• search
कानपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

डिप्रेशन में पिता ने मासूम बेटे का गला दबाकर की हत्या, फिर पत्नी से बोला- 'चैन की नींद सो गया बेटा'

|

कानपुर। खबर उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले से है, यहां बरोजगारी झेल रहा एक शख्स इस कदर डिप्रेशन का शिकार हुआ, कि उसने अपने ही सात साल के मासूम बेटे की हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपी ने पत्नी को नींद से जगाया और बोला कि अब चैन की नींद सो गया बेटा। पति के यह शब्द सुनते ही पत्नी दौड़कर अपने बेटे के पास गई, जहां उसे उसका बेटा मृत मिला। तो वहीं, इस घटना के बाद पूरे परिवार में कोहराम मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस और फरेंसिक टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण किया और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, हत्यारोपी पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

    डिप्रेशन में पिता ने मासूम बेटे का गला दबाकर की हत्या, फिर पत्नी से बोला- 'चैन की नींद सो गया बेटा'

     seven-year-old innocent son killed by father in kanpur

    लॉकडाउन के बाद नहीं रहा था कोई रोजगार

    हत्यारोपी की पत्नी का कहना है कि वह पूरे परिवार को मारना चाहता था, उसने सभी को नींद की गोलियां दी थी। ताकि वो सभी भी चैन की नींच सो सके। बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण दौरान हुए लॉकडाउन के बाद कोई रोजगार नहीं था, जिसके चलते वो काफी परेशान था। जानकारी के मुताबिक, घटना सीसामऊ थाना क्षेत्र स्थित लकड़मंड़ी इलाके की है। बता दें कि अलंकार श्रीवास्तव (42) शेयर मार्केट का काम करता था। इसके साथ ही प्राइवेट जॉब भी करता था। अलंकार की पत्नी सारिका कन्नौज में रदौरा गांव स्थित प्राइमरी स्कूल में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात हैं। परिवार में दो बेटियां तुलिका (15) और खुशी (10) के साथ ही एकलौता बेटा रूषांक भी था।

    रुषांक पति अलंकार को मानता था अपना रोल मॉडल

    अलंकार सबसे ज्यादा प्यार अपने बेटे रूषांक को करते थे। रूषांक भी अपने पिता को अपना रोल मॉडल मानता था, पिता के बिना बेटा खाना नहीं खाता था। हत्यारोपी की पत्नी सारिका ने मीडिया को बताया कि शुक्रवार को अलंकार ने पूरे परिवार के लिए केसर वाला दूध बनाकर पीने के लिए दिया था। दूध पीने के बाद दोनों बेटियों के साथ मैं भी सो गई थी। बेटे रूषांक को गर्मी लगने पर अंलकार ने उसे बाहर के कमरे में पड़े सोफे पर लिटा दिया था। सारिका ने बताया कि शनिवार सुबह लगभग 5 बजे अलंकार ने आकर मुझे जगाया था।

    'चैन की नींच सो गया है बेटा'

    अलंकार ने मुझसे कहा कि अब बेटा चैन की नींद सो रहा है। मैंने भागते हुए बाहर जाकर देखा तो रूषांक का शव पड़ा हुआ था। सारिका ने बताया कि लॉकडाउन के पहले अलंकार का काम ठीक चल रहा था। लेकिन लॉकडाउन के बाद उसकी नौकरी छूट गई थी। तो वहीं, समाज के तानों के कारण वह मानसिक रूप से भी परेशान रहने लगे थे। सीसामऊ इंस्पेक्टर महेशवीर सिंह के मुताबिक, हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। उससे पूछताछ की जा रही है। इसके साथ पत्नी की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। बच्चे का पोस्टमॉर्टम कराया जा रहा है।

    ये भी पढ़ें:- UP: 'लव जिहाद' का पहला मुकदमा बरेली में हुआ दर्ज, धर्म परिवर्तन कर शादी करने का बना रहा था दबाव

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    seven-year-old innocent son killed by father in kanpur
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X