• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

यूपी चुनाव 2022 की तैयारियों में जुटीं मायावती, संगठन में किए फेरबदल

|

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 में होने हैं। इसके लिए राजनीतिक दलों ने अभी से अपनी अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। बसपा प्रमुख मायावती ने मंडलीय मुख्य सेक्टर प्रभारियों की जिम्मेदारियों में नए सिरे से बदलाव किया है। मायावती ने शमसुद्दीन राईनी को सूबे के पांच मंडल के मुख्य सेक्टर प्रभारी के साथ उत्तराखंड के स्टेट कोऑर्डिनेटर की जिम्मेदारी सौंपी है। राईनी के पास सहारनपुर, मेरठ, मुरादाबाद और बरेली के साथ लखनऊ मंडल के सेक्टर-2 की जिम्मेदारी रहेगी। इसके अलावा वह उत्तराखंड की भी पूरी जिम्मेदारी संभालेंगे। वहीं, बसपा के प्रदेश अध्यक्ष मुनकाद अली को पश्चिमी यूपी से हटाकर पूर्वी यूपी की जिम्मेदारी दी है।

मुनकाद अली को मिली ये जिम्मेदारी

मुनकाद अली को मिली ये जिम्मेदारी

मायावती ने प्रदेश अध्यक्ष मुनकाद अली को उत्तराखंड के प्रभारी की जिम्मेदारी वापस लेते हुए मिर्जापुर, इलाहाबाद, वाराणसी और आजमगढ़ मंडल का सेक्टर प्रभारी बनाया है। हालांकि, वो साथ में सूबे के संगठन को भी देखने का काम करेंगे। वहीं, पूर्व सांसद घनश्याम खरवार को गोरखपुर, बस्ती, फैजाबाद व देवीपाटन मंडल की जिम्मेदारी दी गई है। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व राष्ट्रीय महासचिव आरएस कुशवाहा को कानपुर, चित्रकूट और झांसी मंडल की जिम्मेदारी दी गई है। उनसे वाराणसी का प्रभार ले लिया गया है।

अलीगढ़ और आगरा मंडल का काम देखेंगे नौशाद अली और गोरेलाल

अलीगढ़ और आगरा मंडल का काम देखेंगे नौशाद अली और गोरेलाल

नौशाद अली और गोरेलाल मिलकर अलीगढ़ और आगरा मंडल का काम ​सौंपा गया है। लखनऊ मंडल में बाराबंकी जिले को भी शामिल किया गया है। लखनऊ मंडल में 46 विधानसभा क्षेत्र आते हैं, इसलिए इस सेक्टर के लिए पूरी टीम तैयार की गई है और इसमें बाराबंकी को भी शामिल करते हुए दो सेक्टर में बांटा गया है। बसपा संगठन के लखनऊ मंडल के सेक्टर एक में लखनऊ, उन्नाव, रायबरेली जिले थे, जिनमें फैजाबाद मंडल के बाराबंकी जिले को भी जोड़ा गया है। इस सेक्टर को एमएलसी भीमराव अंबेडकर के साथ अखिलेश अंबेडकर, रामनाथ रावत, विनय कश्यप, महेंद्र सिंह जाटव, डॉ. सुशील कुमार मुन्ना, मो. वसीम, किशनलाल गौतम, विशाल प्रताप राव व आशा राम रावत देखेंगे। वहीं, सेक्टर-2 में हरदोई, लखीमपुर खीरी और सीतापुर जिले आते हैं, जिसकी कमान शमसुद्दीन राईनी के अलावा डॉ. रामकुमार कुरील, हरीश सैलानी, डॉ. विनोद भारती, चंद्रिका प्रसाद गौतम, राकेश कुमार गौतम, जयवीर गौतम, रणधीर बहादुर व मेवालाल वर्मा के हाथ में होगी।

बसपा संगठन में सेक्टर प्रभारी का पद होता है अहम

बसपा संगठन में सेक्टर प्रभारी का पद होता है अहम

बता दें, बसपा संगठन में सेक्टर प्रभारी सीधे पार्टी प्रमुख मायावती को रिपोर्ट करते हैं। ऐसे में यह पद काफी अहम होता है। बसपा में एक मंडल में तीन जिलों को शामिल किया जाता है। इन जिलों के लिए एक मंडल सेक्टर प्रभारी नियुक्त किया जाता है। मंडल सेक्टर प्रभारी की अपने क्षेत्र में आने वाले जिले में पार्टी संगठन के काम से लेकर प्रत्याशी के चयन तक में अहम भूमिका होती है।

क्या यूपी की 8 विधानसभा सीटों पर CM योगी को चुनौती दे पाएगा विपक्ष, जानिए कैसी है उनकी तैयारी?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mayawati made changes in bsp organization ahead of up assembly election 2022
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X