• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

लखनऊ: ट्रेन के आगे कूदकर संविदाकर्मी ने दी जान, सुसाइड नोट में महिला IPS पर लगाए गंभीर आरोप

|
Google Oneindia News

लखनऊ। खबर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से है। यहां एक संविदाकर्मी ने हसनगंज क्रॉसिंग पर ट्रेन के आगे कूदकर सुसाइड कर लिया। सुसाइड करने से पहले संविदाकर्मी ने खुद पुलिस कंट्रोल रूम को कॉल कर आत्महत्या करने की सूचना दी थी। पुलिस उसे बचाने के लिए मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक काफी देर हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं, मृतक के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने एक महिला आईपीएस अधिकारी पर जिंदगी बर्बाद करने का आरोप लगाया है।

    Lucknow में युवक ने Train के आगे कूदकर की Suicide, महिला IPS पर लगाए ये बडे आरोप | वनइंडिया हिंदी

    Contract worker Vishal Saini jumped in front of train

    विशाल सैनी (26) चांदगंज छपरतल्ला का रहने वाला था और सचिवालय में कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर तैनात था। हसनगंज थाने के प्रभारी निरीक्षक अमरनाथ वर्मा ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि विशाल सैनी ने बुधवार (10 मार्च) सुबह रैदास मंदिर रेलवे क्रासिंग के पास ट्रेन के सामने कूदकर खुदकुशी कर ली। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। वहीं उसके पास से एक सुसाइड नोट मिला। खुदकुशी की सूचना परिवारीजनों को दी गई है। मामले की जांच की जा रही है।

    खुद दी थी पुलिस को सुसाइड की सूचना
    विशाल सैनी ने खुद ही पुलिस कंट्रोल रूम को कॉल कर सुसाइड की सूचना दी। जिसमें उसने कहा था कि वह आत्महत्या करने जा रहा है। इसकी सूचना के बाद पुलिस हरकत में आई और मौके पर पहुंची। लेकिन तब तक काफी देर हो गई थी। हालांकि, पुलिस ने विशाल सैनी का शव कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। इस दौरान संविदा कर्मचारी विशाल सैनी के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला।

    आईपीएस पर लगाया जिंदगी बर्बाद करने का आरोप
    सुसाइड नोट में विशाल सैनी ने आईपीएस प्राची सिंह पर गंभीर आरोप लगाए है। सुसाइड नोट में उसने लिखा है कि 'मैं विशाल सैनी पुत्र अर्जुन सैनी अपने पूरे होशो हवास में आत्महत्या कर रहा हूं, जिसकी जिम्मेदार प्राची सिंह आईपीएस हैं। जिन्होंने मेरा कैरियर खराब कर दिया है। जिसकी वहज से समाज में मैं नजरे उठाकर नहीं चल पा रहा हूं। मुझे घुटन सी हो रही है। मेरे परिवार से मैं नजरें नहीं मिला पा रहा हूं। प्राची सिंह आईपीएस 2017 बैच इनको कड़ी से कड़ी सजा होना चाहिए। जिससे ये निर्दोष लोगों को जेल न भेजें। अपने पद का गलत इस्तेमाल न करें, अपने प्रमोशन के चक्कर में कई निर्दोषों को सजा न दें। मैं बेकसूर था मुझे सेक्स रैकेट में प्राची सिंह ने फंसाया है। मम्मी पापा अपना ख्याल रखना। एलआईसी से जो पैसा मिले उसे अपने मकान के लिए उपयोग करना। आपका लाडला विशाल सैनी।'

    स्पा सेंटर पर पुलिस ने मारा था छापा
    दरअसल, 13 फरवरी को आईपीएस प्राची सिंह ने इंदिरा नगर में स्टाइल इन दी ब्यूटी सैलनू और स्पा सेंटर पर छापेमारी की थी, इस दौरान 5 महिलाओं को हिरासत में लिया गया था, उनके साथ पकड़े गए मृतक विशाल को भी जेल भेज दिया गया था। हालांकि, विशाल को चार मार्च को जमानत मिल गई थी। जेल से छूट के आने के बाद वह मानसिक रूप से प्रताड़ित था।

    पुलिस कमिश्नर ने आरोपों का बताया निराधार
    इस मामले पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने कहा कि आरोप निराधार हैं। मृतक विशाल सैनी के द्वारा 13 फरवरी से लेकर आत्महत्या किए जाने से पहले तक या परिवार जन मित्रों द्वारा पुलिस टीम के विरुद्ध कोई शिकायत आदि नहीं की गई थी। इस मामले में पुलिस ने अपना कार्य किया था। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

    ये भी पढ़ें:- Kannauj: मामूली विवाद में दोस्त ने की थी सूरज की हत्या, पुलिस ने तीनों हत्यारोपियों को भेजा जेलये भी पढ़ें:- Kannauj: मामूली विवाद में दोस्त ने की थी सूरज की हत्या, पुलिस ने तीनों हत्यारोपियों को भेजा जेल

    English summary
    Contract worker Vishal Saini jumped in front of train
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X