• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

नौकरी के नाम पर अखिलेश यादव ने योगी सरकार को घेरा, कहा- नौजवानों के साथ भी किया धोखा

|
Google Oneindia News

लखनऊ, 28 जुलाई: सपा अध्यक्ष व यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार ने पहले किसानों को धोखा दिया और नौजवानों के साथ भी बड़ा धोखा किया है। अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने अपने संकल्प-पत्र (घोषणा-पत्र) में हर साल 70 लाख नौकरी देने का वादा किया था परन्तु नौकरी किसी को नहीं मिली।

ex cm akhilesh yadav criticizes yogi govt for not giving employment to youth

पूर्व सीएम ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में हुए लॉकडाउन के दौरान लाखों नौजवानों की नौकरियां छूट गई। खुद सरकारी आंकड़ों के अनुसार देश-प्रदेश में बेरोजगारी की दर के रिकार्ड टूट चुके हैं। भाजपा सरकार के पांच साल के कार्यकाल में अब चंद महीने ही बचे हैं। तमाम दावों के बावजूद न तो बाहर से पूंजी निवेश हो रहा है नहीं उद्योग लग रहें हैं। मध्यम और लघु उद्योगों की हालत खराब है। रोजगार के अवसर समाप्त हो रहे हैं। बेरोजगारी के इस दौर में लाखों नौकरियां बांटने का तमाशा हो रहा है जबकि आए दिन नौजवान धरना-प्रदर्शन कर रहे है और पुलिस उन पर लाठियां बरसा रही है। शासन-प्रशासन उनकी बात सुनना नहीं चाहता।

अखिलेश ने कहा कि एक सर्वे रिपोर्ट के अनुसार सन् 2018 में बेकारी दर 5.92 प्रतिशत थी जबकि 2019 में यह दर 9.97 प्रतिशत रही। यानी बेरोजगारी दर में दो गुनी से ज्यादा वृद्धि हुई। 2020 लॉकडाउन में निकल गया। 2021 में फिर कैसे बेरोजगारी की दर घट गई? इसका जवाब मुख्यमंत्री जी को देना चाहिए? फरवरी 2020 में भाजपा सरकार ने खुद माना था कि उत्तर प्रदेश में बेरोजगारों की संख्या लगभग 34 लाख पहुचं गई है जो कि 2018 के सरकारी आंकड़ों से यह संख्या 54 प्रतिशत अधिक बैठती है।

ये भी पढ़ें:- पेगासस जासूसी: अखिलेश ने कहा- भाजपा ने अपने नाम में 'जनता' शब्द लगाने का नैतिक अधिकार खो दियाये भी पढ़ें:- पेगासस जासूसी: अखिलेश ने कहा- भाजपा ने अपने नाम में 'जनता' शब्द लगाने का नैतिक अधिकार खो दिया

2020 फरवरी तक ही 12 लाख से अधिक युवाओं ने खुद को बेरोजगार बताकर सरकारी वेबसाइड पर अपने को पंजीकृत कराया था। मुख्यमंत्री ने 4 वर्ष की समाप्ति पर 4 लाख रोजगार देने का दावा कर प्रदेश के लाखों नौजवानों को सिर्फ गुमराह किया गया है। मुख्यमंत्री रोजगार देने के बजाय सिर्फ पोस्टरों, विज्ञापनों और होर्डिंगों के सहारे अपनी नेकनामी का बखान कर रहे हैं पर इस बात का क्या जवाब है कि इतने हवाई वादों के बाद भी नौजवान आत्महत्या क्यों कर रहे है? वस्तुतः सन् 2022 के चुनावों में अपनी हार निश्चित जानकर हताशा में भाजपा नेतृत्व और मुख्यमंत्री सच्चाई छुपाने का अभियान चला रहे हैं पर सच कभी छुपता नहीं और झूठ के पैर टिकते नहीं हैं।

English summary
ex cm akhilesh yadav criticizes yogi govt for not giving employment to youth
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X