India
  • search
कानपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Kanpur के मुस्लिम युवा भी लेंगे 'अग्निपथ' योजना में हिस्सा, जुमे की नमाज के बाद मस्जिदों से होगी ये घोषणा

|
Google Oneindia News

कानपुर, 24 जून: केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने 14 जून को 'अग्निपथ' भर्ती योजना की घोषणा की थी। इस घोषणा के बाद भर्ती देख रहे नौजवान सड़क पर उतर आए और प्रदर्शन करने लगे थे। बिहार, उत्तर प्रदेश के अलाव कई राज्यों से हिंसक प्रदर्शन की खबरे भी सामने आई थी। तो वहीं, अग्निपथ योजना से जुड़ी एक अच्छी खबर उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले से सामने आई है। यहां जुमे की नमाज के बाद मस्जिदों से अपील की जाएंगी कि मुस्लिम युवा अग्निपथ योजना में बढ़चढ़कर हिस्सा लें।

    Kanpur Agnivir बनने के लिए जुमा में मस्जिदों से होगी अपील | वनइंडिया हिंदी | *News
    मुस्लिम युवाओं का किया जाएगा प्रेरित

    मुस्लिम युवाओं का किया जाएगा प्रेरित

    मुस्लिम शिक्षा के क्षेत्र में सक्रिय संस्था की तरफ से यह पहल शुरू की गई है और पहला का हिस्सा कानपुर शहर के आधा दर्जन से ज्यादा मस्जिद बनेंगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुस्लिम युवाओं को भारतीय सेना में भर्ती होने के लिए प्रेरित किया जाएगा। युवा का प्रेरित करने के लिए मस्जिदों के इमामों का सहारा भी लिया जाएगा। तो वहीं, आल इंडिया सुन्नी उलेमा काउन्सिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष हाजी मोम्मद सलीम ने बताया कि इससे नौजवानों में अनुशासन आएगा औऱ उन्हें रोजगार भी मिलेगा। साथ ही देशसेवा में भागेदारी बढ़ेगी।

    मस्जिदों से किया जाएगा ऐलान

    मस्जिदों से किया जाएगा ऐलान

    हाजी सलीस ने कहा कि हमारी नानपारा मस्जिद, जाजमऊ मस्जिद, कल्याणपुर मस्जिद समेत आधा दर्जन मस्जिदों के इमामों से बात हो गई है, जहां से आज अग्निपथ योजना में शामिल होने की अपील की जाएगी। इतन ही नहीं, उन्होंने बताया कि इसके बाद शहर की चार सौ मस्जिदों को हम लेटर लिखकर इस योजना के प्रचार-प्रसार की अपील करने को कहेंगे। हम चाहते हैं कि अग्निपथ योजना में मुस्लिम भी शामिल हों। आपको बता दें कि हाजी सलीस, मुस्लिम समाज के मुद्दों को राष्ट्रीय स्तर पर उठाते रहे हैं।

    अग्निवीर बनने की मुस्लिम युवाओं दी सलाह

    अग्निवीर बनने की मुस्लिम युवाओं दी सलाह

    वहीं, एसोसिएशन ऑफ मुस्लिम प्रोफेशनल्स (एएमपी) ने भी मुस्लिम युवाओं को अग्निवीर बनने के आवेदन करने की सलाह दी है। इसी के साथ-साथ शाहिद कामरान, शहर काजी सगीर आलम हबीबी और हाफिज अब्दुल रहीम ने भी कहा है कि मुस्लिमों को भी बड़ी संख्या में सेना में भर्ती होकर देश सेवा के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक संख्या में आवेदन कराए जाएं। www.mod.gov.in पर इस योजना के बारे जानकारी ले सकते हैं। अग्निवीर बनने के अनेक लाभ हैं और ज्यादा से ज्यादा युवाओं को आवेदन करना चाहिए।

    क्या है अग्निपथ योजना?

    क्या है अग्निपथ योजना?

    14 जून को केंद्र सरकार द्वारा जारी अग्निपथ योजना के तहत भारतीय सेना में चार साल के लिए युवाओं की भर्ती किया जाएगा। इसके लिए आयु सीमा 17 से 21 साल के बीच रखी गई है। हालांकि, इस योजना के विरोध के बाद आयु सीमा तो बढ़कर 23 साल तक कर दिया गया है। यानी 17 से 23 साल तक के युवा आवेदन कर सकते हैं। अग्निवीरों को हर महीने 30 हजार रुपए की सैलरी मिलेगी। इसके अलावा 48 लाख रुपए का बीमा कवर भी मिलेगा। सेवा के दौरान शहीन होने या दिव्यांग होने पर 44 लाख रुपए तक का मुआवजा मिलेगा।

    Comments
    English summary
    Muslim youth of Kanpur will also take part in 'Agneepath' scheme
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X