• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

मथुरा में 23 करोड़ के छात्रवृत्ति घोटाले में सीएम याेगी का एक्शन, जिला समाज कल्याण अधिकारी सस्पेंड, FIR के आदेश

|

Mathura Scholarship Scam: लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Cm Yogi Adityanath) ने मथुरा (Mathura) जिले में प्राइवेट आईटीआई संस्थानों में छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति में अनियमितता, भ्रष्टाचार और गबन के मामले में मथुरा के जिला समाज कल्याण अधिकारी करुणेश त्रिपाठी को सस्पेंड कर दिया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर सीएम योगी की इस कार्रवाई की जानकारी देते हुए बताया कि भ्रष्टाचार के दोषी पाए गए सभी अधिकारियों व कर्मचारियों के अलावा संबंधित संस्थाओं के खिलाफ एफआईआर कराई जाएगी। साथ ही संबंधित आईटीआई कॉलेजों को शुल्क प्रतिपूर्ति और छात्रवृत्ति के लिए ब्लैकलिस्ट किया जाएगा।

mathura scholarship scam cm yogi suspends social welfare officer

सीएम योगी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी जीरो टॉलरेंस की नीति के अनुरूप मथुरा जिले के 4 दर्जन से अधिक निजी आईटीआई कॉलेजों में हुए इस घोटाले की जांच के निर्देश दिए थे। जांच में अलग-अलग तरीकों से छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति के नाम पर करीब 23 करोड़ रुपए गबन होने की बात सामने आई। इसके अलावा दर्जन भर अधिकारियों व कर्मचारियों की मिलीभगत की पुष्टि भी हुई है। सीएम योगी ने सभी दोषी अधिकारियों, कर्मचारियों व संस्थाओं के खिलाफ एफआईआर कराने के आदेश दिए हैं। वहीं, जिला समाज कल्याण अधिकारी करुणेश त्रिपाठी को सस्पेंड करते हुए उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं।

तीन सदस्यीय जांच समिति ने पाया कि 11 मान्यताविहीन शिक्षण संस्थानों में करीब 253.29 लाख का गबन हुआ, जबकि 23 कॉलेजों में 5000 से अधिक छात्रों ने कोर्स ही पूरा नहीं किया और उन्हें करीब 969 लाख की छात्रवृत्ति मिल गई। कई निजी आईटीआई कॉलेजों में स्वीकृत सीट के सापेक्ष करीब पांच हजार दाखिले अतिरिक्त कर लिए गए। इन्हें भी छात्रवृत्ति दिलाई गई। वहीं, 38 कॉलेजों में 100 से अधिक समान नाम, पिता का नाम और समान जन्म तिथि वाले फर्जी छात्रों को भी शुल्क प्रतिपूर्ति कराई गई। यही नहीं फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर भी छात्रों के दाखिले करने और उन्हें छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति कराने का काम भी हुआ। सीएम योगी ने अब सभी दोषियों के खिलाफ एफआईआर करने के आदेश दिए हैं।

बता दें, मान्यताविहीन संस्थाओं में दाखिला लेने वाले छात्रों को परीक्षा में सम्मिलित करने के लिए स्टेट काउंसिल ​फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग लखनऊ की भूमिका भी संदिग्ध पाई गई है। अब इनके खिलाफ भी जांच होने की बात कही जा रही है।

योगी सरकार की मिशन शक्ति की मुहिम ला रही रंग, फैशन डिजाइनर मंजरी ग्रामीण महिलाओं को बना रहीं सशक्‍त

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
mathura scholarship scam cm yogi suspends social welfare officer
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X