• search
कानपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कानपुर: कोरोना संक्रमित दो मरीजों की गई आंख की रोशनी, ब्लैक फंगस की रिपोर्ट थी नेगेटिव

|
Google Oneindia News

कानपुर, 17 जून: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में कोरोना संक्रमित दो मरीजों की आंख की रोशनी चली गई। इन मरीजों में ब्लैक फंगस की पुष्टि भी नहीं हुई थी। विशेषज्ञों ने बताया कि इन मरीजों रेटिनल आर्टरी ब्लॉक होने से रोशनी चली गई है। अब विशेषज्ञ इस पर मंथन करने पर विचार कर रहे हैं, जिससे आगे आने वाले ऐसे रोगियों की आंखों को खराब होने से बचाया जा सके।

kanpur two patients of coronavirus lost her eyesight

ब्लैक फंगस की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई थी

कानपुर के जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में भर्ती कोविड संक्रमित मरीज 42 और 46 वर्षीय महिलाएं हैं। दोनों महिलाएं कोविड से ठीक होकर घर चली गई थी। अचानक उनकी आंख की रोशनी चली गई। एक महिला की एक आंख जबकि दूसरी महिला की दोनों आंखें खराब हो चुकी हैं। इन दोनों ही महिलाओं की ब्लैक फंगस की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। नेत्र रोग विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. शालिनी मोहन का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण से 2 मरीजों में एक की एक आंख और दूसरे मरीज के दोनों आंखों की रोशनी पूरी चली गई।

 COVID-19:यूपी में पिछले 24 घंटे में 310 नए केस, रिकवरी रेट पहुंचा 98.3 फीसदी COVID-19:यूपी में पिछले 24 घंटे में 310 नए केस, रिकवरी रेट पहुंचा 98.3 फीसदी

विशेषज्ञ करेंगे विस्तृत स्टडी

जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज से संबद्ध अस्पतालों में अब तक आए मरीजों में तीन की आंखों की रोशनी ब्लैक फंगस के चलते जा चुकी है। संक्रमण से थ्रोम्बोसिस यानी थक्कों ने मरीजों की आर्टरी को ब्लॉक कर दिया, जिसकी वजह से आंखों की रोशनी चली गई। विशेषज्ञ डॉक्टर भी ऐसे नए मामले आने से चिंता में हैं, इसीलिए अब इन दो मामलों पर वह जल्द ही विस्तृत स्टडी करने जा रहे हैं ताकि आगे अगर ऐसे मामले आते हैं तो मरीजों की आंखों की रोशनी को बचाया जा सके।

English summary
kanpur two patients of coronavirus lost her eyesight
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X