरोना वायरस का सैंपल लिया गया था। सैंपल की जांच रिपोर्ट में उनमें कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी। जिसके बाद उन्हें लखनऊ स्थित पीजीआई अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रविवार की सुबह उनका पीजीआई में निधन हो गया। वे यूपी विधानसभा की सदस्य थीं। इससे पहले वे सांसद भी रह चुकी हैं। कमल वरुण यूपी सरकार में टेक्निकल एजुकेशन मंत्री थीं।

    कमल वरुण का जन्म 3 मई 1958 को हुथा था। कमल रानी वरुण की शादी एलआईसी में प्रशासनिक अधिकारी किशन लाल वरुण राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रतिबद्ध स्वयंसेवक से हुई थी। समाजशास्त्र से एमए कमल रानी को वर्ष 1989 में बीजेपी ने उन्हें शहर के द्वारिकापुरी वार्ड से कानपुर पार्षद का टिकट दिया। चुनाव जीत कर नगर निगम पहुंची कमलरानी 1995 में दोबारा उसी वार्ड से पार्षद निर्वाचित हुईं।

    घाटमपुर सीट से 1996 में जीता था चुनाव

    बीजेपी ने 1996 में उन्हें घाटमपुर (सुरक्षित) संसदीय सीट से चुनाव मैदान में उतारा। अप्रत्याशित जीत हासिल कर लोकसभा पहुंची कमलरानी ने 1998 में भी उसी सीट से दोबारा जीत दर्ज की। वर्ष 1999 के लोकसभा चुनाव में उन्हें सिर्फ 585 मतों के अंतराल से बसपा प्रत्याशी प्यारेलाल संखवार के हाथों पराजित होना पड़ा था। सांसद रहते कमलरानी ने लेबर एंड वेलफेयर, उद्योग, महिला सशक्तिकरण, राजभाषा व पर्यटन मंत्रालय की संसदीय सलाहकार समितियों में रहकर काम किया।

    2019 में बनी कैबिनेट मंत्री

    बता दें कि 2017 में बीजेपी ने उन्हें कानपुर के घाटमपुर सीट से चुनावी मैदान में उतारा थे। वे इस सीट से जीतने वाली पार्टी की पहली विधायक थीं। पार्टी के प्रति उनकी निष्ठा व लगन को देखते हुए 2019 में उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया था। वे सरकार में तकनीकी शिक्षा मंत्री थीं। वहीं, कमल रानी के परिवार के प्रति प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गहरी संवेदना व्यक्त की है।

    ये भी पढ़ें:- अलीगढ़: युवती ने छात्र को दी धमकी, कहा- शादी ना करने पर करूंगी रेप केस

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Uttar Pradesh cabinet minister Kamal Rami Varun died in PGI Hospital from coronavirus
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X