• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कानून मंत्री बृजेश पाठक ने अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य को लिखी चिट्ठी, कहा- लखनऊ में लगाना पड़ सकता है 'लॉकडाउन'

|
Google Oneindia News

Lucknow, Apr 13: कोरोना वायरस संक्रमण उत्तर प्रदेश में बेकाबू हो चला है। तो वहीं, समय से एंबुलेंस न मिलने के कारण प्रख्‍यात इतिहासकार, लेखक और संगीतकार पद्मश्री डॉ योगेश प्रवीण की भी मौत हो गई। इसको लेकर प्रदेश के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक ने प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग व प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा को एक चिट्ठी लिखी है। जिसमें उन्होंने कहा है कि अगर खराब व्यवस्था पर ध्यान नहीं दिया गया तो लखनऊ में लॉकडाउन लगाना पड़ सकता है।

Brijesh Pathak wrote a letter to Additional Chief Secretary Health in view of Coronavirus infection
    Lockdown in Uttar Pradesh: Corona से Lucknow में हालात बुरे, लग सकता है Lockdown | वनइंडिया हिंदी

    योगी सरकार के कानून मंत्री बृजेश पाठक ने अपनी चिट्ठी में लिखा, 'अत्यन्त कष्ट के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि वर्तमान समय में लखनऊ जनपद में स्वास्थ्य सेवाओं का अत्यन्त चिन्ताजनक हाल है।' पाठक ने लिखा है कि प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना की जांच बंद हो गई है, जो बेहद गलत है। शहर में इस वक्त 17 हजार कोविड जांच किटों की ज़रूरत है, लेकिन 10 हजार ही मिल रही हैं। मंत्री का कहना है कि लोग लगातार मदद के लिए फोन कर रहे हैं, लेकिन सुविधा नहीं हैं इसलिए मदद भी नहीं हो पा रही है।

    इतना ही नहीं, मंत्री ने शिकायत की है कि स्वास्थ्य अधिकारी के दफ्तर में फोन नहीं उठाया जाता है, जिसके कारण दिक्कतें हो रही हैं। मंत्री ने अपनी चिट्ठी में अपील की है कि अस्पतालों में बेड्स की संख्या तुरंत बढ़ाई जाए, टेस्टिंग पर भी ज़ोर दिया जाए। उन्होंने कहा कि कोविड जनित परिस्थितियों को यदि शीघ्र नियंत्रित न किया गया तो हमें इसकी रोकथाम के लिए लखनऊ में लॉकडाउन लगाना पड़ सकता है। चिट्ठी में लिखा कि जिले में प्रतिदिन चार से पांच हजार कोरोना के मरीज मिल रहे हैं। अस्पतालों में बेड की संख्या बेहद कम है। लखनऊ के प्राइवेट पैथोलॉजी सेंटरों में जांच बंद करा दी गई है और सरकारी अस्पतालों में कोविड की जांच में कई दिनों का समय लग रहा है।

    यहां पढ़ें पूरा पत्र

    Brijesh Pathak wrote a letter to Additional Chief Secretary Health in view of Coronavirus infection

    बता दें कि उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने कोरोना संक्रमण को लेकर जानकारी साझा की। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोविड संक्रमण के 13685 नए मामले सामने आए हैं। तो वहीं, 72 मरीजों की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई, जबकि 3197 मरीज संक्रमण मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं। इस दौरान उन्होंने जिलेवार मरीजों की संख्या का डाटा भी जारी किया है।

    बताया कि 614819 संक्रमण मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं। प्रदेश में वर्तमान में कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 81576 हो गई है जबकि 9224 लोगों की संक्रमण से मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग से जारी रिपोर्ट के अनुसार, प्रदेश में सर्वाधिक मौतें लखनऊ, 21, प्रयागराज 15, कानपुर नगर 05, गोरखपुर 03, मुजफ्फर नगर, बाराबंकी, अयोध्या, जौनपुर, शाहजहांपुर, रायबरेली, सोनभद्र, जालौन में 02-02, वाराणसी, गाजियाबाद, मेरठ, मुरादाबाद, सहारनपुर, बलिया, गोंडा, फर्रुखाबाद, बांदा, पीलीभीत, अमेठी, एटा में 01-01 मरीज की मौत हुई है।

    ये भी पढ़ें:- नोएडा में कोविड के नाम पर मनमाना शुल्क नहीं वसूल सकेंगे प्राइवेट अस्पताल, फिक्स हुई इलाज की दरेंये भी पढ़ें:- नोएडा में कोविड के नाम पर मनमाना शुल्क नहीं वसूल सकेंगे प्राइवेट अस्पताल, फिक्स हुई इलाज की दरें

    English summary
    Brijesh Pathak wrote a letter to Additional Chief Secretary Health in view of Coronavirus infection
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X