• search
जोधपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Asha Kandara RAS : जोधपुर की सड़कों पर झाड़ू लगाने वाली दो बच्चों की मां आशा कंडारा बनीं SDM

|
Google Oneindia News

जोधपुर, 15 जुलाई। राजस्थान प्रशासनिक सेवा परीक्षा (RAS exam 2018) में जोधपुर की आशा कंडारा ने कमाल कर दिया है। आशा कभी सड़कों पर झाड़ू लगाया करती थीं और अब वे आरएएस अफसर बन गई हैं।

आशा कंडारा आरएएस जोधपुर

आशा कंडारा आरएएस जोधपुर

वन इंडिया हिंदी से बातचीत में आशा कंडारा के भाई धर्मेंद्र ने बहन के संघर्ष की पूरी कहानी बयां की। धर्मेंद्र ने बताया कि हम जोधपुर के मोहल्ला बड़वासिया के रहने वाले हैं। बहन के संघर्ष के बाद कामयाबी की मिसाल बनने पर गर्व हो रहा है।

 पिता लेखा सेवा से रिटायर

पिता लेखा सेवा से रिटायर

बता दें कि सड़कों पर झाड़ू लगाने वालीं से लेकर आरएएस अधिकारी बनने तक का सफर तय करने वालीं आशा कंडारा जोधपुर के राजेंद्र कंडारा की बेटी है। राजेंद्र कंडारा लेखा सेवा से रिटायर हो चुके हैं।

एक बेटा व बेटी की परवरिश की

एक बेटा व बेटी की परवरिश की

आशा कंडारा की शादी 1997 में जोधपुर निवासी शख्स से हुई थी। इनके एक बेटा ऋषभ व बेटी पल्लवी है। शादी के पांच साल पति से अलगाव हो गया था। इसके बाद भी आशा ने हिम्मत नहीं हारी और अपने दोनों बच्चों की परवरिश के साथ-साथ पढ़ाई भी जारी रखी।

राजस्थान का पहला मामला : किसान की पांच बेटियां RAS अफसर, तीन बहनों ने एक साथ पास की आरएएस परीक्षा 2018राजस्थान का पहला मामला : किसान की पांच बेटियां RAS अफसर, तीन बहनों ने एक साथ पास की आरएएस परीक्षा 2018

आरएएस परीक्षा के 12 दिन बाद बनीं सफाईकर्मी

आरएएस परीक्षा के 12 दिन बाद बनीं सफाईकर्मी

साल 2016 में पल्लवी ने स्नातक की डिग्री हासिल की और

फिर सफाई कर्मचारी भर्ती परीक्षा 2018 में चयन हो गया। इसी दौरान आशा आरएएस की तैयारी कर रही थी। आरएएस की परीक्षा के 12 दिन बाद ही आशा को सफाई कर्मचारी पद पर नियुक्ति मिल गई थी।

Deraj Ram Duger : लालटेन की रोशनी में पढ़कर RAS बने देराज राम दुगेर, 2019 में हुआ विद्युत कनेक्शन<br/>Deraj Ram Duger : लालटेन की रोशनी में पढ़कर RAS बने देराज राम दुगेर, 2019 में हुआ विद्युत कनेक्शन

दो साल तक लगाई झाड़ू

दो साल तक लगाई झाड़ू

जोधपुर के उत्तर न​गर में बतौर सफाईकर्मी आशा पिछले दो साल से सड़कों पर झाड़ू लगाया करती थी। अब मंगलवार रात को राजस्थान लोक सेवा आयोग अजमेर ने आरएएस परीक्षा 2018 का रिजल्ट जारी किया है, जिसमें आशा को 700 से अधिक रैंक मिली है।

Ravi Kumar Goyal : परचून की दुकान वाला वो लड़का जो बना RAS Topper, मां ने सिलाई करके पढ़ायाRavi Kumar Goyal : परचून की दुकान वाला वो लड़का जो बना RAS Topper, मां ने सिलाई करके पढ़ाया

पावटा की मुख्य सड़क पर करती थीं सफाई

पावटा की मुख्य सड़क पर करती थीं सफाई

आशा के भाई धमेंद्र के अनुसार उनकी बहन को उत्तर नगर निगम जोधपुर में सफाईकर्मी के रूप में नियुक्ति मिलने के बाद उन्हें जोधपुर में पावटा की मुख्य सड़क पर सफाई के लिए बनाई सफाई गैंग में लगाया था।

Dinesh MN : वो IPS जो खुद 7 साल रहा सलाखों के पीछे, अब 6 माह में ही घूसखोर अफसरों से भर दी जेलDinesh MN : वो IPS जो खुद 7 साल रहा सलाखों के पीछे, अब 6 माह में ही घूसखोर अफसरों से भर दी जेल

English summary
Asha Kandara a sweeper of North nagar nigam Jodhpur became RAS officer
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X