India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

यूक्रेन युद्ध का पांचवां महीना शुरू, जेलेंस्की ने मांगे और घातक हथियार, कब खत्म होगी लड़ाई?

|
Google Oneindia News

कीव, 24 जून : रूस ने यूक्रेन पर 24 फरवरी को हमला किया था। जंग के 4 महीने पूरे हो चुके हैं। कीव के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। ऐसे में यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने एक बार फिर से अंतरारष्ट्रीय समुदाय से मदद की गुहार लगाई है। वहीं खबर है कि अमेरिका कीव को जल्द ही सैन्य सहायता पहुंचाने जा रहा है। खबर है कि रूस ने यूक्रेन के कई शहरों को तबाह और बर्बाद कर दिया है। चार महीने के बाद भी युद्ध थमने के बजाय और भी भीषण रूप लेता जा रहा है। वहां, अमेरिका ने यूक्रेन को रूस से टक्कर लेने के लिए 450 मिलियन डॉलर की सैन्य सहायता भेजने के निर्णय लिया है।

photo
जंग में झुलस रहा यूक्रेन

जंग में झुलस रहा यूक्रेन

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रूस ने अब लड़ाई को यूक्रेन के पूर्वी डोनबास इलाके में केंद्रित कर दिया है। जेलेंस्की के सलाहकार ओलेक्सी एरेस्टोविच का कहना है कि डोनबास में लड़ाई अब भयानक चरम में प्रवेश कर रही है। राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की जंग के बीच कहा है कि, पुतिन की सेना बड़े पैमाने पर हवाई और तोप से हमले कर रही है। रूस का उद्देश्य पूरे डोनबास क्षेत्र को नष्ट करना है। जेलेंस्की ने अपने मित्र देशों से कहा कि हमें रूस से मुकाबला करने के लिए और अधिक हथियारों की आवश्यकता है, आप जल्द से जल्द रूस से टक्कर लेने वाले घातक हथियारों की आपूर्ति करें।

जंग से हालात और भी खराब

जंग से हालात और भी खराब

बता दें कि, 24 फरवरी को रूस ने यूक्रेन में सैन्य कार्रवाई शुरू की थी, जिसे उसने 'विशेष सैन्य अभियान' नाम दिया था। रूस का यह सैन्य अभियान कुछ घंटे या कुछ दिन में समाप्त होने की उम्मीद जताई जा रही थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ और यूक्रेन पर रूसी हमले अब भी जारी हैं।

जंग के बीच EU में शामिल होने की प्रक्रिया

जंग के बीच EU में शामिल होने की प्रक्रिया

यूक्रेन को यूरोपीय संघ की पूर्ण सदस्यता के लिए एक लंबे व अप्रत्याशित सफर के लिए यह पहला कदम बढ़ा लिया गया है। ब्रिटिश रक्षा मंत्रालय ने बताया कि यूक्रेनी सैनिकों को लिसिचंस्क शहर के नजदीक कुछ क्षेत्रों से पीछे हटा लिया गया है ताकि घेराबंदी की आशंका टाली जा सके। यहां पर रूसी सैनिक भारी गोलाबारी कर रहे हैं। बता दें कि, यूरोपीय संघ की पूर्ण सदस्यता के लिए एक लंबे व अप्रत्याशित सफर के लिए यह पहला कदम बढ़ा लिया गया है। राजनयिक मोर्चे पर, यूरोपीय नेता गुरुवार को औपचारिक रूप से ब्रसेल्स में एक शिखर सम्मेलन में यूरोपीय संघ की सदस्यता के लिए यूक्रेन को आगे लाने की बात कही थी। जानकारी के मुताबिक, रूस से युद्ध के बीच यूरोपीय यूनियन (European Union) के नेताओं ने गुरुवार को यूक्रेन को यूरोपीय संघ (EU) की सदस्यता के लिए औपचारिक उम्मीदवार बनाने के लिए सहमति दे दी है।

यूक्रेन जल्द EU में होगा शामिल!

यूक्रेन जल्द EU में होगा शामिल!

ब्रसेल्स (Brussels) में आयोजित एक सम्मेलन के दौरान यूरोपीय संघ के 27 देशों के नेताओं के साथ चर्चा के बाद यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिचेल (Charles Michel) ने इसका ऐलान किया। इससे यूक्रेन के यूरोपीय संघ में शामिल होने की प्रक्रिया की शुरुआत हो गई है। हालांकि इस प्रक्रिया को पूरा होने में कई साल लग सकते हैं।

अमेरिका यूक्रेन की करेगा और मदद

अमेरिका यूक्रेन की करेगा और मदद

जंग की बात करें तो, जानकारी के मुताबिक रूसी सेना ने गुरुवार को पूर्वी यूक्रेन में दो गांवों पर कब्जा कर लिया है। जंग और भी घातक हो चुका है। वहीं, अमेरिका को और सैन्य सहायता देने जा रहा है। जानकारी के मुताबिक, राष्ट्रपति जो बाइडेन ने यूक्रेन को रूस से टक्कर लेने के लिए 450 मिलियन डॉलर की सैन्य सहायता भेजने के निर्णय लिया है। रूस के हथियारों का मुकाबला करने के लिए अमेरिका ने यूक्रेन को मध्यम दूरी के घातक रॉकेट सिस्टम जल्द से जल्द भेज रहा है। यूक्रेन को अमेरिका से मिलने वाली सैन्य सहायता में चार उच्च गतिशील आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम शामिल है जो रूस से टक्कर लेने में यूक्रेन की सहायता करेगा। अमेरिका ने इससे पहले भी चार हिमार्स घातक हथियार भेजे थे। पेंटागन के मुताबिक, यूक्रेन को दी जाने वाली सैन्य सहायता में 18 सामरिक वाहन शामिल हैं। 18 तटीय गश्ती नौका, हजारों मशीन गन, ग्रेनेड लॉन्चर और गोला-बारूद और कई तरह के अन्य उपकरण और स्पेयर पार्ट्स शामिल है।

ये भी पढ़ें :'ध्वस्त हो चुकी है अर्थव्यवस्था, नहीं दे रहा कोई तेल', श्रीलंका के PM ने मानी हार, अब आगे क्या होगा?ये भी पढ़ें :'ध्वस्त हो चुकी है अर्थव्यवस्था, नहीं दे रहा कोई तेल', श्रीलंका के PM ने मानी हार, अब आगे क्या होगा?

Comments
English summary
The United States will send another $450 million in military aid to Ukraine, including some additional medium-range rocket systems, to help push back Russian progress in the war, officials announced Thursday.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X