• search
जयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

दुष्कर्म पीड़िता ने थाने में किया आत्मदाह, पुलिस की इस बात से थी दुखी, बचाने के चक्कर में सिपाही का हाथ जला

|

जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर के वैशाली नगर थाने में दुष्कर्म पीड़िता महिला ने आत्मदाह कर लिया। करीब 80 फीसदी झुलसी हुई हालत में परिजनों ने महिला को अस्पताल में भर्ती करवाया था, जहां 12 घंटे के उपचार के बाद उसने सोमवार सुबह दम तोड़ दिया।

सिपाही अमर सिंह ने किया बचाने का प्रयास

सिपाही अमर सिंह ने किया बचाने का प्रयास

बता दें कि रविवार शाम को बेनाड़ रोड निवासी महिला अपने बेटे के साथ वैशाली पुलिस थाने में आई थी। यहां महिला ने तेल छिड़ककर खुद को आग हवाले कर दिया। थाना परिसर में महिला को आग की लपटों में घिरा देख पुलिसकर्मियों में हड़कंप मच गया। वैशाली थाने में तैनात सिपाई अमर सिंह ने महिला को बचाने का भी प्रयास किया। इस दौरान सिपाही का भी हाथ जल गया था। पुलिस ने महिला को एंबुलेंस 108 की सहायता से जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल के बर्न वार्ड में पहुंचाया।

रिश्तेदार के खिलाफ दी थी रिपोर्ट

रिश्तेदार के खिलाफ दी थी रिपोर्ट

गंभीर रूप से झुलसी हुई हालत में अस्पताल में भर्ती महिला ने पुलिस अधिकारियों में पर्चा बयान में बताया कि उसने 5 जून 2019 को वैशाली नगर पुलिस थाने में अपने ससुराल पक्ष के रिश्तेदार रविंद्र सिंह के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाया था। लंबा समय बीत जाने के बाद भी पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया। पुलिस की सुस्त कार्यशैली और कार्रवाई नहीं करने को लेकर पीड़िता दुखी थी। वहीं, महिला के पति ने भी पुलिस पर मामले में ठोस कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है।

चार साल तक किया दुष्कर्म

चार साल तक किया दुष्कर्म

एडिशनल एसपी वेस्ट बजरंग सिंह ने बताया कि महिला ने जून में रिपोर्ट दी कि रिश्तेदार ​रविन्द्र उसका चार साल से देहशोषण कर रहा था। शादी का झांसा देकर अलग अलग जगहों पर ले जाकर उसका दुष्कर्म किया। अब वह किसी और लड़की से शादी करने जा रहा है। इसलिए महिला ने उसके खिलाफ मामला दर्ज करवाया था।

पेट्रोल साथ लेकर आई थी महिला

पेट्रोल साथ लेकर आई थी महिला

एएसपी सिंह के अनुसार महिला अपने साथ बोतल में पेट्रोल लेकर आई थी। आते ही उसने वैशाली नगर थाना के एसएचओ के बारे में पूछा, क्योंकि मामले की जांच एसएचओ ही कर रहे हैं। वे वहां नहीं मिले तो महिला ने अपने साथ आए बेटे को पेन गिरने के बहाने बाहर भेज दिया और खुद ने थाने में आग लगा ली। उसे सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती करवाया और पर्चा बयान लिए। सोमवार सुबह करीब चार बजे उसकी मौत हो गई।

parul shekhawat : जयपुर एयरपोर्ट पर पहली बार उतरा बोइंग 777, झुंझुनूं की बेटी ने संभाली कमान

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
jaipur rape victim dies After Burned in Vaishali Police Station
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X