• search
कानपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Kanpur: दिव्यांग महिला की लापता बेटी को पुलिसवालों ने ढूंढ निकाला, तलाशने के नाम पर दरोगा ने मांगी थी घूस

|

Kanpur News, कानपुर। भीख मांगकर गुजारा करने वाली दिव्यांग महिला की 15 वर्षीय बेटी को एक महीने बाद कानपुर पुलिस ने खोज निकाला है। साथ ही, महिला द्वारा नामजद किए गए आरोपी ठाकुर को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। फिलहाल पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। बता दें कि किशोरी को बरामद करने की यह कार्रवाई कानपुर के डीआईजी/एसएसपी डॉक्टर प्रितिंदर सिंह के आदेश के बाद हुई है। दरअसल, दिव्यांग महिला सोमवार (01 फरवरी) को डीआईजी से मिली थी और पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए थे। महिला का कहना था कि उसने पुलिस की गाड़ी में 12 से 15 हजार रुपए का डीजल भरवाया है, ताकि पुलिस उसकी नाबालिग बेटी को तलाश कर सकें, जो पिछले महीने लापता हो गई थी। पीड़ित महिला की शिकायत के बाद डीआईजी ने चौकी इंचार्ज राजपाल सिंह और अरुण कुमार को सस्पेंड कर दिया था।

    Kanpur: दिव्यांग महिला की लापता बेटी को पुलिसवालों ने ढूंढ निकाला

    Kanpur Police found missing daughter of Divyang woman

    क्या है पूरा मामला

    दिव्यांग महिला का नाम गुड़िया है और वो थाना चकेरी के सनिगवां गांव की रहने वाली है। गुड़िया ने बीते सोमवार को डीआईजी को बताया कि उसकी 15 साल की नाबालिग बेटी पिछले महीने की 07 जनवरी से लापता है। इस बाबत थाने में गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी। उसने अपने ही दूर के एक रिश्तेदार ठाकुर पर बेटी को गायब करने का आरोप लगाया था। लेकिन पुलिस उसकी एक भी बात को सुन नहीं रही थी और चौकी जाने पर पुलिसकर्मी उसे डांट कर भगा देते थे।

    गाड़ी में डीजल भरवाने के नाम दरोगा ने मांगी थी घूस

    आरोप है कि चौकी सनिगवां के चौकी इंचार्ज राजपाल सिंह ने बेटी को खोजने के नाम पर गुड़िया से गाड़ी में डीजल डलवाने की बात कही। गुड़िया ने डीआईजी को बताया था कि उसने 12 से 15 हजार रुपए का डीजल पुलिस की गाड़ी में डलवाया है। इसके बाद भी बेटी का पता नहीं चला। अगर पुलिस कायदे से जांच पड़ताल और पूछताछ करती तो बेटी बरामद हो जाती। डीआईजी प्रतिन्दर सिंह ने मानवता दिखाई और उन्होंने पुलिस को तुरंत महिला की बेटी को ढूंढने का आदेश दिया और खुद अपनी गाड़ी से गुड़िया को 6 किलोमीटर दूर चकेरी थाने भिजवाया था।

    क्या कहा सीओ कलक्टरगंज ने

    कलक्टरगंज सीओ ने बताया कि चकेरी थाना क्षेत्र में 363, 366 और 120 बी आईपीसी की धारा में मुकदमा दर्ज हुआ था। बताया कि डीआईजी के आदेश के बाद किशोरी की बरामदगी के लिए चार टीमें गठित की गई थी। सीओ ने बताया कि अपहरण किशोरी को सकुशल बरामद कर लिया गया है। साथ ही, नामजद आरोपी ठाकुर को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मामले में पूरी जांचकर वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।

    किशोरी ने चचेरे भाई से मंदिर में की शादी

    वहीं, चकेरी इंस्पेक्टर दधिबल तिवारी ने बताया कि मेडिकल जांच में किशोरी की उम्र 16-17 वर्ष होने की पुष्टि हुई है। पूछताछ में किशोरी ने पुलिस को बताया कि वो स्वच्छा से चचेरे भाई ठाकुर के साथ गई थी। दोनों ने बताया कि उन्होंने एक मंदिर में शादी कर ली है और पति-पत्नी की तरह रह रहे है। फिलहाल पुलिस इन सभी तथ्यों को खंगाल रही है। किशोरी कभी मां तो कभी आरोपी के साथ रहने की बात कह रही है। अगर वो मां के पास नहीं जाती है तो नारी निकेतन में भेजा जाएगा। अभी ये तय नहीं किया गया है।

    ये भी पढ़ें:- Kanpur: बेटी को तलाशने के नाम पर दरोगा ने मांगी घूस, दिव्यांग महिला ने भीख मांगकर दिए 15 हजार रुपए

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Kanpur Police found missing daughter of Divyang woman
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X