• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति पर दर्ज हुई एक और FIR, पूर्व निदेशक ने किया धोखाधड़ी और धमकाने का केस

|

लखनऊ। पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। चार सितंबर को मिली रिहाई के बाद उन्हें 12 सितंबर को दोबारा जेल जाना पड़ा था। तो वहीं, अब गायत्री प्रसाद प्रजापति के खिलाफ उनकी ही कंपनी के पूर्व निदेशक बीबी चौबे ने भी मोर्चा खोल दिया है। बृज भवन ने गोमतीनगर थाना में पूर्व मंत्री, उनके बेटे अनिल प्रजापति और गायत्री पर रेप का आरोप लगाने वाली महिला समेत चार लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी, रंगदारी, धमकाने और साजिश रचने के आरोप में केस दर्ज कराया है।

Another FIR lodged against former mining minister Gayatri Prajapati

दर्ज हुई दूसरी एफआईआर

गायत्री के खिलाफ इस सप्ताह दर्ज यह दूसरी एफआईआर है। इससे पूर्व गाजीपुर थाना में गायत्री पर रेप का आरोप लगाने वाली महिला के अधिवक्ता दिनेश चंद्र त्रिपाठी ने मुकदमा दर्ज कराया था। गोमतीनगर विस्तार के इंस्पेक्टर अखिलेश पांडेय की मानें तो बृज भवन चौबे गोमतीनगर विस्तार के खरगापुर सरस्वतीपुरम में रहते हैं। वह पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की कंपनी में निदेशक थे। बृज भवन का आरोप है कि गायत्री ने महिला को रेप के मामले में पक्षद्रोही बनने के लिए जो मकान व जमीनें दीं, वह उनकी थीं। इंस्पेक्टर अखिलेश पाण्डेय के मुताबिक, इस मामले की जांच की जा रही है।

रेप का आरोप लगाने वाली महिला को दी थी जमीन

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीबी चौबे ने एफआईआर में कहा कि गायत्री ने रेप का आरोप लगाने वाली महिला को मैनेज करने के लिए जो मकान और जमीनें दीं, वह उनकी थीं। जब गायत्री की जमानत हाईकोर्ट से निरस्त हो गई तो उन्होंने अपने बेटे अनिल प्रजापति के माध्यम से महिला से संपर्क किया था। बीबी चौबे ने बताया कि करीब एक करोड़ रुपए की संपत्तियां मिलने के बाद भी महिला का लालच खत्म नहीं हुआ और उसने और जमीन की मांग की। इस पर पूर्व मंत्री और उनके बेटे अनिल ने बीबी चौबे से उनकी व पत्नी के नाम से खरगापुर में स्थित 90 लाख रुपए कीमत के दो प्लाट महिला के नाम करने को कहा।

पूर्व मंत्री दी थी जान से मारने की धमकी

बीबी चौबे की मानें तो उन्होंने अपनी और पत्नी के दोनों प्लाट का बैनामा करने से इनकार किया तो पूर्व मंत्री ने जान से मारने और पूरे परिवार को झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी। डर के मारे बृज भवन ने 4 अगस्त 2018 को अपना और पत्नी का प्लाट महिला के नाम कर दिया। इसके अलावा पूर्व मंत्री ने मुकेश के नाम से खरीदी गई बेनामी संपत्तियों को बेचकर उसका नकद रुपया महिला को पहुंचाने के लिए भी कहा। उन्होंने कहा कि पूर्व मंत्री के कहने पर उन्होंने अपने रिश्तेदारों और करीबियों से रुपया उधार लेकर मंत्री के आदमियों को करोड़ों रुपये दिए, जिसे महिला के बैंक खातों में डलवाया गया। बृज भवन का कहना है कि महिला उनसे और जमीन मांग रही है।

ये भी पढ़ें:- पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति फिर हुए गिरफ्तार, कोर्ट ने 14 दिन के लिए भेजा जेल

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Another FIR lodged against former mining minister Gayatri Prajapati
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X