• search
जोधपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पाक में ISI की खूबसूरत एजेंट को ऐसे दी जाती है इंडियन आर्मी जवानों को Honey Trap में फंसाने की ट्रेनिंग

|
Google Oneindia News

जोधपुर, 23 मई। राजस्थान के जोधपुर के सैन्य क्षेत्र से भारतीय सेना के जवान प्रदीप कुमार पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी आईएसआई की महिला एजेंट की हनी ट्रेप में फंसकर गुप्त सूचनाएं भेजने के आरोप में दो दिन पहले पकड़ा गया है। उत्तराखंड के रुड़की का रहने वाला प्रदीप कुमार तीन साल पूर्व ही भारतीय सेना में भर्ती हुआ था। अब सुरक्षा एजेंसियां उससे पूछताछ कर रही हैं।

खतरनाक साजिश रची जा रही है

खतरनाक साजिश रची जा रही है

भारतीय जवानों का ISI की खूबसूरत एजेंटों के हनी ट्रैप में फंसने का सिलसिला लंबे समय से चला रहा है। इसकी एक वजह यह भी है कि पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी भारतीय जवानों से अपने देश से गद्दारी करवाने की बाकायदा खतरनाक साजिश रची जा रही है।

हैदराबाद से हनी ट्रैप मॉड्यूल लांच किया

हैदराबाद से हनी ट्रैप मॉड्यूल लांच किया

दरअसल, पाकिस्तान सेना की इंटेलिजेंस यूनिट 412 सिंध के हैदराबाद से हनी ट्रैप मॉड्यूल लांच किया है। इस मॉड्यूल के निशाने पर राजस्थान व गुजरात बॉर्डर के सैन्य ठिकानों पर तैनात भारतीय सेना के जवान हैं। हनी ट्रैप के हाल ही सामने आए मामलों की खुफियां जांच से पाकिस्तान सेना के हैदराबाद मॉड्यूल का खुलासा हुआ है।

 महिला एजेंट हिंदू देवी देवताओं की फोटो दिखाकर...

महिला एजेंट हिंदू देवी देवताओं की फोटो दिखाकर...

दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान की महिला एजेंट हिंदू देवी देवताओं की फोटो दिखाकर, शादी का झांसा देकर और न्यूड वीडियो कॉल के जरिए भारतीय सेना के जवानों को हनी ट्रैप में फंसा रही हैं। फिर जवानों को सेना की गुप्त सूचनाएं देने के लिए ब्लैकमेल करती हैं।

कॉलेज में पढ़ने वाली युवतियों को हायर किया

कॉलेज में पढ़ने वाली युवतियों को हायर किया

भारतीय सेना के नए जवानों व अफसरों को हनीट्रैप में फंसाने के लिए पाकिस्तानी सेना की मिलिट्री इंटेलिजेंस ने सिंध के हैदराबाद में टंडो झानियां के पास आर्मी कैंट से हैदराबाद मॉड्यूल संचालित किया जा रहा है। हैदराबाद मॉड्यूल में स्थानीय वैश्याओं गरीब लड़कियों, कॉलेज में पढ़ने वाली युवतियों को हायर किया गया है।

प्रदीप को हनी ट्रैप में फंसाने वाली एजेंट का नाम रिया था

प्रदीप को हनी ट्रैप में फंसाने वाली एजेंट का नाम रिया था

लड़कियों को हायर करने के बाद पाकिस्तान इंटेलिजेंस आपरेटिव ट्रेनिंग दी जाती है। ट्रेनिंग के बाद इन लड़कियों को होटलों में रूम बुक करवाकर मेकअप किट दिया जाता है। साथ ही इन्हें पूजा, रिया, अवनी, मुस्कान व हरलीन जैसे भारतीय नाम देकर हिंदू पहचान दी जाती है। प्रदीप को हनी ट्रैप में फंसाने वाली एजेंट का नाम रिया था।

महिला एजेंट बाकायदा साड़ी पहनती

महिला एजेंट बाकायदा साड़ी पहनती

पाकिस्तान सेना की ये महिला एजेंट बाकायदा साड़ी, सलवार कुर्ती या ​​नर्सिंग सर्विस की यूनिफॉर्म पहनती है। भारतीय जवानों से हिंदी, मारवाड़ी व पंजाबी में आसानी से बात कर लेती हैं। ट्रेनिंग के दौरान इन्हें बॉर्डर इलाके की भारतीय भाषाएं सिखाई जाती हैं। भारतीय मोबाइल नंबर +91 का वाट्सएप इस्तेमाल करने के लिए आम नागरिकों से दोस्ती करती हैं। ओटीपी प्राप्त कर लोकन नंबर का वाट्सएप चलाने लगती हैं।

कैप्टन रैंक के अफसर के अधीन काम करती

कैप्टन रैंक के अफसर के अधीन काम करती

पाकिस्तान की ये महिला एजेंट पाकिस्तानी सेना के कैप्टन रैंक के अफसर के अधीन काम करती हैं। व​ह इन्हें सोशल मीडिया में ओपन सोर्स इंटेलिजेंस के माध्यम से सोशल मीडिया पर भारतीय सेना, पुलिस, रेलवे व सीमा सुरक्षा बल से जुड़े लोगों की पहचान कर उनकी आईडी देते हैं। ये होटल के कमरे में छोटा सा मंदिर बनाकर हिंदू देवी देवताओं की पूजा करती हैं ताकि विश्वास जीता जा सके।

हनी ट्रैप में फंसने वाले से शुरुआत में सामान्य चैट

हनी ट्रैप में फंसने वाले से शुरुआत में सामान्य चैट

हनी ट्रैप में फंसने वाले से ये शुरुआत में सामान्य चैट करती हैं।​ फिर नंबर एक्सचेंज करके पहले नॉर्मल वीडियो कॉल और फिर न्यूड वीडियो कॉल करती हैं। न्यूड कॉल को रिकॉर्ड कर लेती हैं। फिर उसके आधार पर जवान को ब्लैकमेल किया जाता है। न्यूड वीडिया कॉल से घबराया जवान पाक एजेंट की हनी ट्रैप में पूरी तरह से फंस जाता है।

गुप्त देस्तावेज मंगवाने शुरू कर देती

गुप्त देस्तावेज मंगवाने शुरू कर देती

हनी ट्रैप में फंसने के बाद एजेंट उससे भारतीय सेना से जुड़े गुप्त देस्तावेज मंगवाने शुरू कर देती है। सीक्रेट डॉक्यूमेंट के बदले पेमेंट तक किया जाता है। इसके लिए भारत में मौजूद स्लीपर सेल को बिटकॉइन से पैसा ट्रांसफर किया जाता है। स्लीपर सेल वाला कैश डिपॉजिट मशीन में कैश डालकर या फेक आईडी से बने पेटीएम से पैसा जवान के खाते में डाला जाता है।

 कुछ चर्चित हनी ट्रैप केस

कुछ चर्चित हनी ट्रैप केस

1. प्रदीप कुमार

18 मई को भारतीय सेना के जवान प्रदीप कुमार को जोधपुर से पकड़ा गया। तीन साल पहले गनर के पद पर भर्ती हुआ प्रदीप इन दिनों जोधपुर में सेना की अतिसंवेदनशील रेजिमेंट में पोस्टेड था। प्रदीप को फंसाने वाली एजेंट रिया 10 को हनी ट्रैप में फंसा चुकी है।

2. देवेंद्र शर्मा

12 मई को खबर आई कि दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने भारतीय वायुसेना के जवान देवेंद्र शर्मा को जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस को संदेह था कि देवेंद्र शर्मा को पाकिस्तान के हनी ट्रैप फंसाकर भारतीय वायु सेना से जुड़ी संवेदनशील जानकारी हासिल करने की कोशिश हो रही थी।

3. सोमबीर

जनवरी 2019 में राजस्थान बॉर्डर पर जैसलमेर से भारतीय सेना के जवान सोमबीर को पकड़ा गया था। उसकी की ​गतिविधियों पर कड़ी निगरानी रखने पर पता चला कि वर्ष 2016 में सेना में भर्ती हुआ जवान सोमबीर लगातार पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की महिला एजेन्ट के सम्पर्क में है। सोमबीर महिला एजेंट के हनीट्रेप में फंसकर फेसबुक-वाट्सअप के जरिये सेना की गोपनीय जानकारी सीमा पार भिजवा रहा था।

क्या है हनीट्रैप?

क्या है हनीट्रैप?

हनी को हिंदी में शहद और ट्रैप को जाल कहते हैं। इसके नाम से ही जाहिर है कि शहद डालकर किसी को अपने जाल में फंसाना। हनीट्रैप में सबसे बड़ा हथियार सोशल मीडिया को बनाया जाता है। फेसबुक-वाट्सअप आदि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पाकिस्तान की महिला एजेंट अपने हुस्न का जाल बिछाती हैं और गुप्त सूचनाएं हासिल कर लेती हैं।

Gungun Upadhyay मॉडल के जरिए राजस्व मंत्री को Honey trap में फंसाने की साजिश क्यों रची गई?Gungun Upadhyay मॉडल के जरिए राजस्व मंत्री को Honey trap में फंसाने की साजिश क्यों रची गई?

Comments
English summary
Pakistan ISI agent training for honey trap of Indian Army jawans
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X