• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

लखनऊ: हाईकोर्ट के आदेश पर हो सका डीआईजी पर धोखाधड़ी का केस, सालभर पीड़ित को परेशान करती रही पुलिस

|

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पुलिस महकमे में पद और शक्ति के दुरुपयोग का बड़ा मामला सामने आया है। पीड़ित ने हाईकोर्ट की शरण ली तब जाकर आरोपी डीआईजी, उनकी पत्नी और दरोगा समेत चार लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज हो पाया। पीड़ित रमेश गुप्ता के मुताबिक, पुलिस वायरलेस विभाग में डीआईजी अनिल कुमार ने उनको अपना फ्लैट बेचा था लेकिन पांच लाख एडवांस लेने के बावजूद उनको पहले फ्लैट का कब्जा दिया और उसके बाद बेदखल कर दिया। इस मामले में डीआईजी ने पीड़ित को धमकाया और अपनी पत्नी के माध्यम से छेड़खानी का मुकदमा भी हजरतगंज थाने में दर्ज करा दिया। पीड़ित ने बताया कि पुलिस महकमे में एक साल से उनकी शिकायत पर कोई सुनवाई नहीं हो रही थी तब जाकर वे हाईकोर्ट में गए। हाईकोर्ट ने मामले में डीजीपी एच सी अवस्थी को अवमानना नोटिस जारी किया जिसके बाद मुकदमा दर्ज हो सका है।

Case of fraud against DIG, wife and two others on the direction of High court

पीड़ित रमेश गुप्ता के मुताबिक, हाईकोर्ट के आदेश पर डीआईजी अनिल कुमार, उनकी पत्नी पुष्पा अनिल, चंद्रपाल सिंह और दरोगा बृजेश कुमार सिंह पर धोखाधड़ी का मुकदमा थाना महानगर लखनऊ में दर्ज हो गया है। कल्याणपुर, गुडंबा निवासी कारोबारी रमेश गुप्ता ने बताया कि डीआईजी अनिल कुमार और उनकी पत्नी ने महानगर के इंदिरा दर्शन रेजीडेंसी में स्थित फ्लैट 60 लाख रुपए में बेचने का वादा किया। इसके लिए डीआईजी ने 5 लाख रुपए एडवांस भी ले लिया। फिर फ्लैट का कब्जा भी दे दिया। इसके बाद रमेश गुप्ता ने फ्लैट की रंगाई-पुताई शुरू की। इस बीच डीआईजी अनिल कुमार ने उनको फ्लैट से बेदखल कर दिया और पैसा भी नहीं लौटाया।

Case of fraud against DIG, wife and two others on the direction of High court

रमेश गुप्ता ने बताया कि फ्लैट के लिए एडवांस और रंगाई-पुताई समेत अन्य मरम्मत के काम में करीब 6 लाख 40 हजार खर्च हो गए। पैसे मांगने पर डीआईजी अनिल कुमार ने धमकाया और पत्नी पुष्पा अनिल ने उनके खिलाफ छेड़खानी का मुकदमा दर्ज करा दिया। एक साल से रमेश गुप्ता पुलिस थाने में एफआईआर के लिए दौड़ते रहे लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद रमेश गुप्ता हाईकोर्ट चले गए जहां से फैसला उनके पक्ष में आया है। हाईकोर्ट ने डीजीपी एच सी अवस्थी को इस मामले में नोटिस जारी कर दिया जिसके बाद केस दर्ज हो गया। रमेश गुप्ता ने बताया कि उनकी इस लड़ाई में आईपीएस अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी नूतन ठाकुर ने साथ दिया। डीआईजी की पत्नी पुष्पा अनिल ने पहले भी आईपीएस अमिताभ ठाकुर पर उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया था जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था।

BSP सांसद अफजाल अंसारी की पत्नी के खिलाफ लखनऊ में FIR, जानें क्या है मामला?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Case of fraud against DIG, wife and two others on the direction of High court
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X