• search
जयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

हिंदू-मुस्लिम के रिश्तों में घुली मिठास, धर्म की बेटी सलमा बानो के पुत्र जन्म पर उपहार लेकर पहुंचा जाट परिवार

|
Google Oneindia News

जयपुर, 16 अप्रैल। राजस्थान से रिश्तों में मिठास घोलने वाली खबर सामने आई है। यह रिश्ता खून का नहीं, मगर उससे कम नहीं है। शायद यही वजह है मुस्लिम युवती हिंदू दंपती की सगी बेटी सी है।

दोनों मजहब के लोकगीत गूंजे

दोनों मजहब के लोकगीत गूंजे

इसकी एक बानगी उस वक्त भी देखने को मिली जब मुंहबोली बेटी के पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई तो यह दंपती अपनी सगी बेटी की तरह उपहार लेकर इसके घर पहुंचे। इस दौरान दोनों हिंदू और मुस्लिम दोनों मजहब के लोकगीत एक साथ गूंजे। रीति रिवाज तो माने एक-दूसरे में घुल मिल से गए। माता-पिता और बेटी के बाद नाना-नानी और दोहिते के रिश्ते के दोनों धर्मों के लोग साक्षी बने।

किसान परिवार में 35 साल बाद जन्मी बेटी, अब 35 KM दूर दादा के घर दुर्गा नवमी पर हेलीकॉप्टर से आएगीकिसान परिवार में 35 साल बाद जन्मी बेटी, अब 35 KM दूर दादा के घर दुर्गा नवमी पर हेलीकॉप्टर से आएगी

 सीकर के अस्पताल में हुई थी मुलाकात

सीकर के अस्पताल में हुई थी मुलाकात

सीकर जिले के गुहाला निवासी समाजसेवी मोहम्मद इसाक के अनुसार करीब छह साल पहले झुंझुनूं जिले के गुढ़ागौड़जी निवासी सलमा बानो और सीकर जिले के लोसल इलाके के गांव गणेशपुरा निवासी कमला देवी और उनके पति भागीरथ बाजडोलिया सीकर के अस्पताल में मिले थे।

Gunesha Ram Barmer : 11 बार फेल होने के बाद बना शिक्षक भर्ती टॉपर, 9 भाई-बहनों में इकलौता पढ़ा-लिखाGunesha Ram Barmer : 11 बार फेल होने के बाद बना शिक्षक भर्ती टॉपर, 9 भाई-बहनों में इकलौता पढ़ा-लिखा

 दोनों परिवार निभा रहे रिश्ता

दोनों परिवार निभा रहे रिश्ता

पहले मुलाकात और फिर बातों से एक दूसरे का व्यवहार इन्हें भा गया। दरअसल कमला व भागीरथ के एक बेटा है। बेटी नहीं है। ऐसे में उन्होंने सलमा को बेटी बना लिया। सलमा व उसके परिवार ने भी धर्म की बेटी बनना स्वीकार किया। इसके बाद तो दोनों परिवार मानो एक हो गए। एक दूसरे के घर आने जाने के साथ समारोह में भी आना- जाना शुरू हुआ।

 चिड़ावा की बेटी व गुढ़ागौड़की बहू है ​सलमा

चिड़ावा की बेटी व गुढ़ागौड़की बहू है ​सलमा

बता दें कि सलमा बानो का पीहर चिड़ावा में है। गुढ़ागौड़जी के नदीम चौहान से शादी हुई है। हाल ही सलमा ने बेटे को जन्म दिया था। पुत्र जन्मोत्सव पर भागीरथ बाजडोलिया और उनकी पत्नी कमला व अन्य परिजन सलमा के घर उपहार लेकर पहुंचे। इसे स्थानीय भाषा में छुछक भरना भी बोलते हैं।

 जाट परिवार मुस्लिम बेटी के छुछक लेकर पहुंचा

जाट परिवार मुस्लिम बेटी के छुछक लेकर पहुंचा

जाट परिवार ने धर्म की बेटी सलमा बानो को छुछक में 21 हजार रुपए, सोने-चांदी के आभूषण व कपड़े उपहार में भेंट किए। इस दौरान नानूराम, रामदेव, शिव भगवान सहित हिंदू परिवार करीब 40 लोग मौजूद थे। सलमा बानो के ससुराल के लोगों ने इन अतिथियों के स्वागत में पलक पांवड़े बिछा दिए।

 भाई अल्पेश ने ओढ़ाई चुनरी

भाई अल्पेश ने ओढ़ाई चुनरी

सीकर जिले के बाजोडलिया परिवार ने बुधवार को सलमा बानो के यहां धूमधाम से छुछक भरा। सारी रस्में और रिवाज सगी बेटी की तरह निभा। भागीरथ व कमला के बेटे अल्पेश ने धर्म की बहन सलमा को चुनरी ओढ़ाई।इस कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों ने बताया कि उन्हें एक पल भी नहीं लगा मायके वाले और बेटी का अलग अलग मजहब है।

अनामिका मीणा व अंजलि मीणा : 2 सगी बहनें IAS बनने के बाद पहली बार घर पहुंचीं तो DJ पर नाचा पूरा गांवअनामिका मीणा व अंजलि मीणा : 2 सगी बहनें IAS बनने के बाद पहली बार घर पहुंचीं तो DJ पर नाचा पूरा गांव

English summary
Sikar Hindu Family Reached Jhunjhunu Muslim daughter's home On the birth of son
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X