• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अस्पताल में एडमिट होने के लिए CMO की परमिशन हो खत्म, प्रियंका गांधी की CM योगी से अपील

|

लखनऊ, अप्रैल 20: कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने कोविड मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने के नियम को बदलने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। पत्र में प्रियंका गांधी ने कोरोना संक्रमित मरीजों को एडमिट करने के लिए सीएमओ की अनुमति की आवश्यकता खत्म करने की मांग की है। प्रियंका गांधी ने कहा कि मरीजों के परिजनों के लिए ये व्यवस्था भयंकर परेशानी का सबब बन गई है।

Priyanka Gandhi wrote to UP CM Yogi Adityanath demands make simple rules to admit in hospital

दरअसल, कोरोना वायरस महामारी की स्थिति उत्तर प्रदेश में भयावह हो गई है। पिछले 24 घंटों के अंदर कोरोना संक्रमण के 28 हजार 287 नए केस सामने आए है। वहीं, प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत कई जिलों में त्राहि-त्राहि मची हुई है। कोरोना संक्रमण की इस भयावह स्थिति को देखते हुए उत्तर प्रदेश प्रभारी व कांग्रेस की महाचिव प्रियंका गांधी ने पत्र लिखकर योगी सरकार से अपील की है कि प्रदेश में कई जगहों से ये खबर आ रही है कि कोविड मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने के लिए सीएमओ की अनुमति की आवश्यकता पड़ रही है।

प्रियंका गांधी ने पत्र में कहा है कि इस प्रक्रिया के चलते मरीजों को अस्पताल में भर्ती के लिए लम्बा इंतजार करना पड़ रहा है और उनके परिजन एक जगह से दूसरी जगह भागदौड़ कर रहे हैं। इस व्यवस्था के चलते कई लोगों की जान भी चली गई है। प्रियंका गांधी ने पत्र में कहा है कि इसी तरह की परिस्थिति ऑक्सीजन सिलिंडर के मामले में भी सामने आ रही है। ऑक्सीजन प्लांट्स और ऑक्सीजन फिलिंग केंद्रों पर बिना डीएम की अनुमति के किसी को ऑक्सीजन नहीं मिल रही है।

घर पर इलाज करा रहे मरीजों के लिए दिक्कत

उन्होंने पत्र में लिखा है कि सरकार ने कहा है कि कोविड संक्रमित 'सामान्य मरीज' (नॉन-सिरियस मरीज) होम क्वॉरंटीन में रहें। प्रियंका ने कहा कि ये कदम सरकार ने ही सुझाया है। सरकार के पास आज यह क्षमता नहीं है कि सभी कोविड मरीजों को अस्पताल में रख सके। ऐसे में जो मरीज होम क्वारंटीन हैं, अगर उनकी तबियत खराब होती है और उन्हें ऑक्सिजन की जरूरत पड़ती है तो उन्हें ऑक्सिजन कहां से मिलेगी? अस्पतालों में ऑक्सीजन वाले बेड की पहले से ही कमी है। ऐसे में जो लोग घर पर रहकर कोविड का इलाज कर रहे हैं- उनके लिए आपके (योगी) प्रशासन का यह कदम बहुत घातक है।

वीडियो जारी कर प्रियंका गांधी ने कही ये बात

इससे पहले प्रियंका गांधी ने वीडियो जारी कर कहा था कि, 'उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस महामारी की वजह से स्थित बहुत ज्यादा बिगड़ रही है। हर तरफ से खबरें आ रही हैं कि बेड, ऑक्सीजन और दवाईयों की कमी है। प्रदेश सरकार का धर्म है कि वह समस्या बढ़ाने और आंकड़ों को छुपाने की बजाए, समस्या को सुलझाने की कोशिश करे और सच्चाई सामने लाए। क्योंकि आज जो स्थित है वह सही नहीं है।'

85 लाख लोगों का हुआ वैक्सीनेशन: प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधी ने कहा कि 22 करोड़ लोगों में सिर्फ 85 लाख लोगों का वैक्सीनेशन हुआ है। भर्ती होने से पहले डीएम से स्लिप लेने की जरूरत पड़ रही है। हिंदुस्तान दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन उत्पादक है, लेकिन हिंदुस्तान में ही वैक्सीन की कमी हो रही है। क्योंकि पीआर के लिए वैक्सीन अलग-अलग देशों में भेजे जा रहे हैं। इसकी ठीक से प्लानिंग करनी चाहिए थी। नहीं की तो अभी भी समय है कि इसके लिए ठोस तरीके से प्लानिंग की जाए और मजबूती से कदम उठाए जाएं।

ये भी पढ़ें:- कोविड स्थिति को देखते हुए प्रियंका गांधी ने PM मोदी को घेरा, कहा- इस आपात स्थिति में हो गए नौ दो ग्यारह

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Priyanka Gandhi wrote to UP CM Yogi Adityanath demands make simple rules to admit in hospital
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X