• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना को कंट्रोल कर चुके जर्मनी में अचानक क्यों मिले 50000 से ज्यादा केस, सामने आई बड़ी वजह

|
Google Oneindia News

बर्लिन, 12 नवंबर: जर्मनी में कोरोना वायरस जमकर कहर बरपा रहा है और गुरुवार को देश में संक्रमण के 50 हजार से ज्यादा नए मामले रिकॉर्ड किए गए हैं। 2020 में कोरोना वायरस महामारी की शुरुआत के बाद से जर्मनी में एक दिन के भीतर संक्रमण के मामलों की यह अभी तक की सबसे बड़ी संख्या है। मरीज बढ़ने के साथ ही अस्पतालों में भी हालात बिगड़ने लगे हैं और विशेषज्ञों ने इसे महामारी की चौथी लहर बताया है। इस बीच एक ऐसी रिपोर्ट सामने आई है, जिसमें बताया गया है कि जर्मनी के अंदर कोरोना वायरस के मामलों में अचानक इतना बड़ा उछाल आने की क्या वजह है?

'कोरोना वायरस के मामलों में तीन गुना इजाफा'

'कोरोना वायरस के मामलों में तीन गुना इजाफा'

'न्यूयॉर्क टाइम्स' की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 'जर्मनी में हाल के कुछ हफ्तों में कोरोना वायरस के मामलों में तीन गुना इजाफा हुआ है और इसकी सबसे बड़ी वजह टीकाकरण की धीमी रफ्तार है। संक्रमण के सबसे ज्यादा केस उन लोगों में हैं, जिन्हें कोरोना वायरस का टीका नहीं लगा है। इसके अलावा कोरोना वायरस की चपेट में आने वाले लोगों में से करीब आधे मरीज वेंटिलेटर पर हैं और इन्हें वैक्सीन की एक भी डोज नहीं लग पाई है।'

कोरोना को कंट्रोल करने में कामयाब रहा था जर्मनी

कोरोना को कंट्रोल करने में कामयाब रहा था जर्मनी

आपको बता दें कि आरकेआई पब्लिक हेल्थ इंस्टीट्यूट के मुताबिक, गुरुवार को जर्मनी में कोरोना वायरस के 50196 नए मरीज मिले और 235 लोगों की मौत हुई। इन नए आंकड़ों के बाद जर्मनी में कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 97198 हो गई है। जर्मनी में कोरोना वायरस के मामलों का अचानक बढ़ना, इसलिए भी चौंकाता है यह देश दुनिया के उन चंद देशों में शामिल है, जो मजबूत टेस्टिंग और ट्रीटमेंट पॉलिसी के दम पर संक्रमण को कंट्रोल करने में कामयाब रहे थे।

बुजुर्गों में बढ़ रहा है संक्रमण का खतरा

बुजुर्गों में बढ़ रहा है संक्रमण का खतरा

हालांकि, अब कोरोना वायरस टीकाकरण की धीमी रफ्तार सहित कई ऐसे बड़े कारण सामने आए हैं, जिनकी वजह से संक्रमण के दैनिक मामलों में इजाफा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस की वैक्सीन ना लेने वाले लोगों में हर उम्र के लोग शामिल हैं और युवाओं में इम्युनिटी मजबूत होने के चलते उनके केस गंभीर कैटेगरी में जाने की आशंका नहीं है। लेकिन, इन युवाओं से बुजुर्ग लोगों में संक्रमण फैलने का खतरा है और ऐसी स्थिति में टीका लगवा चुके लोग भी गंभीर कैटेगरी के मरीज बन सकते हैं।

महामारी की चौथी लहर की चपेट में हैं हम- एंजेला मार्केल

महामारी की चौथी लहर की चपेट में हैं हम- एंजेला मार्केल

जर्मनी में कोरोना वायरस से बिगड़े हालात पर निवर्तमान चांसलर एंजेला मार्केल ने गुरुवार को कहा, 'जिन लोगों ने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई है, उन्हें यह समझना चाहिए कि समाज में अन्य लोगों की सुरक्षा भी उनकी एक जिम्मेदारी है। आज जर्मनी कोरोना वायरस महामारी की चौथी लहर की चपेट में है और हम सभी को इस संकट से लड़ना होगा।'

ये भी पढ़ें-चीन में फिर कोरोना का कहर, बीजिंग में मॉल समेत कई आवासीय परिसर सील

Comments
English summary
Why Coronavirus Cases Suddenly Rise In Germany, Know The Reason
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X