• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

हनुमान पांडेय ने काटी थी कृष्णानंद राय की चोटी, मुख्तार अंसारी ने फोन पर कहा था, चुटिया काट लिहिन

|

लखनऊ। उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने रविवार को एक लाख के इनामी बदमाश हनुमान पांडेय को मुठभेड़ में मार गिराया था। मुख्तार अंसारी का शूटर रहा हनुमान पांडेय 2005 में हुए भाजपा विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड का आरोपी था। इस हत्याकांड से जुड़ा एक सनसनीखेज ऑडियो वायरल हुआ है जिसमें मुख्तार अंसारी और माफिया अभय सिंह की बातचीत रिकॉर्ड है। इसमें मुख्तार अंसारी अभय सिंह से कोड भाषा में कृष्णानंद राय की हत्या पर बात कर रहा है। वह कह रहा है कि...चुटिया काट लिहिन, जय श्रीराम..मुट्ठी में है। इस ऑडियो में क्या कहा गया है इस बारे में आईजी एसटीएफ अमिताभ यश ने खुलासा किया है।

फैजाबाद जेल से अभय सिंह ने किया था मुख्तार को फोन

फैजाबाद जेल से अभय सिंह ने किया था मुख्तार को फोन

15 साल पहले कृष्णानंद राय हत्याकांड के बाद की यह कॉल रिकॉर्डिंग सामने आई है जिसमें फैजाबाद जेल में बंद माफिया अभय सिंह ने गाजीपुर जेल में बंद मुख्तार अंसारी को फोन किया था। एसटीएफ ने इस कॉल को इंटरसेप्ट किया था। एसटीएफ आईजी अमिताभ यश ने इस ऑडियो की पुष्टि करते हुए बताया कि माफिया अभय सिंह ने जमीन डील को लेकर मुख्तार अंसारी को फोन किया था। दोनों माफिया के बीच बातचीत में कृष्णानंद राय हत्याकांड की हत्या का भी जिक्र आया था।

एसटीएफ आईजी ने बताया- चोटी काट ली..का मतलब

एसटीएफ आईजी ने बताया- चोटी काट ली..का मतलब

अभय सिंह से बात करते-करते मुख्तार अंसारी कहने लगा कि मुन्ना बजरंगी और कृष्णानंद राय के बीच गोली चल रही है। आगे मुख्तार अंसारी ने कहा कि 'चोटि काट लिहिन, जय श्रीराम'। एसटीएफ आईजी अमिताभ यश ने बताया कि कृष्णानंद राय चोटी रखते थे, यहां मुख्तार अंसारी उनके बारे में ही बता रहा था। जिस हनुमान पांडेय को पुलिस ने रविवार को मुठभेड़ में मार गिराया, उसने कृष्णानंद राय की हत्या के बाद चोटी काट ली थी। बताया जाता है कि इस चोटी को मुख्तार अंसारी को दिया गया था। माफिया अभय सिंह से बातचीत में मुख्तार अंसारी ने भाजपा विधायक कृष्णानंद के बारे में कोड भाषा में बोलते हुए जय श्रीराम कहा था। कृष्णानंद राय जय श्रीराम बोलते थे।

राकेश पांडेय का नाम कैसे पड़ा हनुमान

राकेश पांडेय का नाम कैसे पड़ा हनुमान

एसटीएफ आईजी ने बताया कि कृष्णानंद राय हत्याकांड के सिलसिले में मुख्तार अंसारी और हनुमान उर्फ राकेश पांडेय एक ही जेल में बंद था। राकेश पांडेय मुख्तार अंसारी की खूब सेवा करता था और वह भजन-कीर्तन भी करता था। इस पर मुख्तार अंसारी ने उसको हनुमान नाम दिया था। कृष्णानंद राय हत्याकांड में सीबीआई कोर्ट ने सबूतों और गवाहों के अभाव में आरोपियों को बरी कर दिया था। कृष्णानंद हत्याकांड का मामला अभी भी अदालत में चल रहा है। इस हत्याकांड में सात लोगों की जान गई थी। हनुमान पांडेय को पुलिस ने लखनऊ के सरोजनी नगर में मुठभेड़ में मार गिराया। हनुमान पांडेय के पिता का आरोप है कि पुलिस ने उसको घर से ले जाकर मार डाला। वकील विशाल तिवारी ने हनुमान पांडेय मुठभेड़ की निष्पक्ष जांच को लेकर सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका डाली है।

हनुमान पांडेय के एनकाउंटर पर पिता ने उठाए सवाल, कही ये बात

Fire Breaks Out At Shrey Hospital In Ahmedabad

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
After Krishnanand Rai murder Mukhtar Ansari talked on phone about killing
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X