• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

सीएम योगी आदित्यनाथ से मिला भाकियू प्रतिनिधिमंडल, कृषि बिल के खिलाफ 25 को करेंगा चक्का जाम

|

लखनऊ। किसानों से जुड़ा विधेयक दोनों सदनों में पास हो गया है, लेकिन इस विधेयक पर सियासत अभी रुक नहीं रही। वहीं, कृषि विधेयक के खिलाफ किसानों का संघर्ष और तेज हो चला है। बुधवार को भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी राकेश टिकैत के नेतृत्व में किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। इस बैठक में प्रतिनिधिमंडल ने सीएम योगी से हाल ही में संसद से पारित हुए कृषि सुधार विधेयकों और किसानों की अन्य समस्याओं को लेकर चर्चा की।

bhartiya kisan union delegation meets CM Yogi Adityanath

सीएम योगी आदित्यनाथ से वार्ता में गन्ना मूल्य भुगतान, गन्ने का मूल्य बढ़ाये जाने, शुगर केन एक्ट धारा (17) 3 को समाप्त किये जाने, प्रदेश में भूमि अधिग्रहण कानून 2013 के अनुसार किसानों को मुआवजा न दिये जाने व बिना मुआवजा दिए किसानों की तैयार फसलों को नष्ट किये जाने आदि समस्याओं के संबंध में वार्ता की। जिस पर मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि नए सत्र की शुरूआत से पहले किसानों का गन्ना भुगतान कराया जायेगा। मुख्यमंत्री से भेंट के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया है कि परियोजनाओं के निर्माण में अधिग्रहीत जमीन पर कब्जा लेने के लिए फसल काटने हेतु किसानों को पर्याप्त समय दिया जायेगा।

बैठक में फसलों की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर हो इसके लिये आवश्यक कदम उठाने, बिजली की दरों में वृद्धि न किये जाने पर भी चर्चा हुई। जिस पर मुख्यमंत्री ने किसानों की सभी समस्याओं का समाधान किए जाने का भरोसा दिलाया। हालांकि, सीएम योगी से वार्ता के बाद भारतीय किसान यूनियन नेताओं ने 25 सितंबर को चक्का जाम के फैसले पर कायम रहने की बात कही। राकेश टिकैत ने मीडिया से कहा कि भाकियू केंद्र सरकार द्वारा कृषि पर पारित किए गए काले कानूनों के खिलाफ देश भर में 25 सितंबर को चक्का जाम करेगा और समर्थन मूल्य व खरीद की गारंटी कानून बनने तक आन्दोलन जारी रहेगा।

बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि सीएम योगी ने आदित्यनाथ भारतीय किसान यूनियन को आश्वासन दिया है कि यूपी में एमएसपी के नीचे प्राइवेट मंडियां खरीद नहीं करेंगी। इसके अलावा विकास कार्यों के लिए चल रहे प्रदेश भर में जमीन अधिग्रहण में आने वाले खेत में अगर फसलें हैं तो उन्हें उजाड़ा नहीं जाएगा। सीएम ने आश्वासन दिया है कि बिजली और पानी से जुड़ी किसानों की समस्याओं का भी समाधान किया जाएगा। प्रतिनिधिमंडल में चौधरी राकेश टिकैत राष्ट्रीय प्रवक्ता, राजेश सिंह चौहान राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, मैनपाल सिंह चौहान राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, हरिनाम सिंह वर्मा प्रदेश उपाध्यक्ष, सरदार अजीत सिंह मंडल अध्यक्ष बरेली मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें:- प्रियंका गांधी ने कृषि बिल के मुद्दे पर भाजपा से पूछा सवाल, अखिलेश ने कहा- 'ए मेरे भोले किसान, दुश्मन को पहचान'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
bhartiya kisan union delegation meets CM Yogi Adityanath
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X