• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अपहरण केस में विधायक Amanmani Tripathi भगोड़ा घोषित, MP-MLA कोर्ट ने जारी किया था गिरफ्तारी वारंट

|

Amanmani Tripathi Latest News, लखनऊ। निर्दलीय विधायक अमनमणि त्रिपाठी को लखनऊ की एमपी-एमएलए की विशेष अदालत ने भगोड़ा घोषित कर दिया है। अदालत ने यह कार्रवाई अपहरण के एक मामले में अमनमणि के पेश नहीं होने के बाद की है। इससे पहले एमपी-एमएलए की विशेष अदालत ने अमनमणि त्रिपाठी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था। बता दें कि अमनमणि त्रिपाठी, महाराजगंज के नौतनवा से निर्दलीय विधायक है और पूर्व मंत्री व हत्या के एक मामले में उम्र कैद की सजा काट रहे अमरमणि त्रिपाठी के पुत्र हैं।

MLA Amanmani Tripathi declared fugitive in kidnapping case

अपहरण के मामले दर्ज हुआ था मुकदमा

दरअसल, छह अगस्त, 2014 को गोरखपुर के ठेकेदार ऋषि कुमार पाण्डेय ने गौतमपल्ली थाने में एफआईआर कराई थी कि अमनमणि ने अपने साथियों के साथ उसे गाड़ी से अगवा कर लिया था। फिर रास्ते में पिटाई की और रंगदारी न देने पर जान से मारने की धमकी दी थी। इस मामले में पुलिस ने 28 जुलाई, 2017 को अमनमणि व अन्य आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट लगा दी थी। सरकारी वकील मुनेश यादव के मुताबिक अदालत में इस मामले की सुनवाई अंतिम दौर में है।

अमनमणि कोर्ट में नहीं हो रहे है हाजिर

इस मामले की सुनवाई के समय अभियुक्त संदीप त्रिपाठी और रवि शुक्ला हाजिर थे, लेकिन अमनमणि उपस्थित नहीं हुए। उनकी तरफ से हाजिरी माफी की अर्जी दी गई थी। इसमें अमनमणि ने खुद को बीमार बताया था। पर, यह साफ नहीं किया था कि वे दिल्ली के किस अस्पताल में भर्ती है और उन्हें क्या बीमारी है। जिसपर विशेष जज पवन कुमार राय ने इस मामले की अगली सुनवाई के लिए 11 फरवरी की तारीख तय की थी। लेकिन अमनमणि गुरुवार को भी कोर्ट में पेश नहीं हुई, जिसके बाद विशेष जज पीके राय ने उन्हेंने भगोड़ा घोषित कर दिया है। मामले की अगली सुनवाई चार मार्च को होगी।

पत्नी की हत्या का भी है आरोप

अगर अमनमणि त्रिपाठी चार मार्च को कोर्ट में हाजिर नहीं होते है तो उनकी संपत्ति कुर्क करने की कार्यवाही भी शुरू कर दी जाएगी। बता दें, अमनमणि त्रिपाठी पर पहली पत्नी की हत्या का आरोप है। अमनमणि ने 2013 में सारा सिंह से शादी की थी। 2015 में संदिग्ध परिस्थितियों में सारा की मौत हो गई थी। इसके बाद साल 2020 में अमनमणि ने दूसरी शादी कर ली थी।

लगातार बने रहते हैं सुर्खियों में

वैसे अमनमणि कई बार सुर्खियों में आते रहे हैं। साल 2020 में लॉकडाउन के दौरान वह उत्तराखंड में अपने साथियों के साथ गिरफ्तार किए गए थे। अमनमणि 11 लोगों के साथ बदरीनाथ जा रहे थे, उसी दौरान उन्हें उत्तराखंड के चमोली में पुलिस ने रोक लिया। उन्होंने पुलिस प्रशासन को जो पास दिखाया वह हैरान कर देने वाला था। उन्हें तीन राज्यों में जाने की अनुमति दी गई थी। पास में तीन कारों के नंबर और 11 लोगों को यात्रा की अनुमति थी। हालांकि, यूपी सरकार की तरफ से इस तरह की कोई भी अनुमति देने से इनकार कर दिया गया था।

ये भी पढ़ें:- अलीगढ़ में Jayant Chaudhary समेत पांच हजार पर केस दर्ज, पूछा- कब और कहां देनी है गिरफ्तारी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
MLA Amanmani Tripathi declared fugitive in kidnapping case
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X