• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पाकिस्तानी विदेश मंत्री क़ुरैशी ने कहा था कि उनका ख़ून खौल रहा है पर फिर नहीं माने अफ़ग़ानिस्तान के NSA

By BBC News हिन्दी
Google Oneindia News

शाह महमूद क़ुरैशी
Reuters
शाह महमूद क़ुरैशी

पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान के ऊंचे पदों पर बैठे लोगों के बीच एक बार फिर विवाद देखने को मिला है.

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) हम्दुल्लाह मोहिब ने एक बार फिर ऐसी टिप्पणी की है जिसकी पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने निंदा की है.

पाकिस्तान ने उनके बयान को जान-बूझकर शांति प्रक्रिया को नाकाम करने की कोशिश बताया है.

अफ़ग़ानिस्तान में जारी शांति प्रक्रिया के दौरान ऐसा दूसरी बार हुआ है जब पाकिस्तान ने अफ़ग़ानिस्तान NSA के बयान को लेकर नाराज़गी जताई है.

हालिया विवाद अफ़ग़ानिस्तान के NSA हम्दुल्लाह मोहिब के नए ट्वीट के बाद शुरू हुआ है जिसमें उन्होंने पाकिस्तान पर अफ़ग़ानिस्तान के अंदरूनी मामलों में दख़ल देने का आरोप लगाया है.

उन्होंने हाल ही में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी के अफ़ग़ानी समाचार चैनल टोलो न्यूज़ को दिए ख़ास इंटरव्यू के वीडियो को रिट्वीट करते हुए यह टिप्पणी की है.

क़ुरैशी ने इंटरव्यू के दौरान कहा था कि अफ़ग़ानिस्तान में हिंसा के लिए केवल अफ़ग़ान-तालिबान ज़िम्मेदार नहीं है बल्कि इसके लिए वो 'बिगाड़ने वाले' भी ज़िम्मेदार हैं जो युद्ध ग्रस्त अफ़ग़ानिस्तान में शांति नहीं चाहते हैं.

उनके इस वीडियो को पाकिस्तान के ख़ैबर पख़्तूनख़्वां के नेता अफ़रासियाब खट्टक ने ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने लिखा है, "तालिबान को एक और विदेश मंत्री की आवश्यकता क्यों होगी जब उनके पास पहले से ही एक है? अफ़ग़ानिस्तान में पाकिस्तान की 'तटस्थता' कभी विश्वसनीय नहीं रही, लेकिन उसने आख़िरकार उस ढोंग को भी दूर कर दिया. अफ़ग़ान संघर्ष को पूरी तरह से आंतरिक करने के अपने रास्ते पर है, क्या पाकिस्तान को यक़ीन है कि वह जो बो रहा है उसे काट सकता है?"

https://twitter.com/a_siab/status/1405759701652885504

अफ़ग़ान NSA ने क्या ट्वीट किया

खट्टक के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोहिब ने लिखा, "तालिबान ने पूरे देश में अफ़ग़ानिस्तान लोगों के ख़िलाफ़ हिंसक हमले जारी रखे हैं, हम जानते हैं कि वो कैसे और क्यों यह सब जारी रखने में सक्षम हैं. क़ुरैशी या तो बेख़बर हैं, अज्ञानी हैं या फिर सहयोगी हैं. शायद वो यह भी ख़ारिज कर दें कि ओसामा पाकिस्तानी सेना के मुख्यालय के पास नहीं पाया गया था."

https://twitter.com/hmohib/status/1405770968631443457

इसके बाद पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने बयान जारी करके मोहिब के बयान की निंदा की है.

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि "हम अफ़ग़ान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के अफ़ग़ानिस्तान के अंदरूनी मामलों में पाकिस्तान के दख़ल देने के निराधार आरोपों की कड़े शब्दों में निंदा करते हैं."

बयान में आगे कहा गया है कि अफ़ग़ान शांति प्रक्रिया में पाकिस्तान की भूमिका को अंतरराष्ट्रीय समुदाय स्वीकार करता है.

यह भी पढ़ें: भारत-पाकिस्तान बासमती चावल के जीआई टैग को लेकर क्यों आमने-सामने हैं?

"अफ़ग़ान NSA की लगातार अशिष्ट और अनुचित टिप्पणियां चिंता का विषय है क्योंकि ये उनके कार्यालय के ज़रिए लगातार शांति प्रक्रिया को नाकाम करने की कोशिशें हैं."

"अफ़ग़ान NSA को हम यह भी याद दिलाना चाहेंगे कि अफ़ग़ानिस्तान-पाकिस्तान एक्शन प्लान फ़ॉर पीस एंड सॉलिडेरिटी (APAPPS) आपसी सहमति पर पहुंच गया है जो सार्वजनिक तौर पर दोनों पक्षों को दोषारोपण करने से रोकता है और द्विपक्षीय संबंधों के लिए आधिकारिक चैनल के इस्तेमाल की बात कहता है. आपसी विश्वास को समाप्त करने वाले बयानों से बचना चाहिए."

क़ुरैशी ने कहा- शांति प्रक्रिया नहीं चाहते कुछ लोग

शाह महमूद क़ुरैशी
Getty Images
शाह महमूद क़ुरैशी

एक ओर जहाँ NSA के बयान पर विदेश मंत्रालय ने बयान जारी किया. वहीं दूसरी ओर शुक्रवार को तुर्की में क़ुरैशी ने अफ़ग़ानिस्तान के सीईओ अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह से मुलाक़ात की.

https://twitter.com/SMQureshiPTI/status/1405838939466907649

पाकिस्तानी विदेश मंत्री क़ुरैशी ने इस दौरान कहा कि पाकिस्तान के अर्थपूर्ण योगदान से ही अफ़ग़ान पक्षों समेत अमेरिका और तालिबान के बीच सीधे बातचीत हो पाई.

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान में शिया मुसलमान होना कितना मुश्किल है और क्या-क्या सुनना पड़ता है?

उन्होंने कहा कि अफ़ग़ान शांति प्रक्रिया की प्रगति 'बिगाड़ने वालों' को जगह नहीं दे रही है जो कि क्षेत्र में शांति लौटते नहीं देखना चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि नकारात्मक बयान और दोषारोपण केवल माहौल को गंदा करेंगे और जो शांति प्रक्रिया को पटरी से उतारना चाहते हैं उन्हें मज़बूत करेंगे.

क़ुरैशी पहले भी भड़के

शाह महमूद क़ुरैशी
Reuters
शाह महमूद क़ुरैशी

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी अफ़ग़ानी NSA हम्दुल्लाह मोहिब के बयान पर पहले भी आग बबूला हो चुके हैं.

इसी महीने की शुरुआत में मोहिब ने अफ़ग़ानिस्तान के नंगरहार सूबे के दौरे पर पाकिस्तान को 'ब्रोथल हाउस' (चकलाघर) कहा था.

हमदुल्लाह मोहिब पाकिस्तान पर अक्सर ही अफ़ग़ान तालिबान को समर्थन और मदद देने का आरोप लगाते रहे हैं.

उनके इस बयान के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी भड़क उठे और उन्होंने मुल्तान में एक रैली के दौरान अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पर कड़ी टिप्पणियां कीं.

यह भी पढ़ें: इसराइल और भारत जामनगर से पाकिस्तान का परमाणु संयंत्र नष्ट करना चाहते थे?

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हम्दुल्लाह मोहिब
Getty Images
अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हम्दुल्लाह मोहिब

उन्होंने कहा कि "अगर तुम ऐसी ज़ुबान का इस्तेमाल करने से बाज़ नहीं आए या पाकिस्तान पर जो इलज़ाम तुम लगा रहे हो, जो तुम कर रहे हो, तो पाकिस्तान के विदेश मंत्री की हैसियत से मैं कह रहा हूँ कि कोई पाकिस्तानी न तुम से हाथ मिलाएगा और न ही तुम से बात करेगा."

क़ुरैशी ने अफ़ग़ानिस्तान के एनएसए पर तमतमाते हुए कहा, "तुम को इस बात पर शर्म आनी चाहिए. कोई कहे या न कहे लेकिन जब से मैंने नंगरहार में तुम्हारी तक़रीर सुनी है, मेरा तो ख़ून खौल रहा है. डंके की चोट पर कह रहा हूँ, अपना रवैया सुधार लो."

"मैं ये बात अंतरराष्ट्रीय बिरादरी से भी कहना चाहूँगा कि अगर यही बर्ताव जारी रहता है तो ये आदमी जो ख़ुद को अफ़ग़ानिस्तान का राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार कहता है, तो ये अमन का माहौल बिगाड़ने वाला काम कर रहा है."

टोलो न्यूज़ को दिया इंटरव्यू भी चर्चा में

https://twitter.com/TOLOnews/status/1405589344694550531

उधर पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी का अफ़ग़ानी समाचार चैनल टोलो न्यूज़ को दिया इंटरव्यू भी चर्चा में है.

इस इंटरव्यू के दौरान क़ुरैशी ने अफ़ग़ान शांति प्रक्रिया, पाकिस्तान से अफ़ग़ान के रिश्ते और भारत से अफ़ग़ानिस्तान के रिश्तों पर भी अपनी बात रखी थी.

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान को बलूचिस्तान में एक नए एयर बेस की ज़रूरत क्यों पड़ रही है?

भारत-अफ़ग़ानिस्ता के रिश्तों पर क़ुरैशी ने कहा था, "''दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंध हैं. ये आपका अधिकार है कि भारत के साथ द्विपक्षीय संबंध रखें. दोनों देशों के बीच कारोबार भी है और इसमें हमें कोई दिक़्क़त नहीं है. लेकिन मुझे लगता है कि अफ़ग़ानिस्तान में भारत की मौजदूगी जितनी होनी चाहिए उससे ज़्यादा है क्योंकि दोनों देशों के बीच कोई सीमा भी नहीं लगती है.''

इंटरव्यू के दौरान उनसे पूछा गया कि क्या आपको भारत की मौजूदगी परेशान करती है? इस पर क़ुरैशी ने कहा कि अगर अफ़ग़ानिस्तान की ज़मीन का इस्तेमाल पाकिस्तान के ख़िलाफ़ होगा तो दिक़्क़त वाली बात है. टोलो न्यूज़ ने पूछा कि क्या भारत ने ऐसा किया है तो क़ुरैशी हंसने लगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
world shah mehmood qureshi afghanistan nsa hamdullah mohib continue war
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X