• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

क्यों हाथ पकड़ कर फ़ोटो खिंचवा रहे हैं पुरुष ?

By BBC News हिन्दी

नीदरलैंड्स में रविवार को दो समलैंगिक पुरुषों पर कथित हमले के बाद सोशल मीडिया पर ऐसी तस्वीरों की बाढ़ आ गई है जिसमें पुरुष एक दूसरे का हाथ पकड़े हुए हैं.

समलैंगिक पुरुषों पर कथित हमले की ख़बर सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर #handinhand और #allemannenhandinhand ट्रेंड करता रहा.

नेता और मशहूर हस्तियां ही नहीं, नीदरलैंड्स के उप प्रधानमंत्री भी इस अभियान में जुड़ गए.

उप प्रधानमंत्री लोडेवाइक फ्रांस आशर ने सोशल मीडिया वेबसाइट ट्विटर पर अपनी एक तस्वीर पोस्ट की जिसमें वो एक अन्य पुरुष का हाथ पकड़े नज़र आ रहे हैं.

समलैंगिक शादी की सुविधाओं पर सवाल

मुसलमानों और समलैंगिकों का प्रवेश निषेध

हाथ पकड़े नेताओं की फ़ोटो
Getty Images
हाथ पकड़े नेताओं की फ़ोटो

नीदरलैंड्स के अलावा कई जगहों पर नेता, जानी-मानी हस्तियां और फ़ुटबॉल के दिग्गज होमोफ़ोबिया या समलैंगिकता से डर के ख़िलाफ़ अपनी तस्वीरें पोस्ट कर रहे हैं.

35 साल के जास्पर वेर्नेस सेवरतन और 31 साल के रॉनी सेवरतन वेर्नेस का कहना है कि उन पर नीदरलैंड्स के दक्षिणी शहर आर्नहेम में रविवार सुबह कुछ लोगों ने हमला कर दिया.

इस घटना के बारे में नीदरलैंड्स के एक कार्यक्रम पॉ में बताया गया कि दोनों ने हाथ पकड़े जिसके बाद उन पर कथित हमला किया गया.

चीन: 'समलैंगिकता के इलाज' पर उठे सवाल

हालांकि संदिग्ध हमलावरों में से एक के वकील ने इस कार्यक्रम में कहा था कि पहले समलैंगिक जोड़े की तरफ़ से हमला किया गया लेकिन समलैंगिक पुरुषों ने इस आरोप से इनकार किया है.

नीदरलैंड्स में मीडिया के मुताबिक पिछले हफ़्ते एमस्टरडैम और आइंटहोवन में भी समलैंगिकता के आधार पर हमलों की शिकायतें सामने आ चुकी हैं.

नीदरलैंड्स 2011 में समलैंगिक शादियों को कानूनी दर्जा देने वाला पहला देश बन गया था.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Why people clicking photo by holding hands
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X